May 19, 2024, 1:37 pm

Residents Issues: करोड़ों रुपए का फ्लैट खरीदने के बाद भी पानी के लिए तरस रहे लोग, मालिकाना हक से भी वंचित

Written By: गली न्यूज

Published On: Saturday May 11, 2024

Residents Issues: करोड़ों रुपए का फ्लैट खरीदने के बाद भी पानी के लिए तरस रहे लोग, मालिकाना हक से भी वंचित

Residents Issues: दिल्ली एनसीआर के इलाकों की कई हाउसिंग सोसाइटियों में पानी की किल्लत बढ़ती जा रही है। भीषण गर्मी में लोग पानी लिए तरस रहे हैं। जबकि लोगों का कहना है की करोड़ों रुपयों का फ्लैट खरीदने के बावजूद उन्हें ऐसी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। लोगों का आरोप है कि एक भी फ्लैट की अब तक रजिस्ट्री नहीं हुई है।

क्या है पूरा मामला

ग्रेटर नोएडा (Residents Issues)में स्थित कई हाई राइज सोसायटी के निवासी रोजमर्रा की समस्याओं से जूझ रहे हैं। ऐसी ही टॉप 20 में शामिल नोएडा के सेक्टर 79 में स्थित एक सोसायटी के निवासियों कई दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इनका आरोप है कि 1.5 करोड़ का फ्लैट लेने के बाद भी वो खुद को ठगा सा महसूस कर रहे हैं। इसकी सबसे बड़ी वजह है कि सोयायटी के मेन गेट पर हमेशा जाम रहता है। जाम लगने का मुख्य कारण सोसायटी के बाहर सिंगल रोड होना है। वहीं सोसायटी के कुछ लोगों का ये भी आरोप है कि उन्हें पीने के लिए जो पानी मिल रहा है। वो काफी हानिकारक है, जिसमें टीडीएस की मात्रा काफी ज्यादा है।

मालिकाना हक से भी वंचित हैं निवासी

नोएडा सेक्टर 79 स्थित इस सोसायटी के निवासियों के मुताबिक वर्तमान में उनके ऊपर बिल्डर का कोई बकाया नही है। फ्लैट की कीमत भी करीब डेढ़ करोड़ रुपए तक है। इसके बाद भी फ्लैट मालिकाना हक नहीं मिल पा रहा। यहां रह रहे कई लोगों का कहना है कि मालिकाना हक को लेकर वे कई बार बिल्डर और नोएडा प्राधिकरण दफ्तर के चक्कर काट चुके हैं। लोगों ने बताया कि सोसायटी में 8 टावर हैं, इनमें करीब 1200 से ज्या फ्लैट हैं। लोगों का आरोप है कि एक भी फ्लैट की अब तक रजिस्ट्री नहीं हुई है।

सुबह—शाम ​रोड पर रहती है जाम की समस्या

सोसायटी में रहने वाले अनिल मेहरा, मिथलेश सिंह और रजत रस्तोगी ने बताया कि कि जब वे मॉर्निंग वॉक, ड्यूटी या बच्चों स्कूल छोड़ने के लिए जाते हैं तो जाम का सामना करना पड़ता है। सिंगल रोड होने से कई बार हादसे भी हो चुके है। इमरजेंसी में यहां से मॉर्निंग या इवनिंग में निकलना हो तो संभव नहीं है। वहीं सोसायटी में आने वाले पानी में टीडीएस की मात्रा भी काफी ज्यादा है।

यह भी पढ़ें…

Electricity Power Plants: गर्मी में मिलेगी राहत, लगाए जाएंगे चार नए पावर प्लांट

प्राधिकरण से भी नही मिला कोई जवाब

इधर, सोसायटी का मेंटेनेंस देख रहे कपिल शर्मा ने बताया कि लोगों की कुछ समस्याएं जरूर हो सकती हैं। लेकिन, केवल अधिकृत रूप से बिल्डर ऑफिस से ही इसका जवाब मिल सकता है। हालांकि, संबंधित सोसायटी के बिल्डर ऑफिस में उनका पक्ष जानने की कोशिश की गई. लेकिन, वहां से कोई जवाब नहीं मिला।

Leave a Reply

Your email address will not be published.