October 4, 2022, 1:34 am

मुठभेड़ के बाद पकड़ा गया गैंगस्टर, जानिए दिल्ली पुलिस के लिए कितनी बड़ी कामयाबी ?

Written By: गली न्यूज

Published On: Sunday May 15, 2022

मुठभेड़ के बाद पकड़ा गया गैंगस्टर, जानिए दिल्ली पुलिस के लिए कितनी बड़ी कामयाबी ?

Gangster Sunil arrested by Special Cell after encounter: दिल्ली पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. रवि गंगवाल गैंग का मेंबर गैंगस्टर सुनील को स्पेशल सेल ने मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया गया है. आरोपी के पास से एक कट्टा और तीन जिंदा कारतूस बरामद किया गया हैं. सुनील मुठभेड़ के दौरान गोली लगने से घायल हो गया.  आरोपी सुनील के खिलाफ हत्या, हत्या प्रयास, जज पर हमला जैसे 10 से ज्यादा मामले दर्ज हैं. साल 2018 में दिल्ली पुलिस ने उसके खिलाफ मकोका के तहत भी मामला दर्ज किया था. कुछ महीने पहले वह जमानत पर जेल से बाहर निकलकर फरार हो गया था.

यह भी पढ़ें :-

नीतीश की शराबबंदी की बच्चे ने खोली पोल, सीएम नीतीश के सामने ही सच रखा.. कहा- सर..सुनिए हमको पढ़ाई में मदद कीजिए।

कैसे गिरफ्तार हुआ क्रिमिनल ?

जानकारी के मुताबिक स्पेशल सेल के इंस्पेक्टर शिवकुमार को सूचना मिली थी कि आरोपी सुनील राज एक्टिवा स्कूटी पर सवार होकर सीआरपीएफ कैंप की तरफ किसी साथी से मिलने आएगा. इस जानकारी पर रात के समय यहां पर जाल बिछाया गया. लगभग 10 बजे वह स्कूटी पर सवार होकर आया. पुलिस टीम ने उसे रुकने का इशारा किया लेकिन उसने दो गोलियां चला दी. जवाब में पुलिस टीम की तरफ से भी गोली चलाई गई. जिसमें सुनील राज के पैर में गोली लगी है. उसे मौके पर अस्पताल में भर्ती कराया गया. इस घटना में कुल तीन गोलियां दोनों तरफ से चली हैं, जिनमें से दो सुनील ने चलाई और एक गोली पुलिस ने चलाई.

मौके से एक पिस्तौल और तीन जिंदा कारतूस स्पेशल ने बरामद किए हैं. सितंबर 2021 में उसे मेडिकल ग्राउंड पर जमानत मिली थी. लेकिन उसने जमानत का समय खत्म होने के बाद भी जेल में सरेंडर नहीं किया और फरार हो गया. उसे भगोड़ा घोषित करने की प्रक्रिया चल रही थी. अंबेडकर नगर इलाके में वर्ष 2012 में सुनील राज ने कार सवार तीन जजों पर भी हमला किया था. इस मामले में उसे सजा हो चुकी है.

सुनील राज अपने साथियों के साथ दिल्ली में 6 शूटआउट में शामिल रहा है. इनमें से 2 में हत्या हो गई थी जबकि 4 में लोग घायल हुए थे. रोहित चौधरी और रवि गंगवाल गैंग के साथ वह जबरन उगाही का काम कर रहा था. वह सट्टा कारोबारियों, बिल्डर, रियल एस्टेट कारोबारी, प्रॉपर्टी डीलर आदि से धमकी देकर उगाही कर रहा था. सुनील राज और गिरोह के अन्य सदस्यों की आपराधिक गतिविधियों को रोकने के लिए उसके भाई अनिल राज और रवि गंगवाल सहित अन्य लोगों के खिलाफ वर्ष 2018 में दक्षिण जिला पुलिस ने इनके खिलाफ मकोका के तहत मामला दर्ज किया था.

यह भी पढ़ें:-

FUEL PRICE: इतने दिनों से नहीं बढ़े हैं पेट्रोल-डीजल के दाम, क्या आपने चेक किया ? ये है मौजूदा रेट

Leave a Reply

Your email address will not be published.