February 1, 2023, 9:57 pm

Delhi NCR Property Rent: नोएडा-ग्रेटर नोएडा में किराए की मांग में जबरदस्त बढ़ोतरी, घर खरीदने में दिलचस्पी नहीं ले रहे हैं लोग, यहां जानिए क्या है कारण

Written By: गली न्यूज

Published On: Sunday December 11, 2022

Delhi NCR Property Rent: नोएडा-ग्रेटर नोएडा में किराए की मांग में जबरदस्त बढ़ोतरी, घर खरीदने में दिलचस्पी नहीं ले रहे हैं लोग, यहां जानिए क्या है कारण

Delhi NCR Property Rent: दिल्ली से सटे गौतमबुद्ध नगर के नोएडा और ग्रेटर नोएडा में एक तरफ जहां प्रॉपर्टी की कीमतों में तेजी से बढ़ोतरी नजर आ रही है। वहीं दूसरी ओर रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी के किराए में भी बढ़ोतरी देखी जा रही है। बीते कुछ साल में नोएडा और ग्रेटर नोएडा जैसे सिटी देश के स्मार्ट सिटी में शुमार हो चुके हैं। बड़ी-बड़ी गगनचुंबी या यूं कहें कि हाईराइज अपार्टमेंट खड़े हो गए हैं और अब अपार्टमेंट्स की मांग में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है।

किराए में बढ़ोतरी

नोएडा और ग्रेटर नोएडा में हुए प्रॉपर्टी रिसर्च के मुताबिक नोएडा के हाईराइज अपार्टमेंट्स (HighRise appartment in Noida) की मांग में जबरदस्त बढ़ोतरी देखी गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नोएडा के कुछ हिस्सों में बीते 1 साल के दौरान किरायों (Delhi NCR Property Rent) में 20% की बढ़ोतरी हो चुकी है। हालांकि इस दौरान घरों की बिक्री में कमी आई है। घरों की बिक्री कम होने से गौतमबुद्ध नगर जिले के स्टांप एंड रिवेन्यू डिपार्टमेंट ( Stamp and Revenue Department) का टारगेट 50 फ़ीसदी ही आमदनी कर सका है।

क्यों बढ़ा किराया ?

https://gulynews.com ने इस बारे में प्रॉपर्टी एक्सपर्ट से जब बात की तो पता चला कि नोएडा में खासतौर से किरायेदारों की संख्या तेजी आई है। इसका बड़ा कारण नोएडा में नई कंपनियों का आना और रोजगार के मौके पैदा करना। दिल्ली से सटे रहने की वजह के साथ ही साथ हर तरह की सुविधा मिलने के कारण लोग नोएडा में रहना पसंद करते हैं। लोगों की इसी पसंद ने सोसाइटी में किरायेदारों की संख्या बढ़ा दी है। किरायेदारों की संख्या बढ़ने से डिमांड सप्लाई पर असर पड़ा है जिसके कारण प्रॉपर्टी के किराए बड़े हैं।

खरीद बिक्री में क्यों कमी ?

https://gulynews.com ने इस बारे में प्रॉपर्टी एक्सपर्ट से भी बात की कि आखिर फ्लैटों की खरीद बिक्री में कमी क्यों आए हैं ?

  • जानकार बताते हैं कि नोएडा में कई सोसाइटी ऐसी है जहां रजिस्ट्री रुकी पड़ी है। रजिस्ट्री नहीं होने से बैंक उन फ्लैटों पर लोन मुहैया नहीं करवा रहे हैं। लोन नहीं मिलने से लोग परेशान हैं और वह प्रॉपर्टी खरीदने में कम दिलचस्पी दिखा रहे हैं।
  • इसके साथ ही एक्सपर्ट मानते हैं कि Corona के बाद घर खरीदने में लोगों ने दिलचस्पी दिखानी कम कर दी है। इसके पीछे की वजह work-from-home कल्चर यानी घर से काम करना है। दिल्ली एनसीआर में जॉब करने वाले अभी भी कई ऐसे लोग हैं जो अपने होमस्टेट चले गए हैं और वहीं से काम कर रहे हैं।
  • Covid 19 ने असमंजस की स्थिति पैदा कर दी थी जिसके कारण भी लोग नए निवेश से बचना चाहते हैं।
  • साथ ही साथ दुनिया भर में एक बार फिर मंदी का असर नजर आ रहा है कई MNC कंपनियों ने अपने Employees की छटनी की है जिसका सीधा असर लोगों पर दिख रहा है और वह किसी भी तरीके की नई खरीद से बचते दिखाई दे रहे हैं।
  • एक बड़ा कारण यह भी है कि महंगे होते लोन की वजह से ब्याज बहुत महंगा हो गया है लिहाजा लोग किराए के घरों में रहना ज्यादा पसंद कर रहे हैं । यही कारण है कि मकान मालिकों ने भी किराए के दामों में बढ़ोतरी कर दी है।
कितने बढ़े किराए

रिपोर्ट के मुताबिक बीते 1 साल के दौरान नोएडा में किराए के संपत्तियों की मांग 12 फीसदी से ज्यादा बढ़ी है। वहीं ग्रेटर नोएडा में यह बढ़ोतरी 30 तक पहुंच गई है जबकि ग्रेटर नोएडा वेस्ट में किराए के दामों में  20 फीसदी का इजाफा देखा गया है। किराए के लिए प्रॉपर्टी बहुत कम है यही वजह है कि डीलरों और मकान मालिक ने किराया बढ़ा दिया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.