December 8, 2022, 2:57 pm

Indian Student in Britain: ब्रिटेन में यूपी वालों का धमाल, 200 साल तक शासन करने वाले अंग्रेज बैकफुट पर

Written By: गली न्यूज

Published On: Saturday August 20, 2022

Indian Student in Britain: ब्रिटेन में यूपी वालों का धमाल, 200 साल तक शासन करने वाले अंग्रेज बैकफुट पर

Indian Student in Britain: 200 साल तक भारत पर राज करने वाले ब्रिटेन में इन दिनों भारतवंसियों का जलवा नजर आ रहा है। ब्रिटेन की मेन स्ट्रीम पॉलिटिक्स से लेकर यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स यूनियन में भी भारतीय मूल के छात्रों ने परचम लहरा रखा है। इन छात्रों ने अपनी नेतृत्व छमता के दम पर वहां के यूनिवर्सिटी में अपनी पहचान बनाई और अब वो वहां के स्टूडेंट यूनियन के नेता हैँ।

कौन हैं स्टूडेंट्स यूनियन के नेता ?

https://gulynews.com को मिली जानकारी के मुताबिक ब्रिटेन में (Indian Student in Britain) इन भारतीयों की गजब की पहचान बनाई है। यूनाइटेड किंगडम (United Kingdom) की डरहम यूनिवर्सिटी की स्टूडेंट यूनियन के प्रेसीडेंट (Student Union President)) आदित्य सिंह लाठर (Aditya Singh Lathar) चुने गए हैं। आदित्य उत्तर प्रदेश के मथुरा के रहने वाले हैं। खास बात यह है कि आदित्य डरहम यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट यूनियन में जीत हासिल करने वाले पहले भारतीय हैं। मृदुभाषी और विनम्र आदित्य ने छात्र संघ उपचुनाव में ये जीत हासिल की है।

यह भी देखें:-

कुछ यही हाल किंग्स कॉलेज लंदन (Kings collage London) का है। यहां के स्टूडेंट्स यूनियन के प्रेसीडेंट पद पर मोहम्मद यासिर खान (Md. Yasir Khan) चुने गए हैं। किंग्स कॉलेज के करीब 150 साल के इतिहास में यह पहली बार है जब किसी भारतीय मूल के छात्र ने यहां कमान संभाली है। मोहम्मद यासिर खान भी यूपी के रहने वाले हैं और राजधानी लखनऊ के निवासी हैं। यासिर लंदन में इंटरनेशनल रिलेशन की पढ़ाई कर रहे हैं। यासीर सोशल वर्क की वजह से कॉलेज के छात्रों में काफी पॉपुलर हैं।

उत्तर प्रदेश के बुलंद शहर के रहने वाले सुशांत सिंह भी लंदन यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ ओरिएंटल एंड अफ्रीकन (SOAS) के छात्र संघ चुनाव में जीत दर्ज कर प्रेसीडेंट बने हैं। सुशांत सिंह बुलंदशहर जिले के अनूपशहर के रहने वाले हैं। सुशांत लंबे समय तक दिल्ली में रहकर पढ़ाई की है और दिल्ली यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन और एलएलबी की डिग्री हासिल की है। सुशांत का कार्यकाल अप्रैल महीने में शुरू हुआ था।

इसी साल अप्रैल महीने में लंदन यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ ओरिएंटल एंड अफ्रीकन (SOAS) के छात्र संघ चुनाव में बुलंदशहर के सुशांत सिंह प्रेसीडेंट चुने गए। बुलंदशहर के अनूपशहर तहसील के सुशांत सिंह ने लंदन जाने से पहले दिल्ली स्थित नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी से बीए व एलएलबी की डिग्री हांसिल की थी।

पहले भी दिखा है भारतीयों का जलवा

प्रेसीडेंट पद पर चुने गए तीनों स्टूडेंट्स में गजब की नेतृत्व छमता है। और तीनों उत्तर प्रदेश के ही रहने वाले हैं। इससे पहले 2021 में ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में भी इतिहास रचा गया था। रश्मि सामंत (Rashmi Samant) ने यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट यूनियन का चुनाव जीतने वाली पहली भारतीय बनी थीं। हालांकि कुछ विवाद के बाद उन्हें अपना पद छोड़ना पड़ा था।

बता दें कि भारतीय मूल के ऋषि सुनक का भी इन दिनों ब्रिटेन की राजनीति में सिक्का चल रहा है। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री के रेस में ऋषि लगातार बने हुए हैं। अपनी छवि के कारण ब्रिटेन की राजनीति में ऋषि सुनक की जबरदस्त धाक है। इस धाक के कारण ऋषि की ब्रिटेन के पावरफुल शख्सियत में भी गिनती की जाती है। ब्रिटेन की यूनिवर्सिटी में इन भारतीयों का कब्जा बताता है कि 200 साल तक शासन करने वाले ब्रिटेन में भारतीय किसी तरह से निखर कर आगे आ रहे हैं और अब वहांं की राजनीति पर भी इनकी पकड़ मजबूत हो रही है।

यह भी पढ़ें:-

Kartikay Singh Vivad: बिहार के कानून मंत्री को लेकर क्यों है विवाद, कौन हैं कार्तिकेय सिंह जानिए यहां

Leave a Reply

Your email address will not be published.