May 19, 2024, 12:55 pm

नोएडा की सबसे बड़ी सोसाइटी में मिलने वाली है बिल्डर से आजादी! सरकारी मीटर लगने शुरु हुए, रेजिडेंट्स की बड़ी जीत

Written By: गली न्यूज

Published On: Saturday May 13, 2023

नोएडा की सबसे बड़ी सोसाइटी में मिलने वाली है बिल्डर से आजादी! सरकारी मीटर लगने शुरु हुए, रेजिडेंट्स की बड़ी जीत

हाईराइज अपार्टमेंट में सिंगल प्वाइंट कनेक्शन ठीक है या पहले से चली आ रही मल्टी प्वाइंट कनेक्शन ठीक है इस पर चर्चा के बीच नोएडा के सबसे बड़ी सोसाइटी में शुमार सेक्टर 74 के केपटाउन सोसाइटी में सिंगल पॉइंट टू मल्टीपाइंट कनेक्शन का काम शुरु हो गया है। पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड (PVVNL) ने अपनी तरफ से इस काम को गति देते हुए केपटाउन सोसाइटी में सिंगल पॉइंट टू मल्टीप्लाई कनेक्शन की शुरुआत कर दिया है।

हंगामे के बीच बड़ी शुरुआत 

नोएडा के सुपरटेक केपटाउन सोसाइटी में सिंगल पॉइंट से मल्टीपाइंट कनेक्शंस का काम भले ही शुरु हो गया है लेकिन ये आसान नहीं था. गुरुवार की सुबह जब पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड (PVVNL) की टीम मौके पर पहुंची तो शुरुआत में सिक्योरिटी गार्ड्स ने उन्हें रोक दिया. बाद में PVVNL के अधिशासी अभियंता शिवम त्रिपाठी और एसडीओ राम मूर्ति भी सोसाइटी पहुंचे लेकिन उन्हें भी एंट्री नहीं मिली. हालांकि बाद में मौके पर मौजूद रेजिडेंट्स की मदद से इन सभी लोगों की सोसाइटी में एंट्री हो सकी और सिंगल प्वाइंट टू मल्टी प्वाइंट कनेक्शन का काम शुरु हो सका. सोसाइटी के CS-3 टॉवर में फिलहाल केबलिंग का काम शुरु हो चुका है।

पुलिस की मध्यस्थता से खुला रास्ता 

केपटाउन सोसाइटी में सिंगल पॉइंट से मल्टीपाइंट कनेक्शंस के लिए लोगों को काफी मशक्कत करनी पड़ी. जब श्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड की टीम को सिक्योरिटी गार्ड्स ने सोसाइटी के अंदर जाने से रोका तो मौके पर मौजूद रेजिडेंट्स ने पुलिस की मदद ली. पुलिस की ओर से चौकी प्रभारी नवीन तोमर सोसाइटी में पहुंचे तब कहीं जाकर PVVNL टीम को सोसाइटी के अंदर एंट्री मिली.

रेजिडेंट्स और मेंटेनेंस टीम में बहस 

इस दौरान मौके पर मौजूद रेजिडेंट्स और मेंटेनेंस टीम के बीच हल्की बहस भी देखने को मिली. मेंटेनेंस टीम का कहना था कि चुंकि बिल्डर सुपरटेक दिवालिया हो चुका है ऐसे में सोसाइटी में किसी भी काम के लिए IRP की मंजूरी जरुरी है. जबकि रेजिडेंट्स इस बात पर अड़े थे कि सरकार का फैसला बिल्डर को मानना ही होगा. मेंटेनेंस टीम का दावा है कि सोसाइटी में इन्फ्रास्टक्चर की कमी है ऐसे में सिंगल पॉइंट से मल्टीपाइंट कनेक्शंस से व्यवहारिक तौर पर समस्या खड़ी हो सकती है. लेकिन रेजिडेंट्स ने मेंटेनेंस टीम की दलील को नजर अंदाज कर दिया.

हंगामे के बीच रेजिडेंट्स की बड़ी जीत

जिस वक्त सोसाइटी के गेट पर हंगाम हो रहा था उस वक्त बड़ी संख्या में सीनियर सिटीजन मौजूद थे। इनमें वीके गुप्ता, सुरेंद्र ठाकुर, डीपी शर्मा समेत कई ऐसे सीनियर सिटीजन थे जो PVVNL के साथ खड़े थे। साथ ही वहां युवाओं की टोली भी थी जो सीनियर सिटीजन की मदद कर रही थी इनमें प्रमुख रुप से नीरज शर्मा और सौरभ सिंह मौजूद थे। सीएस 3 टॉवर में रहने वाले वीके गुप्ता का कहना है कि इस पहल से सोसाइटी में बिल्डर का राज समाप्त होगा और सस्ते दर पर बिजली मिल सकेगा। सोसाइटी के सीएस 4 टॉवर में रहने वाले नीरज शर्मा का कहना है कि सोसाइटी में PVVNL कनेक्शन बिल्डर के ताबूत में आखिरी कील साबित होगी. बिल्डर के मनमानी से जहां लोगों को आजादी मिलेगी वहीं दूसरी ओर PVVNL के प्रीपेड मीटर से रिचार्ज के साथ डिस्काउंट भी मिलेगा। साथ ही साथ लोड बढ़ाने में भी लोगों को बेहद कम पैसे खर्च करने पड़ेंगे.

यह भी पढ़ें:-

Greater Noida Society: स्वीमिंग पूल में नहाते हुए बच्चे को लगा करंट, घटना के बाद से लोगों में रोष। स्विमिंग पूल को बंद किया गया

AOA की भूमिका पर फिर उठे सवाल 

जिस वक्त सोसाइटी में सरकारी मीटर लगाने को लेकर हंगामा हो रहा था उस वक्त कथित AOA टीम के एक भी सदस्य मौजूद नहीं दिखा. AOA टीम की गैरमौजूदगी से रेजिडेंट्स हैरत में थे. ऐसे वक्त में जब बिल्डर से लड़ाई के खातिर बड़ी कोशिशों के बाद PVVNL का कनेक्शन सोसाइटी में हो रहा है ऐसे वक्त में AOA टीम की गैरमौजूदगी ने रेजिडेंट्स को गुस्से में डाल दिया. https://gulynews.com से बात करते हुए कुछ रेजिडेंट्स ने कहा कि AOA टीम की गैरमौजूदगी.. दाल में काला है दर्शाती है. बता दें कि सोसाइटी के कामकाज में AOA के सेकेट्री कभी दिखाई नहीं दिए ना ही सोशल मीडिया पर वो एक्टिव हैं. ऐसे में लोग सवाल पूछ रहे हैं कि जब चुप रहना था तो चुनाव में खड़े ही क्यों हुए थे?

मल्टीपॉइंट कनेक्शन लगाने से होगा फायदा

सिंगल पॉइंट कनेक्शन में बिजली कंपनी से बिल्डर को कनेक्शन मिलता है. इसमें फ्लैट मालिकों को सात रुपये प्रति यूनिट बिजली दी जाती है. मल्टीपॉइंट कनेक्शन में एक से 150 यूनिट तक 5.50 रुपये और 300 यूनिट से ज्यादा बिजली उपयोग करने पर 6.50 रुपये प्रति यूनिट की दर से चार्ज है. मल्टीपाइंट कनेक्शन के लिए फ्लैटों में प्रीपेड मीटर लगेंगे. यानी कि जितनी बिजली का इस्तेमाल किया जाएगा, उतना ही रिचार्ज हो सकेगा.

यह भी पढ़ें:-

दिल्ली मेट्रो के अंदर का चौंकाने वाला वीडियो सामने आया, रोमांस करता नजर आया कपल

Leave a Reply

Your email address will not be published.