February 25, 2024, 7:21 am

Industrial Scheme Closed: ग्रेटर नोएडा के उद्योगपतियों को बड़ा झटका, सबसे बड़ी इंडस्ट्रियल स्कीम इस वजह से हुई बंद

Written By: गली न्यूज

Published On: Wednesday February 7, 2024

Industrial Scheme Closed: ग्रेटर नोएडा के उद्योगपतियों को बड़ा झटका, सबसे बड़ी इंडस्ट्रियल स्कीम इस वजह से हुई बंद

Industrial Scheme Closed: ग्रेटर नोएडा के उद्योगपतियों को यूपी सरकार की तरफ से बड़ा झटका लगा है। दरअसल, ग्रेटर नोएडा की सबसे बड़ी इंडस्ट्रियल स्कीम को बीजेपी के कैबिनेट मिनिस्टर गोपाल दास नंदी ने बंद करवा दिया है। ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी (Greater Noida Authority) ने 30 जनवरी 2024 को इंडस्ट्रियल प्लॉट (Industrial Plot) की स्कीम लॉन्च की थी। इसमें कुछ आवेदन आए थे, इसी बीच इसे बंद करा देने से उद्योगपतियों की प्लानिंग पर पानी फिर गया है। यह स्कीम इंटरव्यू के जरिए आवंटित करने की घोषणा की थी। इस स्कीम के जरिए करीब 5,000 करोड़ रुपए का निवेश ग्रेटर नोएडा में आता।

क्या है पूरा मामला

खबर के अनुसार (Industrial Scheme Closed) ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने 30 जनवरी 2024 को इंडस्ट्रियल प्लॉट की स्कीम लॉन्च की थी। इसमें कुछ आवेदन आए। इसी बीच उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मिनिस्टर नंद गोपाल नंदी ने इस स्कीम को बंद करवा दिया। इस स्कीम के बंद होने की वजह से कई उद्योगपतियों को झटका लगा। उनको उम्मीद थी कि वह ग्रेटर नोएडा में अपनी इंडस्ट्रियल स्कीम लगा लेंगे, लेकिन कई उद्योगपति को झटका लगा है। यह स्कीम इंटरव्यू के जरिए आवंटित करने की घोषणा की थी। इस स्कीम के जरिए करीब 5,000 करोड़ रुपए का निवेश ग्रेटर नोएडा में आता।

44 इंडस्ट्रियल प्लॉट की स्कीम हुई थी लांच

दरअसल, ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने 30 जनवरी 2024 को 44 इंडस्ट्रियल प्लॉट की स्कीम लॉन्च किया था। योजना लॉन्च होने के कुछ दिनों बाद नंद गोपाल नंदी ने इस स्कीम को तत्काल प्रभाव से बंद करवा दिया। यह स्कीम इंटरव्यू के जरिए आवंटित करने की घोषणा की थी। इस स्कीम के जरिए करीब 5,000 करोड़ रुपए का निवेश ग्रेटर नोएडा में आता।

यह भी पढ़ें…

Delhi Security Alert: लोकसभा चुनाव से पहले फिर से दहल सकती है दिल्ली, हो सकते हैं दंगे…पुलिस हुई अलर्ट

इसलिए बीच में रुकी स्कीम

पहले ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण अपनी स्कीम को ई-टेंडर के जरिए आवंटित करता था, लेकिन अब इंटरव्यू के जरिए जमीन आवंटित की जाएगी। इसलिए इस स्कीम को भी इंटरव्यू के जरिए आवंटित किया जा रहा था, लेकिन नंद गोपाल नंदी ने बीच में ही स्कीम को बंद करवा दिया। स्कीम को बंद करवाते वक्त नंद गोपाल नंदी ने ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी से कहा कि योगी आदित्यनाथ इंटरव्यू के माध्यम से भूमि आवंटित करने के लिए सहमत नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.