April 18, 2024, 10:53 pm

Medicine Price Hike: 800 से ज्यादा दवाओं के बढ़ जायेंगे रेट, रोजमर्रा में इस्तेमाल होने वाली कई दवाइयां शामिल

Written By: गली न्यूज

Published On: Monday April 1, 2024

Medicine Price Hike: 800 से ज्यादा दवाओं के बढ़ जायेंगे रेट, रोजमर्रा में इस्तेमाल होने वाली कई दवाइयां शामिल

Medicine Price Hike: नए वित्त वर्ष आज यानी 1 अप्रैल से कई सारी दवाएं महंगी होने जा रही हैं। कुछ की कीमतों में 130% तक बढ़ोतरी हुई है। इनमें ज्यादातर रोजमर्रा में छोटी छोटी बीमारियों, बुखार, जुकाम आदि में इस्तेमाल की जाने वाली दवाइयां भी शामिल हैं। आइए, जानते है और कौन कौन सी दवाइयां है जिनके दाम आज से बढ़ जायेंगे।

क्या है पूरा मामला

बतादें, नए वित्त वर्ष (Medicine Price Hike) की शुरुआत में यानी आज 1 अप्रैल से भारत में 800 से ज्यादा दवाएं महंगी होने जा रही हैं। दरअसल, सरकार ने होलसेल प्राइस इंडेक्स (WPI) में कई बदलाव किए हैं जिसके तहत कई दवाओं की कीमतें अब बढ़ जाएंगी। इन दवाओं की कीमतों में करीब 12% की बढ़ोतरी देखी जा रही है। इसके तहत राष्ट्रीय आवश्यक दवा सूची (NLEM) में 0.0055 प्रतिशत में बढ़ोतरी हुई है। ध्यान देने वाली बात ये है कि इस लिस्ट में कुछ ऐसी दवाएं भी शामिल हैं जो कि रोजमर्रा की आम समस्याओं में काम आती हैं। तो, आइए, जानते हैं कौन सी हैं ये दवाएं

पेरासिटामोल की 130% तक बढ़ी कीमत

खबरों के मुताबिक पेरासिटामोल की कीमतों 130% तक बढ़ोतरी हुई है। दरअसल, ये एक ऐसी दवा है जो कि बुखार समेत कई बीमारियों में होने वाले इस लक्षण को कंट्रोल करने के लिए इस्तेमाल होती है। इसकी कीमतों में बढ़ोतरी आम आदमी के लिए थोड़ी ज्यादा हो सकती है।

यह भी पढ़ें…

 Lok Sabha Election 2024: लोकसभा चुनावों को लेकर डीएम ने की खास तैयारी, देखें वीडियो

पेनकिलर और एंटीबायोटिक दवाओं के बढ़े दाम

पेनकिलर, एंटीबायोटिक और एंटी-इंफेक्शन की दवाएं भी महंगी हो गई हैं। पेनिसिलिन जी 175% महंगा हो गया है तो, एज़िथ्रोमाइसिन और कुछ अन्य दवाएं भी महंगी हो गई हैं। इसके अलावा भी इस लिस्ट में कई स्टेरॉयड भी शामिल हैं।

ये दवाइयां भी हुईं महंगी

इन दवाओं के अलावा एक्सीसिएंट्स की कीमतों में भी बढ़ोतरी हुई है। ये 18-262% बढ़ी है और इनमें शामिल है ग्लिसरीन और प्रोपलीन ग्लाइकोल, सिरप, सहित सॉल्वैंट्स। ये 263% से 83% महंगे हुए हैं। इसके अलावा कुछ इंटरमीडिएट्स दवाओं की कीमतें भी 11% से 175% के बीच बढ़ी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.