February 6, 2023, 2:30 am

About Us

About Us

गली न्यूज क्या है ?

हम जहां रहते हैं कई बार उसके आस-पास की जानकारी ही हमें नहीं होती। एक कहावत है चिराग तले अंधेरा। कई बार यह कहावत चरितार्थ होते नजर आती है। गली न्यूज इसी कहावत को दरकिनार करने
एक कवायद है। खास तौर से इसकी जरुरत तब महसूस होती है जब आप दफ्तर और घर के बीच में बंधकर रह जाते हैं। जब हमारा सामाजिक दायरा कम हो जाता है। आज की दौड़ती-भागती जिंदगी में कई बार
हमें अपनों की ही खबर नहीं रहती। यानी वे लोग जो हमारे बेहद करीब हैं, जो हमारे गली-मोहल्ले में रहते हैं। हमें उनकी खबर नहीं होती और कई बार ऐसा भी होता है कि हमारे जान-पहचान वालों को हमारी
खबर नहीं होती। गली न्यूज उसी कमी को दूर करने की एक कोशिश है। इसके जरिए हम अपने आस-पास की घटित घटनाओं की सटीक जानकारी आपतक पहुंचाते हैं।
ये एक हिंदी न्यूज वेबसाइट और यूट्युब चैनल है। बेहद ही शालीन और बोल-चाल की भाषा में यहां खबरें लिखी और दिखाई जाती है। उस भाषा और शब्दकोश का इस्तेमाल किया जाता है जिसे हम रोजाना के
बोलचाल में करते हैं।


क्या है हमारी खासियत?

बेहद ही कम समय में पूरी जानकारी के साथ ङम उन घटनाओं को पहुंचाते हैं जो हमारे आस-पास घटित हो रहा है। फिर चाहे वो घटना सामाजिक हो, राजनीतिक हो, आर्थिक हो, खेल से जुड़ा हो या फिर फिल्म
किस्से और कहानियों से जुड़ी हो। हम अपने आस-पास की दबी आवाज को उन संस्थाओं तक पहुंचाने की कोशिश करते हैं जहां वो पहुंचाना चाहते हैं। हम खबर में एंगल नहीं आवाज देखते हैं। हम खबरों का
धर्म नहीं जरुरत देखते हैं। हम उन खबरों को खासतौर से फोकस करते हैं जिसे मेन स्ट्रीम मीडिया या कई बार स्थानीय अखबार और न्यूज पोर्टल उठाना तक जरूरी नहीं समझते। हम खबर में सिर्फ न्यूज नहीं, व्यूज भी लाते हैं
ये व्यूज पोर्टल के संपादक या रिपोर्टर का नहीं बल्कि आम लोगों का होता है। इसमें पर्सनल एक्सपेरियंस का समावेश रहता है जिससे हर खबर पर रीडर खुद को कनेक्ट कर पाता है।


यहां क्या है नया?

हम एक ओर नई, साइंटिफिक खबरें तो कवर करते ही हैं साथ ही साथ दूर-दराज के गांव-गलियों के इलाकों की खबरों पर भी नजर रहती है। हमारी कोशिश है कि हम ‘भारत’ की बात करें। उस भारत की
जहां शहरों से गांव की दूरी बस एक क्लिक में दूर हो जाए। जहां बस एक क्लिक के साथ ही हजारों किलोमीटर दूर बैठे शख्स को भी अपने गलियों में क्या घट रहा है का पता चल जाए।


गली न्यूज की टीम

गली न्यूज की टीम इसके रीडर हैं। वही खबरें देते हैं और वही इन खबरों को पढ़ते भी हैं। इसके ऑडियंस ही इसकी खबर को तय करते हैं। बताते हैं कि किस गली-मुहल्ले में क्या हो रहा है? बाकी इन खबरों को
पूरा रुप गढ़ता है इसकी छोटी सी टीम। अपनी लगन और मेहनत से यह टीम उन लोगों की आवाज को आगे करता है जिसकी सुध लेने वाला कोई नहीं।


Connect with us now on Email (gulynews @ gmail.com)