February 21, 2024, 4:43 pm

Greater Noida News: ये हैं ग्रेटर नोएडा की नई सीईओ, बेहद तेज तर्रार अफसरों में होती है गिनती

Written By: गली न्यूज

Published On: Saturday January 27, 2024

Greater Noida News: ये हैं ग्रेटर नोएडा की नई सीईओ, बेहद तेज तर्रार अफसरों में होती है गिनती

Greater Noida News: ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण में सीईओ पद से जुड़ी बड़ी खबर है। प्राधिकरण में आईएएस मेधा रूपम को सीईओ की जिम्मेदारी मिली हैं। दरअसल, वह कुछ दिनों के लिए अतिरिक्त सीईओ के पद पर कार्य करेंगी। मेधा रूपम की गिनती उत्तर प्रदेश के तेज तर्रार आईएएस अफसरों में होती है।

क्या है पूरा मामला

खबर के मुताबिक आईएएस मेधा रूपम को ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण में सीईओ की जिम्मेदारी मिली हैं। दरअसल, वह कुछ दिनों के लिए अतिरिक्त सीईओ के पद पर कार्य करेंगी। जानकारी के मुताबिक वर्तमान सीईओ रवि कुमार एनजी (आईएएस) कुछ दिनों की छुट्टी पर गए है, जिसकी वजह से मेधा रूपम को अतिरिक्त सीईओ की जिम्मेदारी मिली। मेधा रूपम की गिनती उत्तर प्रदेश के तेज तर्रार आईएएस अफसरों में होती है।

Advertisement
Advertisement

प्रेरणा शर्मा की जगह संभाली

वर्ष 2014 बैच की आईएएस अफसर मेधा रूपम ने ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की एसीईओ के रूप में 24 फरवरी 2023 को पदभार संभाला था। इससे पहले वह हापुड़ की डीएम रह चुकी हैं। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण में एसीईओ रहीं प्रेरणा शर्मा को हापुड़ का जिलाधिकारी बनाया और उनके स्थान पर मेधा रूपम को भेजा गया।

आगरा की रहने वाली हैं आईएएस मेधा रूपम

आईएएस मेधा रूपम का जन्म यूपी के आगरा हुआ था। पिता ज्ञानेश गुप्ता भी एक आईएएस अफसर हैं। पिता की पोस्टिंग केरल में थी तो मेधा की शुरुआती पढ़ाई भी वहीं से हुई। वर्ष 2008 में उन्होंने 12वीं पास किया। इसी दौरान उनका लगाव शूटिंग से हुआ। आईएएस मेधा रूपम ने 10 मीटर की एयर रायफल पीपी साइट में ट्रेनिंग ली और केरल की स्टेट शूटिंग चैपिंयनशिप हिस्सा लेकर वो कर दिखाया, जो कभी नहीं हुआ। उन्होंने तीन गोल्ड मेडल अपने नाम करते हुए केरल स्टेट का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया।

यह भी पढ़ें…

Greater Noida News: डिलीवरी बॉय भी बना दरिंदा, फ्लैट में अकेली महिला से की रेप करने की कोशिश

शूटिंग नेशनल चैंपियनशिप में जीता मेडल

दिल्ली से उन्होंने अपना ग्रेजुएशन कंप्लीट किया। यहां यूनिवर्सिटी लेवल पर शूटिंग चैंपियनशिप में शामिल होती रहीं। वर्ष 2009 में नेशनल चैंपियनशिप में हिस्सा बनीं, लेकिन बाद में सिविल सर्विस के लिए शूटिंग छोड़ दी। साल 2014 में उन्होंने सिविल सर्विस की परीक्षा पास की और टॉपर बनीं। उन्होंने आईएएस रैंक मिली। उसके बाद उनकी मसूरी में ट्रेनिंग हुई। जून 2015 को ट्रेनिंग पूरी होने के बाद उनकी पहली पोस्टिंग यूपी के मेरठ में बतौर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट हुई। यहीं रहते हुए उन्होंने बागपत के जौहड़ी में शूटिंग चैंपियनशिप का गोल्ड अपने नाम किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.