February 6, 2023, 2:20 am

Lift Stuck in Noida: ग्रेटर नोएडा के एसएल टावर में लिफ्ट खराब, 12 से ज्यादा स्टूडेंट्स फंसे, पुलिस ने आकर बाहर निकाला

Written By: गली न्यूज

Published On: Saturday January 14, 2023

Lift Stuck in Noida: ग्रेटर नोएडा के एसएल टावर में लिफ्ट खराब, 12 से ज्यादा स्टूडेंट्स फंसे, पुलिस ने आकर बाहर निकाला

Lift Stuck in Noida:  ग्रेटर नोएडा में लिफ्ट (Lift Stuck in Noida) के खराब होने और उसमें लोगों के फंसने की घटनाएं कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. ताजा मामला ग्रेटर नोएडा के बीटा-2 इलाके के एसएल टावर (Lift Stuck in SL Tower) का है. यहां 12 से ज्यादा स्टूडेंट्स लिफ्ट में फंस गए और लिफ्ट दो मंजिलों के बीच रुक गई. जानकारी मिलते ही हड़कंप मच गया. लोगों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी. सूचना मिलते ही पुलिस टीम मौके पर पहुंच गई और मेंटीनेंस डिपार्टमेंट के लोगों को बुलाकर लिफ्ट के दरवाजे को खुलवाया. इसके बाद एक-एक कर सभी स्टूडेंट्स को बाहर निकाला गया. इस दौरान आधे घंटे तक ये स्टूडेंट्स लिफ्ट में फंसे रहे. घटना शुक्रवार शाम की है.

क्या है मामला?

ग्रेटर नोएडा के कमर्शियल बेल्ट में स्थित एसएल टावर में शुक्रवार शाम 12 से ज्यादा स्टूडेंट्स लिफ्ट से नीचे आ रहे थे, तभी अचानक लिफ्ट दो फ्लोर के बीच रुक गई, जिससे स्टूडेंट्स लिफ्ट में फंस गए. इस दौरान आसपास हड़कंप मच गया. लिफ्ट खराब होने की जानकारी पुलिस को दी गई. सूचना मिलने पर पुलिस की टीम भी मौके पर पहुंच गई. मेंटीनेंस डिपार्टमेंट के लोगों को बुलाकर लिफ्ट के दरवाजे को खुलवाया. इसके बाद एक-एक कर सभी स्टूडेंट्स को बाहर निकाला गया. इस दौरान आधे घंटे तक ये स्टूडेंट्स लिफ्ट में फंसे रहे.

सोसाइटी के लोगों का कहना है कि स्टूडेंट्स की छुट्टी हुई थी. ज्यादा स्टूडेंट्स लिफ्ट पर सवार हो गए, जिससे लिफ्ट रुक गई और वे लिफ्ट में फंस गए. लगभग आधा घंटे तक लिफ्ट रुकी रही.

ये भी पढ़ें-

Auto Expo Fire news: ऑटो एक्सपो में लगी आग, ऐसे बची हजारों की जान

बता दें कि, ग्रेटर नोएडा में पिछले लगभग 6 महीने के दौरान 6 से अधिक जगहों पर लिफ्ट के खराब होने और लिफ्ट में लोगों के फंसने की घटनाएं हो चुकी हैं. लोगों का कहना है कि लिफ्ट की मेंटीनेंस नहीं होने से इस प्रकार की घटना हो रही हैं. लोगों ने मांग की है कि समय-समय पर लिफ्ट की मेंटीनेंस कराई जाए.

Leave a Reply

Your email address will not be published.