February 25, 2024, 12:10 am

Noida News: बिजली कटौती के झंझट से मिलेगी राहत, जानें क्या है प्लानिंग

Written By: गली न्यूज

Published On: Thursday January 18, 2024

Noida News: बिजली कटौती के झंझट से मिलेगी राहत, जानें क्या है प्लानिंग

Noida News: नोएडा से बिजली कटौती से छुटकारा पाने की एक बड़ी खबर है। नोएडा में मौसम बिगड़ने के कारण होने वाली बिजली कटौती रोकने के लिए प्राधिकरण 1600 करोड़ रुपये खर्च करेगा। अब शहर के सभी आवासीय और औद्योगिक सेक्टरों में बिजली की हाई टेंशन व लो टेंशन लाइन को भूमिगत किया जाएगा। इसके लिए नोएडा प्राधिकरण सीईओ डॉ. लोकेश एम ने पहले चरण के 200 करोड़ रुपये के बजट को स्वीकृति दी गई है।

क्या है पूरा मामला

खबर के अनुसार नोएडा में मौसम बिगड़ने के कारण होने वाली बिजली कटौती रोकने के लिए 1600 करोड़ रुपये के प्रस्ताव की परियोजना के पहले चरण का कार्य शुरू करने के लिए नोएडा प्राधिकरण सीईओ डॉ. लोकेश एम ने स्वीकृति दे दी है। पहले चरण का कार्य सेक्टर-112, 15-ए और 47 में किया जाएगा। इसके लिए 200 करोड़ रुपये के बजट को स्वीकृति दी गई है। तीन सेक्टरों में सौ प्रतिशत बिजली लाइन के भूमिगत होने के बाद उसके परिणाम देखे जाएंगे। सकारात्मक परिणाम सामने आने के बाद पूरी परियोजना को पूरा करने के लिए बजट को स्वीकृति दी जाएगी।

Advertisement
Advertisement

कई चरणों में परियोजना को मिली स्वीकृति

शहर के सभी आवासीय और औद्योगिक सेक्टरों में बिजली की हाई टेंशन व लो टेंशन लाइन को भूमिगत करने के लिए 1600 करोड़ रुपये का प्रस्ताव पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम की तरफ से विभाग के प्रबंध निदेशक को भेजा गया था। प्रबंध निदेशक ने इस समय में प्राधिकरण सीईओ प्रस्ताव मंजूरी के लिए भेजा, जिसके बाद प्राधिकरण सीईओ ने संपूर्ण परियोजना को एक साथ स्वीकृति दिए जाने के बजाय कई चरण में पूरा करने को स्वीकृति दी है। पहले चरण में सेक्टर-112, 47 और 15-ए आवासीय सेक्टरों में बिजली की लो टेंशन और हाई टेंशन लाइन को भूमिगत करने के लिए मंजूरी दे दी है। इसके लिए 200 करोड़ रुपये के बजट को स्वीकृति दी गई है। परियोजना के पूरा होने के बाद वर्षा और आंधी आने पर बिजली आपूर्ति बाधित नहीं होगी, जिससे लोगों को होने वाले परेशानी भी कम हो जाएगी।

बिजली चोरी रोकने में मिलेगी मदद

निर्बाध आपूर्ति व्यवस्था को बेहतर करने में विद्युत निगम को बिजली चोरी रोकने में भी मदद मिलेगी। हालांकि एरियल बंच कंडक्टर एबीसी को पंक्चर कर बिजली चोरी मुश्किल है, लेकिन बिजली आपूर्ति की लाइन के भूमिगत होने के बाद बिजली चोरी पर अंकुश लगाने में मदद मिलेगी।

यह भी पढ़ें…

Ghaziabad News: संपत्तिकर बकायदारों पर सख्ती, 146 दिन में 7 परिसर सील

सीएफएल की कमी को करना होगा दूर

अभी पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम के पास दो केबल फाल्ट लोकेटर (सीएफएल) हैं। जिनके माध्यम से कहीं भी भूमिगत केबल में फाल्ट को ढूंढा जाता है। अभी विभाग के पास इनकी संख्या मात्र दो है। सभी सेक्टरों में बिजली के तारों के भूमिगत होने के बाद इनकी संख्या को बढ़ना पड़ेगा, क्योंकि भूमिगत केबल में फाल्ट होने पर इस उपकरण को भूमिगत केबल के ऊपर लाया जाता है। जिससे फाल्ट का पता लगता है। ऐसे में सबसे पहले फाल्ट को ढूंढा जाता है और इसके बाद इसे ठीक किया जाता है। कई बार फाल्ट ढूंढने में काफी अधिक समय लगता है। ऐसे में एक से अधिक सेक्टरों में फाल्ट हाेने पर अधिक उपकरणों की आवश्यकता होगी। जिससे समय से फाल्ट ढूंढकर उसे दूर किया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.