July 18, 2024, 6:43 pm

Room Heater Affect body: रूम हीटर बन सकता है मौत की वजह! इन बातों का रखें ख्याल

Written By: गली न्यूज

Published On: Friday January 27, 2023

Room Heater Affect body: रूम हीटर बन सकता है मौत की वजह! इन बातों का रखें ख्याल

Room Heater Affect body: पहाड़ों पर हुई बर्फबारी के बाद दिल्ली-नोएडा (Delhi-Noida) में ठंड अचानक बढ़ गई है. मौसम विभाग (weather department) के अनुसार अगले एक हफ्ते में बारिश भी पड़ सकती है. ऐसे में लोगों का सहारा रूम हीटर ही होता है, ताकि वो खुद को ठंड से बचा सके. लेकिन इस हीटर ने कई लोगों की जान ले ली. आपको बता दें कि, कई जगह रूम हीटर जलाने के बाद दम घुटने से लोगों की मौत हुई है. ऐसे में जरूरी है हीटर जलाकर रखने से पहले कुछ चीजे जान लें. ताकि कहीं आप किसी अनहोनी का शिकार ना हो जाएं. हीटर जलाते समय किन बातों का खास ख्याल रखना चाहिए और कौन से हीटर सबसे ज्यादा सेफ होते हैं?

हीटर का सही तरीके से इस्तेमाल ना करने से जान तक जा सकती हैं. ऐसे में आइए जानते हैं क्यों खतरनाक साबित हो सकता है कमरे में हीटर जलाकर सोना?

क्यों कमरे में हीटर जलाकर नहीं सोना चाहिए?

सर्दियों के मौसम में गर्माहट पाने के लिए लोग रूम हीटर का इस्तेमाल करते हैं लेकिन डॉक्टर्स इसे लेकर चेतावनी देते हैं कि कमरे में रातभर हीटर जलाकर सोने से आपको नींद ना आने की समस्या के साथ ही, ड्राई स्किन,एलर्जी की समस्या का सामना करना पड़ सकता है. इसके अलावा हीटर से निकलने वाली गैस की वजह से आपका दम भी घुट सकता है जिसके चलते आपकी मौत भी हो सकती है.

हीटर क्यों होता है खतरनाक?

हीटर से कार्बन मोनोक्साइड गैस निकलती है. ऐसे में हृदय संबंधित बीमारियों से जूझ रहे लोगों को इससे सीने में दर्द का सामना करना पड़ सकता है. हालांकि जो लोग हृदय संबंधित बीमारियों से जूझ रहे हैं और स्मोकिंग करते हैं उन्हें खतरा सबसे ज्यादा होता है. इसके अलावा बच्चों और बूढ़ों के लिए यह यह काफी हानिकारक माना जाता है. गैस हीटर का इस्तेमाल करने से नींद में होने वाली मौत का खतरा काफी ज्यादा बढ़ जाता है. हीटर से निकलने वाली कार्बन मोनोक्साइड गैस आपके शरीर में खून की सप्लाई को बंद कर सकती है, जिससे आपके दिमाग तक खून नहीं पहुंच पाता. इस स्थिति में आपको ब्रेन हेमरेज और अचानक होने वाली मौत का सामना करना पड़ सकता है.

ड्राई स्किन और एलर्जी

कमरे में हीटर जलाकर सोने से आपको ड्राई स्किन, एलर्जी और कन्जंक्टिवाइटिस की समस्या का सामना करना पड़ सकता है. कन्जंक्टिवाइटिस आंखों की काफी आम समस्या है जिस ‘पिंक आई’ भी कहा जाता है. यह समस्या होने पर आंखों की कंजक्टिवा में सूजन आ जाती है. कंजक्टिवा पलकों और आंख के के अंदर के सफेद हिस्से को कवर करने वाली पारदर्शी और पतली परत होती है.

ये भी पढ़ें-

Suicide In Capetown Society: नोएडा की इस सोसायटी में वकील ने किया सुसाइड, सुसाइड के पीछे का कारण क्या ?

इस समस्या से बचने के लिए अगर आप कमरे में हीटर जलाकर सो रहे हैं तो जरूरी है कि एक बाल्टी पानी की जरूर रखें. इससे कमरे में नमी बरकरार रहती है.

इन बातों का रखें खास ख्याल

कमरे में रूम हीटर का इस्तेमाल करते समय इस बाद का ख्याल रखें कि हीटर के आसपास पेपर, कंबल या फर्नीचर आदि का सामान रखने से बचें. इन सभी चीजों को हीटर से 2 से 3 फीट दूर रखें.

हीटर को किसी कठोर सतह पर रखें ना कि कार्पेट, लकड़ी या प्लास्टिक के ऊपर. बच्चों को हीटर के आसपास ना जानें दें. हीटर को कभी भी खुला न छोड़ें. जहरीली कार्बन मोनोक्साइड गैस से बचने के लिए कमरे से बाहर निकलने या बिस्तर पर जाने से पहले हीटर को बंद कर दें

कमरे में कार्बन मोनोऑक्साइड गैस भरने के ये हैं संकेत- 
  • सिरदर्द
  • चक्कर आना
  • पेट में दर्द
  • असहज महसूस होना
  • उल्टी आना
कौन से हीटर होते हैं सेफ? 

फैन हीटर चलन में हैं लेकिन उनकी अपेक्षा ऑयल हीटर को बेहतर माना जाता है क्योंकि ये पूरे कमरे को समान तरीके से गर्म करता है. हालांकि सभी तरह के हीटर का इस्तेमाल सर्दियों के मौसम में कमरे को गर्म रखने के लिए किया जाता है लेकिन लंबे समय किसी भी हीटर का इस्तेमाल करने की वजह से सेहत पर बुरा असर पड़ सकता है. फैन हीटर और इन्फ्रारेड हीटर कमरे में ऑक्सीजन के स्तर और नमी को कम करते हैं, जिससे आंखों में ड्राईनेस की समस्या बढती है और नाक में ब्लॉकेज आने लगती है. जिससे सांस लेने में समस्या होती है. ऐसे में जरूरी है कि कमरे में हीटर का इस्तेमाल करते समय एक बाल्टी पानी रखें ताकि कमरे में नमी बरकरार रहे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.