February 6, 2023, 2:42 am

Notice Period in Job: क्या बिना नोटिस पीरियड सर्व किए कंपनी छोड़ सकते हैं ? जान लें ये नियम

Written By: गली न्यूज

Published On: Monday January 23, 2023

Notice Period in Job: क्या बिना नोटिस पीरियड सर्व किए कंपनी छोड़ सकते हैं ? जान लें ये नियम

Notice Period in Job: अगर आपको नौकरी छोड़ने का मन है और आप नोटिस पीरियड (Notice Period) को लेकर परेशान हैं? नोटिस पीरियड ऐसी शर्त है, जो कंपनी और कर्मचारी दोनों के लिए बफर टाइम का काम करता है. ये वो समय होता है, जब कंपनी को कर्मचारी के विकल्प की तलाश करनी होती है, तो कर्मचारी को अपनी अगली नौकरी या दूसरे विकल्प पर विचार करना होता है. ये वो समय होता है, जब पहले से अपनी अगली नौकरी ढूंढ चुका कर्मचारी आराम के लिए समय की तलाश करता है. क्योंकि रेजिग्नेशन देने के बाद आम तौर पर ये माना जाता है कि कर्मचारी का मन काम में नहीं लगता.

पॉलिसी और शर्तें

नोटिस पीरियड (Notice Period in Job) के नियमों का पालन नहीं करना किसी भी कर्मचारी के लिए आर्थिक नजरिए से फायदेमंद नहीं होता.जब भी आप किसी कंपनी में जॉब ज्वॉइन (Job Join) करते हैं, तो आपसे कई तरह के डॉक्यूमेंट्स पर साइन कराए जाते हैं. इनमें कंपनी की पॉलिसी के साथ काम करने की शर्तें शामिल होती हैं. इसी में आपको नोटिस पीरियड को लेकर जानकारी मिलती है.

नोटिस पीरियड सर्व नहीं करने के विकल्प

नोटिस पीरियड के बदले आपकी छुट्टियों (Earned & Sick Leaves) को एडजस्ट करने के भी नियम होते हैं. इसके अलावा नोटिस पीरियड के समय के बदले पेमेंट करने के भी विकल्प शामिल होते हैं. बेसिक सैलरी के आधार पर आपको पेमेंट करना होता है. कई कंपनियां नोटिस पीरियड को Buy Out कर लेती हैं. आपकी सैलरी का बचा हुआ पेमेंट या आपके नोटिस पीरियड के एवज में किए गए पेमेंट का सेटलमेंट कंपनी फुल एंड फाइनल पेमेंट (FnF Payment) से करती है. हालांकि, नोटिस पीरियड से संबंधित कोई भी सवाल आपको अपनी कंपनी के HR से पूछ लेने चाहिए.

कितने दिन का नोटिस पीरियड?

नोटिस पीरियड (Notice Period) को लेकर अलग-अलग कंपनी में अलग-अलग नियम होते हैं. आम तौर पर ये माना जाता है कि नोटिस पीरियड का समय एक महीने का होता है. लेकिन प्रोबेशन पीरियड पर ये समय एक हफ्ते से लेकर एक महीने तक का हो सकता है, जबकि प्रोबेशन पीरियड खत्म होने के बाद ये समय एक से लेकर तीन महीनों तक का हो सकता है. इन सभी बातों का जिक्र आपके एंप्लॉयमेंट से जुड़े कागजों पर लिखा होता है. कई जगहों पर नोटिस पीरियड कॉन्ट्रैक्ट के आधार पर होता है. ऐसे में कुछ मामलों में ये कंपनी पर भारी पड़ता है, तो कुछ मामलों में कर्मचारी पर.

ये भी पढ़ें-

Delhi traffic advisory: ऑफिस निकलने से पहले ये खबर जरूर पढ़ लें नहीं तो परेशानी में पड़ सकते हैं

क्यों है नोटिस पीरियड का नियम

कंपनियां नोटिस पीरियड का नियम इसलिए रखती हैं, ताकि किसी के नौकरी छोड़कर जाने की स्थिति में नोटिस पीरियड के दौरान ही उसका रिप्लेसमेंट ढूंढा जा सके. इस तरह कंपनी का काम प्रभावित नहीं होता है. इस्तीफा देते ही कंपनी नए कैंडिडेट की तलाश में लग जाती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.