February 28, 2024, 8:11 pm

Faridabad dog attack: 6 लोगों पर कुत्ते ने किया हमला, सभी की हालत गंभीर

Written By: गली न्यूज

Published On: Monday September 11, 2023

Faridabad dog attack: 6 लोगों पर कुत्ते ने किया हमला, सभी की हालत गंभीर

Faridabad dog attack: फरीदाबाद में कुत्तों का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा है. फरीदाबाद के सूर्य विहार सेहतपुर पल्ला इलाके से दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. यहां एक कुत्ते ने तीन बच्चों समेत छह लोग पर हमला कर दिया. सभी घायलों को अस्पताल की इमरजेंसी में भर्ती कराया गया. डॉक्टरों ने घायलों का प्राथमिक इलाज कर उन्हें दिल्ली रेफर कर दिया.

क्या है पूरा मामला ?

फरीदाबाद के सूर्य विहार सेहतपुर पल्ला गली नंबर 12 में एक कुत्ते को पहले किसी ने पाला हुआ था. लेकिन कुछ दिन पहले कुत्ते के मालिक ने उसे गली में खुला छोड़ दिया. शनिवार देर शाम को पालतू कुत्ते ने तीन बच्चों सहित छह लोगों पर जानलेवा हमला कर दिया. इसमें से एक परिवार के दो सदस्य राजेश कुमार और उनकी 12 साल की बेटी अंशी शामिल है. वहीं, दूसरे परिवार के चार सदस्य शामिल हैं.

6 साल के बच्चे पर कुत्ते का हमला

पीड़ित राजेश ने बताया कि वह ड्यूटी से लौट रहा था. तभी उन्होंने देखा कि गली में एक कुत्ता 6 साल के बच्चे पर हमला कर रहा था. उन्होंने बच्चे को बचाने का प्रयास किया, लेकिन कुत्ते ने उन पर भी अटैक कर दिया. वह नीचे गिर गया, जिसके बाद कुत्ते ने उनका कान नोच डाला. वहीं, किशन कुमार ने बताया कि 6 साल के बच्चे (प्रेम) को बचाने का प्रयास करने पर कुत्ता घर के अंदर आ गया और उसको भी काटा लिया. इसके बाद कुत्ते ने 12 साल की अंशी और चार साल के ऋषभ को काट लिया.

बच्चों को कुत्ते से बचाने के लिए 23 साल का राजा आया तो कुत्ते ने उसके ऊपर भी हमला कर दिया. सभी को मौके पर इलाज के लिए अस्पताल लेकर गए. जहां से डॉक्टर ने सभी को दिल्ली सफदरजंग के लिए रेफर कर दिया.

डॉक्टर ने बताया कि एक कुत्ते द्वारा हमला किए जाने के बाद तीन बच्चों सहित छह लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. सभी के ऊपर कुत्ते के काटने के गहरे निशान थे. प्राथमिक इलाज देने के बाद सभी को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया है.

ये भी पढ़ें-

Dalit student died in school: प्रिंसिपल ने दलित स्टूडेंट को 2 घंटे धूप में किया खड़ा, मौत

डॉक्टर ने बताया कि रविवार को अस्पताल की ओपीडी में छुट्टी होने के चलते इमरजेंसी में अगर कोई कुत्ते व बंदर के काटने वाले मरीज आते हैं तो उसको दिल्ली के लिए रेफर कर दिया जाता है. अस्पताल में इस समय एंटी रेबीज के इंजेक्शन मौजूद हैं, लेकिन इमरजेंसी में यह सुविधा नहीं है जिसके चलते रविवार को कुत्ते काटने वाले छह मरीजों को दिल्ली के सफदरजंग रेफर कर दिया गया. अगर इमरजेंसी में एंटी रेबीज के इंजेक्शन उपलब्ध होते तो मरीजों को रेफर करने की जरुरत नहीं पड़ती.

Leave a Reply

Your email address will not be published.