December 8, 2022, 1:56 pm

Protest against dog lovers in Noida: डॉग लवर्स के खिलाफ लामबंदी, 50 से ज्यादा सोसायटी के लोगों ने खोला मोर्चा

Written By: गली न्यूज

Published On: Monday July 18, 2022

Protest against dog lovers in Noida: डॉग लवर्स के खिलाफ लामबंदी, 50 से ज्यादा सोसायटी के लोगों ने खोला मोर्चा

Protest against dog lovers in Noida: नोएडा में आवारा कुत्तों के आतंक से लोग काफी परेशान है. नोएडा स्थित कई सोसायटी ऐसी भी है जहां आवारा कुत्तों ने बच्चों और बुजर्गों पर हमला कर उन्हें घायल किया है. ताजा मामला नोएडा के सेक्टर 137 स्थित पारस टियेरा सोसाइटी की है।

क्या है मामला ? 

नोएडा के सेक्टर-120 स्थित प्रतीक लॉरेल सोसाइटी (Prateek Laurel society) में नोएडा और ग्रेटर नोएडा की 50 से ज्यादा सोसायटी के AOA ने जिले भर में आवारा कुत्तों के आतंक और उनके समर्थन में खड़े होने वाले  डॉग लवर संस्थाओं के खिलाफ एक जुट होकर खड़े होने की बात कहीं है (Protest against dog lovers in Noida)

.

कार्यक्रम में नोएडा सेक्टर-118 की जोडिएक सोसाइटी (Zodiac Society) के प्रेसिडेंट जोगिंदर सिंह ने सोसायटियों में आवारा कुत्तों द्वारा लोगों और बच्चों को काटने और उनके कारण होने वाली समस्याओं के बारे में बताया. उन्होंने बताया कि किस तरीके से उनकी सोसाइटी में भी आवारा कुत्तों का आतंक था और आवारा कुत्तों से ज्यादा उनके समर्थन में आने वाले डॉग लवर एक्टिविस्ट (dog lover activist) का आतंक था. यह लोग बात-बात पर लोगों को महिला उत्पीड़न जैसे केस में फंसाने की धमकी देते थे, जिसके बाद उन्होंने एनिमल वेलफेयर बोर्ड ऑफ इंडिया के नियमों का अध्ययन किया और उन नियमों के आधार पर ही सोसाइटी के अंदर 50 जगह यह बोर्ड लगाए कि जहां लोगों का आना जाना है. वहां पर कुत्तों को खाना नहीं खिला सकते हैं.

यह भी पढें:-

Ghaziabad: हेलमेट पहनकर ड्राइवर ने चलाई बस, मचा हड़कंप

विरोध करने वालों ने क्या कहा ?

इसके साथ ही उन्होंने सोसाइटी के बाहर कुछ लोग फीडर सपोर्ट बनाए और कुत्ता प्रेमियों से वहां पर खाना खिलाने को कहा. लेकिन डॉग लवर एक्टिविस्ट नहीं माने और उन्होंने अपने समर्थन में भाजपा सांसद मेनका गांधी और पीपल फॉर एनिमल की चेयरपर्सन मेनका गांधी की बहन अंबिका शुक्ला को बुलाया. ऐसे में एक दिन अंबिका शुक्ला बिना बताए अचानक सोसाइटी के बाहर आकर खड़ी हो गई. जोगिंदर सिंह ने उनसे मिलने को मना कर दिया. उन्होंने कहा कि अगर आपको मुझसे ऐसे प्रेसिडेंट बात करनी है तो आप अपनी संस्था की तरफ से हमको समय दीजिए.

जोगिंदर सिंह ने बताया कि अंबिका शुक्ला ने अपने नाम अपने बड़े ओहदे और बड़ी पहुंच का हवाला देते हुए उन्हें डराने की कोशिश की, और उन्होंने डीजीपी को फोन मिलाया और उसके बाद सरदार जोगिंदर सिंह ने कहा कि अगर कोई भी चीज नियम के खिलाफ है और कानून व्यवस्था बिगड़ने का कारण बनती है तो वह ऐसे लोगों को एंटरटेन नहीं करेंगे. चाहे उनकी कितनी भी पहुंच हो. जिसके बाद यह लोग चले गए और फिर सोसाइटी में AOA प्रेसिडेंट जोगिंदर सिंह ने लोगों के आने जाने वाले रास्ते पर कुत्तों को खाना खिलाने वाले एक्टिविस्ट पर ₹5000 का जुर्माना लगाना शुरू किया और अब सोसाइटी में लोग नियमों का पालन करने लगे. उन्होंने सभी को बताया कि सभी एओए और आरडब्लूए अपने आप में संपूर्ण अधिकार रखती हैं कि वह सोसाइटी को सुचारू रूप से चलाने के लिए सही नियम बना सकें और उन नियमों के खिलाफ नहीं जाया जा सकता.

पढ़ें:

Tax Saving Fixed Deposit: टैक्‍स सेविंग FD पर ये छोटे बैंक दे रहे बेहतर रिटर्न, टॉप में एक भी बड़ा बैंक नहीं शामिल

भाजपा नेता और सोसायटी प्रेसिडेंट नवीन मिश्रा ने बताया कि इन डॉग लवर एक्टिविस्ट के हरकतों के शिकार वह भी हुए. उन्होंने सोसाइटी में किसी डॉग लवर महिला को बच्चों के खेलने की जगह खाना खिलाने को मना किया तो उन्होंने उसका वीडियो बनाकर ट्विटर पर वायरल कर दिया. जिसके बाद उन्हें तमाम जगह से फोन आने लगे. भाजपा के कई नेताओं ने फोन करके उनसे पूछा कि क्या बात है और उसके बाद उन्होंने उस वीडियो वायरल करने वाली महिला के खिलाफ पुलिस में ना सिर्फ fir दर्ज की. जिसके बाद उनके पास एक महिला का फोन आया जिसने खुद को मेनका गांधी बताया और उन पर उस महिला के खिलाफ मुकदमा हटाने का दबाव डाला. लेकिन उन्होंने इन बातों की परवाह नहीं की.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.