October 4, 2022, 3:44 am

Noida News: अब विदेशी ही नहीं पालतू देसी नस्ल के कुत्तों का भी होगा रजिस्ट्रेशन, जानिए कितनी होगी फीस

Written By: गली न्यूज

Published On: Saturday July 23, 2022

Noida News: अब विदेशी ही नहीं पालतू देसी नस्ल के कुत्तों का भी होगा रजिस्ट्रेशन, जानिए कितनी होगी फीस

Noida News: दिल्ली-एनसीआर की सोसाइटियों में आए दिन डॉग्स को लेकर झगड़े होते रहते हैं। कई बार तो नौबत मारपीट और केस-मुकदमा तक पहुंच जाता है। ऐसे में अब अथॉरिटी इन मामलों पर काबू पाने के लिए नई-नई पॉलिसी बनाने में जुटी है। इसी तरह की एक खास पॉलिसी ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने बनाई है। ताकि अथॉरिटी के पास पेट्स की पूरी जानकारी रहे।

नई पॉलिसी के तहत ग्रेटर नोएडा ( Greater Noida) अथॉरिटी डॉग्स की वैक्सीनेशन और उनकी नसबंदी पर जोर दे रही है। खास बात यह है कि इसमें देसी नस्ल यानी स्ट्रीट डॉग्स का रजिस्ट्रेशन और वैक्सीनेशन भी शामिल है।

यह भी पढ़ें:-

Realme C35 का 6GB वेरिएंट भारत में लॉन्च, मिलेंगे शानदार फीचर्स

कितना होगा खर्च ?

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने देसी नस्ल यानी स्ट्रीट डॉग्स का रजिस्ट्रेशन 100 रुपए का चार्ज रखा है वहीं विदेशी नस्ल के डॉग्स के लिए 500 रुपए खर्च करने पड़ेंगे। इसके बाद प्राधिकरण खुद रजिस्टर्ड डॉग्स का वैक्सीनेशन और नसबंदी करवाएगा।

लावारिस डॉग्स के लिए शेल्टर होम 

ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी लोगों को राहत देने के लिए नई पॉलिसी पर काम कर रहा है। खास बात यह है कि ग्रेटर नोएडा में जो लावारिस डॉग्स है उनके लिए शेल्टर होम भी बनाया जाएगा। सके साथ उनके लिए अस्पताल भी बनाने का फैसला लिया गया है। रजिस्ट्रेशन करवाने के फायदे लोगों को होंगे क्योंकि रजिस्टर्ड डॉग्स का वैक्सीनेशन और उनकी नसबंदी दोनों का जिम्मा प्राधिकरण ही उठाएगा।

यह भी पढ़ें:-

HDFC, ICICI और Axis बैंक को लेकर सरकार ने किया बड़ा ऐलान, आपको होगा फायदा

बता दें कि बीते एक साल से ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण और वहां काम करने वाली कई सामाजिक संस्थाएं मिलकर काम कर रही है और ये डॉग्स का रजिस्ट्रेशन, वैक्सीनेशन और नसबंदी करा रहे थे. इस कड़ी में ग्रेटर नोएडा में अब तक लगभग 2,800 डॉग्स की नसबंदी हो चुकी है।

ग्रेटर नोएडा में कितने डॉग्स

https://gulynews.com को मिली जानकारी के मुताबिक ग्रेटर नोएडा में करीब आठ हजार डॉग्स हैं लेकिन इस बीच मसला यह है कि हर साल इनकी तादाद बढ़ती जा रही है और अभी लगभग पांच हजार डॉग्स की नसबंदी बाकी है. ऐसे में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की मॉनिटरिंग कमेटी की बैठक में ये तय किया गया है कि सेक्टर में सोसाइटियों में को डॉग्स है उनके रजिस्ट्रेशन और उनकी नसबंदी का जितना भी खर्च होगा वो आरडब्ल्यूए और एओए उठाएगी.

यह भी पढ़ें:-

Noida: इस सोसायटी में एक महिला को 5 कुत्तों ने काटा, अब 80 हजार की होगी सर्जरी

Leave a Reply

Your email address will not be published.