May 19, 2024, 12:55 pm

Noida news: इस सोसायटी के लोगों ने बिल्डर के खिलाफ खोला मोर्चा, रेजिडेंट्स ने मेंटेनेंस चुकाने से किया इनकार

Written By: गली न्यूज

Published On: Tuesday September 12, 2023

Noida news: इस सोसायटी के लोगों ने बिल्डर के खिलाफ खोला मोर्चा, रेजिडेंट्स ने मेंटेनेंस चुकाने से किया इनकार

Noida news: नोएडा में बसी सोसायटियों के लोगों ने बिल्डर के खिलाफ मोर्चा खोलने का सोच लिया है. इसी कड़ी में सेक्टर-46 की गार्डेनिया एम्स ग्लोरी सोसायटी (Gardenia Aims Glory Society) की समिति के लोगों ने रविवार को एक मीटिंग करके बिल्डर मनोज राय के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. समिति के लोगों का आरोप है कि बिल्डर ने ऐसे लोगों को मैनेजमेंट सौंप दिया है, जिन्होंने बिना स्थानीय लोगों को भरोसे में लेकर चुपचाप एक एओए का गठन कर लिया. समिति के लोगों ने सैकड़ों लोगों के हस्ताक्षर करके एक राजिनामा नोएडा प्राधिकरण के सीईओ और जिलाधिकारी को दिया है.

अथॉरिटी का करोड़ों रुपया बकाया

बता दें कि, गार्डेनिया ग्लोरी सोसायटी के बिल्डर ने अथॉरिटी का करोड़ों रुपया नहीं चुकाया है. इस वजह से सोसायटी के लोग पहले से ही परेशान है और अब बिल्डर मनोज राय के इस कदम ने लोगों के मन में आक्रोश भर दिया है. रेजिडेंट्स का प्रतिनिधित्व कर रहे आशीष सिन्हा का कहना है कि इस तरह की हरकतों से बिल्डर गार्डेनिया ग्लोरी के लोगों में फूट डालने का काम तो कर ही रहा है, साथ ही अथॉरिटी के निर्देशों का भी उल्लंघन कर रहा है.

मेंटेनेंस नहीं चुकाएंगे निवासी

ग्लोरी के निवासी और संघर्ष समिति के महासचिव अनुराग द्विवेदी ने बताया कि बिल्डर की मनमानी के खिलाफ रविवार को स्थानीय लोग जमा हुए और उन्होंने भारी तादाद में दस्तखत करके इस हरकत का विरोध किया. ग्लोरी के निवासियों ने तय किया है कि वह फिलहाल मेंटेनेंस नहीं चुकाएंगे और आगे और भी बड़े कदम उठाए जा सकते हैं.

ये भी पढ़ें-

Greater noida west news: इस सोसायटी में आवारा कुत्तों को लेकर दो पक्षों में विवाद, खानी पड़ी जेल की हवा

लड़ाई को सड़क से लेकर अदालत तक लड़ेंगे

समिति की उपाध्यक्ष निर्मला शर्मा ने बताया कि बिल्डर के इशारे पर कुछ लोगों ने एक कमरे के अंदर आनन-फानन में एक एसोसिएशन का गठन किया और उसे रजिस्टर करवा दिया. हालांकि इस संगठन को डेप्युटी रजिस्टार मेरठ ने कालातीत घोषित कर चुके हैं. इस तथाकथित एसोसिएशन ने ना तो चुनाव करवाए और ना ही ग्लोरी निवासियों की सहमति ली.

इस मौके पर मौजूद महिलाओं का कहना था की सोसाइटी में मूलभूत सुविधाओं को लेकर आ रही परेशानी से ध्यान भटकाने के लिए बिल्डर ने यह पूरा षड्यंत्र रचा है. लोग इस बार आर-पार की लड़ाई के मूड में है और उन्होंने चुनौती देते हुए कहा है कि वह इस लड़ाई को सड़क से लेकर अदालत तक लड़ेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.