February 21, 2024, 6:12 pm

Noida News: पेरेंट्स की इच्छा, राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के दिन ही हो बच्चों का जन्म

Written By: गली न्यूज

Published On: Thursday January 18, 2024

Noida News: पेरेंट्स की इच्छा, राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के दिन ही हो बच्चों का जन्म

Noida News: अयोध्या में राममंदिर की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर समस्त रामभक्तों में बेहद हर्ष उल्लास है। इसी सिलसिले में नोएडा में जिन महिलाओं की डिलिवरी होने वाली है वे चाहती हैं की प्राण प्रतिष्ठा वाले दिन ही उनके बच्चे का जन्म हो। इसके लिए डिलिवरी की तारीख भीडॉक्टरों से बढ़वाली गई है। उनका कहना है की रामलला आएंगे और खुशियां लाएंगे। हमारे बच्चों का भविष्य बेहतर रहेगा।इसी लिए ग्रेटर नोएडा के कई अस्पतालों में 22 जनवरी की तिथि बुक कराई गई है। एक दिन पहले तो कुछ एक दिन बाद महिलाओं की डिलीवरी कराएंगे।

क्या है पूरा मामला

जानकारी के मुताबिक ग्रेटर नोएडा देश ही नहीं बल्कि विदेश में रामलला के प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम जोर-शोर से करने की तैयारी हो रही है। यहां पर 22 जनवरी को न सिर्फ मंदिरों में कार्यक्रम होंगे, बल्कि कुछ लोगों ने अपने बच्चों का जन्म भी रामलला के प्राण प्रतिष्ठा वाले दिन कराने का निर्णय लिया है। यह ऐसे लोग हैं, जिनके बच्चों के जन्म की तारीख 20 से 23 जनवरी के बीच मिली है। इनमें कई सामान्य प्रसव के हैं तो कई की सिजेरियन डिलीवरी होनी है। वहीं, जिनको 22 जनवरी की तारीख मिली थी वह तो काफी खुश हैं।

Advertisement
Advertisement

केस एक

ग्रेनो के ओमीक्रॉन सेक्टर निवासी हरेंद्र शर्मा बताते हैं, पत्नी पहली बार गर्भवती है। डॉक्टर ने 20 जनवरी की डिलीवरी की तारीख दी थी, मगर उसने पूछा कि यदि दो आगे हो जाए तो कोई दिक्कत तो नहीं होगी। डॉक्टर ने बताया कि इससे कोई परेशानी नहीं होगी। इस पर रामलला के प्राण प्रतिष्ठा वाले दिन ही बच्चे के जन्म की तारीख तय की है। सीता और राम के पर्यायवाची नाम पर बेटी या बेटा का नाम रखेंगे।

यह भी पढ़ें…

Greater Noida News: मनचाहा दहेज न मिलने पर दूल्हा नही ले गया बारात, केस दर्ज

केस-दो

ग्रेनो वेस्ट सेक्टर-तीन निवासी प्रमोद का पत्नी का ग्रेटर नोएडा के अस्पताल में इलाज चल रहा है। उसकी पत्नी की डिलीवरी की तारीख डॉक्टर ने 23 जनवरी दी थी, मगर उन्होंने एक दिन पहले 22 जनवरी को कराने के लिए तारीख ली है। यदि महिला को कोई परेशानी नहीं है तो प्रसव को एक दिन आगे या पीछे किया जा सकता है। यह केवल सामान्य परिस्थितियों में ही हो सकता है। यदि कोई समस्या है तो ऐसा नहीं किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.