July 17, 2024, 10:37 pm

Sports Complex News: स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स का होगा कायाकल्प, प्राधिकरण ने ली जिम्मेदारी…बनाई ये योजना

Written By: गली न्यूज

Published On: Wednesday June 26, 2024

Sports Complex News: स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स का होगा कायाकल्प,  प्राधिकरण ने ली जिम्मेदारी…बनाई ये योजना

Sports Complex News: ग्रेटर नोएडा वासियों के लिए बड़ी खुशखबरी है। यहां के स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स का कायाकल्प करके इसे अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुसार बनाने के लिए प्राधिकरण ने बड़ा कदम उठाया है। जिससे ताकि यहां पर ओलंपिक और कॉमनवेल्थ गेम्स में पदक जीतने वाले खिलाड़ी तैयार किए जा सकें।

क्या है पूरा मामला

बतादें, ग्रेटर नोएडा का स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स (Sports Complex News) शहर की शान और पहचान है। अब इसे अंतरराष्ट्रीय मानकों के हिसाब से और पेशेवर बनाने की तैयारी की जा रही है, ताकि यहां पर ओलंपिक और कॉमनवेल्थ गेम्स में पदक जीतने वाले खिलाड़ी तैयार किए जा सकें। ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के सीईओ रवि कुमार एनजी की पहल पर खेल परिसर का कायाकल्प करने की योजना है।

करोड़ों खर्च करने के बाद भी नतीजे नहीं

फिलहाल शहीद पथिक स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स की कमान ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के हाथों में है। 39 एकड़ में फैले खेल परिसर को 2015 में 150 करोड़ रुपये खर्च करके बनाया गया था। यहां कई आधुनिक सुविधाएं तो हैं लेकिन इनसे मनमाफिक नतीजे नहीं मिल रहे। आलम यह है कि रखरखाव पर काफी पैसा खर्च करने के बावजूद इसे दिल्ली और नोएडा जैसा दर्जा हासिल नहीं हो पाया। खिलाड़ी स्तरीय कोचिंग और अभ्यास के लिए दिल्ली और दूसरे राज्यों का रुख करते हैं। इसके लिए उन्हें मोटा पैसा भी खर्च करना पड़ता है और काफी समय व ऊर्जा भी खर्च होती है। इसी को ध्यान में रखते हुए अथॉरिटी ने स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स व्यापक योजना तैयार की है।

कॉरपोरेट शैली में होगा हर काम

ग्रेटर नोएडा इंडस्ट्रीयल डवलपमेंट अथॉरिटी (GNIDA) ने इसे पूरी तरह से निजी हाथों में सौंपने का फैसला किया है, जो मैनजमेंट, ऑपरेशंस और मेंटेनेंस का काम देखेंगी। निजी कंपनियां कॉरपोरेट शैली में ये सभी काम करेंगी। इस हर क्षेत्र की गुणवत्ता में सुधार होगा और जवाबदेही बनेगी।

यह भी पढ़ें…

Supertech Romano Project: सुपरटेक के रोमानो प्रोजेक्ट की जमीन ली जाएगी वापस, ये है वजह

ओलंपिक स्तर की सुविधाएं रहेंगी उपलब्ध
  • फिलहाल स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स में क्रिकेट मैदान, इंडोर स्टेडियम, फुटबॉल और टेनिस कोर्ट मौजूद हैं। लेकिन रखरखाव पर खर्च काफी ज्यादा है।
  • सभी खेल सुविधाओं और मैदानों को अत्याधुनिक बनाने के साथ ओलंपिक साइज और मानकों के हिसाब से स्विमिंग पूल और तीरंदाजी रेंज बनाई जाएगी।
खिलाड़ियों को क्या फायदा
  • स्थानीय और आसपास के खिलाड़ियों को तैयारी से विश्व स्तरीय सुविधाएं और उपकरण मिल सकेंगे।
  • प्रशिक्षित कोच और तकनीकी स्टाफ अंतरराष्ट्रीय स्तर के मानकों के हिसाब से तैयारी कराएंगे। इनमें निजी आहार और खेल विज्ञान विशेषज्ञ भी शामिल होंगे।
  • दिल्ली और आसपास के राज्यों में महंगी कोचिंग और लंबी यात्राओं से छुटकारा मिल सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.