June 15, 2024, 8:23 pm

Dalit student died in school: प्रिंसिपल ने दलित स्टूडेंट को 2 घंटे धूप में किया खड़ा, मौत

Written By: गली न्यूज

Published On: Monday September 11, 2023

Dalit student died in school: प्रिंसिपल ने दलित स्टूडेंट को 2 घंटे धूप में किया खड़ा, मौत

Dalit student died in school: यूपी के जौनपुर से बड़ी खबर आ रही है. यहां धूप में खड़ा करने पर 10 में पढ़ने वाले एक दलित स्टूडेंट की स्कूल के गेट पर मौत हो गई. बताया जा रहा है कि स्टूडेंट को बुखार आ रहा था और वो प्रिंसिपल से जल्दी घर जाने के लिए परमिशन मांगने गया था. लेकिन प्रिंसिपल ने उसको क्लास के बाहर धूप में खड़ा कर दिया. परिजनों ने प्रिंसिपल और स्कूल प्रबंधक के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है.

क्या है पूरा मामला ?

यूपा के जौनपुर में शनिवार को एक दलित बच्चे को स्कूल में 2 घंटे तक बाहर खड़ा किया गया. बच्चे को बुखार आ रहा था, वो प्रिंसिपल से जल्दी घर जाने के लिए परमिशन मांगने गया था. लेकिन प्रिंसिपल ने उसे क्लास के बाहर धूप में खड़ा कर दिया. बच्चा 10 में पढ़ने वाला स्टूडेंट था. छुट्टी होने पर स्टूडेंट साइकिल से घर जाने के लिए निकला, तभी स्कूल गेट पर चक्कर आने से गिर गया. मामले की जानकारी स्कूल प्रबंधन ने परिजनों को दी. मौके पर पहुंचे घरवाले और टीचर बच्चे को अस्पताल लेकर गए. जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. नाराज परिजनों ने शव सड़क पर रखकर हंगामा किया. परिजनों ने प्रिंसिपल और स्कूल प्रबंधक के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. यह पूरा मामला जिले के मीरगंज इलाके का है.

स्टूडेंट को 1 हफ्ते से आ रहा था बुखार

सेमरहू गांव का का रहने वाला आयुष सरोज (16) बंधवा बाजार स्थित कंचन बालिका इंटर कॉलेज में 10वीं में पढ़ता था. परिवार वालों के मुताबिक आयुष को करीब 1 हफ्ते से बुखार आ रहा था. उसने फोन पर स्कूल में बुखार आने की जानकारी दी थी, लेकिन उसको स्कूल बुलाया गया. जब स्कूल से उसने जल्दी घर जाने की इजाजत मांगी तो उसको मना कर दिया. हमारे बेटे की मौत का कारण स्कूल प्रबंधक और प्रिंसिपल है. इन दोनों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए.

आयुष ठीक से बैठ भी नहीं पा रहा था

आयुष के साथ पढ़ने वाले एक स्टूडेंट ने बताया कि आयुष जब स्कूल आया तो उसको तेज बुखार था. वो ठीक से बैठ भी नहीं पा रहा था. उसने क्लास टीचर से छुट्टी की बात कही तो उन्होंने प्रिंसिपल के पास जाने के लिए बोल दिया. प्रिंसिपल के पास जाने पर आयुष को बहुत डांट पड़ी. उन्होंने पूरे क्लास के सामने उस पर चिल्लाया और फिर उसको बाहर निकाल दिया. जब आयुष क्लास के अंदर आया तो उसका पूरा चेहरा लाल था. उसको चक्कर आ रहे थे. उसने पानी पिया और फिर सिर को सीट पर रख दिया. छुट्टी होने पर मैंने ही उसको उठाया था. वो बहुत मुश्किल से साइकिल लेकर घर जा रहा था, लेकिन तभी वो गेट पर गिर गया और उसकी मौत हो गई.

घबराहट से हुई है आयुष की मौत- स्कूल प्रबंधक

वहीं, इस घटना पर स्कूल के प्रबंधक ने बताया कि आयुष जब घर के लिए निकल रहा था, तभी गेट के सामने चार पहिया वाहन आ गया और वह घबराकर गिर गया. जिससे उसकी मौत हुई है. बाहर खड़ा करने से उसकी मौत नहीं हुई है.

ये भी पढ़ें-

lift accident: ग्रेटर नोएडा वेस्ट की इस सोसायटी में अटकी लिफ्ट, तीन लोग फंसे, चिल्लाते रहे सभी

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का इंतजार

पुलिस का कहना है कि मृत स्टूडेंट के पिता की तहरीर पर प्रबंधक और प्रिंसिपल के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. परिजनों का आरोप है कि स्टूडेंट को बीमार होने के बाद भी दो घंटे स्कूल में खड़ा कराया गया. जिससे उसकी हालत बिगड़ गई. हम लोग मामले की जांच कर रहे हैं. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत का सही कारण पता चल पाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.