July 18, 2024, 6:48 pm

यूपी के स्कूलों में अब छात्र फुल पैंट और शर्ट पहनकर स्कूल जाएंगे. यूपी सरकार ने दिये निर्देश

Written By: गली न्यूज

Published On: Saturday September 23, 2023

यूपी के स्कूलों में अब छात्र फुल पैंट और शर्ट पहनकर स्कूल जाएंगे. यूपी सरकार ने दिये निर्देश

यूपी के स्कूलों में अब छात्र फुल पैंट और शर्ट पहनकर स्कूल जाएंगे. यूपी सरकार ने संचारी रोगों से बचाव के लिए ये खास निर्देश जारी किए हैं. इन दिनों बदलते मौसम के चलते डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया से बचाव के लिए सरकार ने निर्देश जारी किया है. अब छात्रों को इनसे बचाव के लिए जागरूक भी किया जाएगा

 

स्कूल में ज्यादा बच्चों को बुखार या दूसरे लक्षण होने पर डॉक्टर स्कूल में ही बुलाकर बच्चों का टेस्ट कराया जाएगा. सरकार ने बेसिक शिक्षा विभाग को स्कूलों में फ़ॉगिंग कराने के निर्देश दिए. साथ ही कैम्पस में कहीं पानी जमा होने पाए.

आपको बता दें की हर स्कूल में एक टीचर को नोडल टीचर की ज़िम्मेदारी दी जाएगी कि स्कूलों में ये व्यवस्था सुचारू रूप से सुनिश्चित करें. सभी बेसिक शिक्षा अधिकारी (BSA) को इसके लिए निर्देश जारी कर दिए गए हैं. और इसका निर्वहन करने की भी एडवाइजरी जारी कर दी गई है। पिछले कुछ समय से नोएडा, ग़ाज़ियाबाद, मेरठ, लखनऊ, कानपुर समेत कई ज़िलों के संचारी डेंगू मलेरिया जैसेसंचारी रोगों से कई लोग प्रभावित हुए हैंजिसको देखते हुए यूपी सरकार ने ये फ़ैसला लिया

सप्ताह में केवल 29 घंटे ही लगेंगी कक्षाएं

आपको बता दें कि कक्षाओं के रूप रेखा में भी बदलाव किया जाएगा इसके अलावा उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने नई राष्ट्रीय शिक्षानीति को लागू करने के उद्देश्य से शिक्षा विभाग को नई नियमावली तैयार करने के निर्देश दिए हैं. जिसको जल्द से जल्द अपनाने की भी हिदायत दी गई है इस नियमावली के तहत प्रदेश के स्कूलों में पढ़ाई के लिए नई समय सीमा निर्धारित की गई है और अब सप्ताह में केवल 29 घंटे ही कक्षाएं लगाई जाएंगी

प्रत्येक स्कूल में हो नोडल अध्यापक

प्रत्येक स्कूल में एक स्वास्थ्य नोडल अध्यापक तैनात किया जाए जो विद्यार्थियों को डेंगू, मलेरिया चिकनगुनिया इत्यादि से बचाव के लिए जागरूक करे। स्वास्थ्य नोडल अध्यापक समयसमय पर स्वास्थ्य विभाग से समन्वय कर बीमारियों से बचाव के उपाय भी बताए।साथ ही विभिन्न कक्षाओं में शिक्षक वाट्सएप ग्रुप बनाकर अभिभावकों को उससे जोड़ें और समयसमय पर उन्हें जागरूक करने के लिए वीडियो भेजें। आनलाइन मीटिंग के माध्यम से भी उन्हें सतर्क करें।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.