February 21, 2024, 6:35 pm

Dog Issues In Ghaziabad: कुत्तों का आतंक, लाठी-डंडे लेकर घर से निकलते हैं लोग…

Written By: गली न्यूज

Published On: Wednesday February 7, 2024

Dog Issues In Ghaziabad: कुत्तों का आतंक, लाठी-डंडे लेकर घर से निकलते हैं लोग…

Dog Issues In Ghaziabad: गाजियाबाद शहर की हाउसिंग सोसाइटी में रहने वाले लोगों में आवारा कुत्तों के हमला करने का डर इस कदर है,की उन्हें घर से बाहर निकलते टाइम लाठी या डंडे का सहारा लेना पड़ता है। ऐसा लोग डॉग अटैक से अपनी सुरक्षा के लिए कर रहे हैं। खासकर पॉश सोसाइटी के लोग सहमे और डरे-डरे से दिखाई दे रहे हैं। यह डर किसी चोर या डकैत का नहीं, बल्कि कुत्तों का है। पिछले कई दिनों से लगातार सामने आ रहे डॉग अटैक के मामलों को देखते हुए लोगो ने बचाव करने का यह तरीका निकाला है।

क्या है पूरा मामला

खबर के अनुसार गाजियाबाद ( Dog Issues In Ghaziabad) के शहरी इलाकों में लोग अब सुबह हो या शाम हाथों में लाठी डंडे लेकर निकलने लगे हैं। बता दें कि गाजियाबाद की कई सोसाइटी में कुत्ते लोगों पर हमला कर उन्हें घायल कर चुके हैं। इनमें कई बच्चे भी शामिल हैं। हाल ही में कुत्तों के एक झुंड ने एक मासूम बच्चे पर हमला कर दिया था। गनीमत रही तभी वहां एक व्यक्ति आ गया और उसने कुत्तों को भगाकर बच्चे की जान बचाई। इस पूरे घटनाक्रम का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इसी वजह से लोगों ने कुत्तों के हमलों से सुरक्षा करने का यह तरीका निकाला है। लोगों को लगता है की हाथ में लाठी या डंडा देखकर कुत्ते उन पर हमला नहीं करते हैं। इसके साथ ही कई सोसाइटी में छोटे बच्चों के अकेले घर से बाहर निकलने पर भी रोक लग गई है। क्योंकि लोगों का कहना है की कुत्ते ज्यादातर छोटे बच्चों को ही अपना निशाना बनाते हैं।

हाथों में लाठी-डंडे लेकर निकलते हैं बाहर

राजनगर एक्सटेंशन स्थित केडीपी ग्रैंड सवाना और आसपास की सोसाइटी में रहने वाले लोग कुत्तों के आतंक से परेशान हो गए हैं। सोसायटी के निवासी राहुल सचान बताते हैं कि हाल फिलहाल में बुजुर्ग, महिलाओं और बच्चों पर कुत्तों के झुंड ने हमला किया है। लोगों में कुत्तों का डर इस कदर हावी हो गया है कि वे सुबह-शाम की वॉक या किसी काम से जब बाहर निकलते हैं तो हाथों में लाठी या डंडे लेकर निकलते हैं। राहुल के मुताबिक, सबसे ज्यादा खतरनाक हमला कुत्तों का 26 जनवरी को हुआ था। जब पार्क में खेल रहे एक ढाई साल के बच्चे को इन्होंने निशाना बनाया था। इसी सोसाइटी के ज्योति भूषण ने बताया कि इसकी शिकायत वह लगातार संबंधित एजेंसियों को करते आ रहे हैं। एक बार नगर निगम की टीम इन कुत्तों को यहां से लेकर भी गई थी, लेकिन उन्हें वैक्सीनेट करके फिर यहीं छोड़ दिया। कुत्तों के आतंक से निवासी अपने घरों में रहने को मजबूर हैं।

यह भी पढ़ें…

Industrial Scheme Closed: ग्रेटर नोएडा के उद्योगपतियों को बड़ा झटका, सबसे बड़ी इंडस्ट्रियल स्कीम इस वजह से हुई बंद

Leave a Reply

Your email address will not be published.