April 18, 2024, 10:59 pm

Flat Buyers Issues: ‘नो रजिस्ट्री, नो वोट’ के बैनर पर कार्रवाई को लेकर छलका रेसिडेंट्स का दर्द, डीएम को लिखा पत्र….

Written By: गली न्यूज

Published On: Monday April 1, 2024

Flat Buyers Issues: ‘नो रजिस्ट्री, नो वोट’ के बैनर पर कार्रवाई को लेकर छलका रेसिडेंट्स का दर्द, डीएम को लिखा पत्र….

Flat Buyers Issues: ग्रेटर नोएडा में लंबे समय से संघर्ष के बावजूद फ्लैट खरीदारों को उनके घर पर मालिकाना हक नही मिल पा रहा है। रजिस्ट्री की प्रक्रिया काफी प्रयासों के बावजूद भी शुरू नही हुई तो निवासियों ने अपनी मांग को पूरा करवाने के लिए सोसाइटी में “नो रजिस्ट्री नो वोट” के बैनर लगाए थे। जिसको लेकर प्रशासन द्वारा कार्रवाई के आदेश दिए गए थे और बैनर लगाने को मना किया गया था। इस बात को लेकर रेसिडेंट्स ने गौतमबुद्ध नगर के डीएम को पत्र लिखकर अपने अभिव्यक्ति के स्वतंत्रता संबंधी अधिकारों की मांग की है।

क्या है पूरा मामला

बतादें, सालों के संघर्ष के (Flat Buyers Issues) बावजूद भी जब फ्लैट की रजिस्ट्री का रास्ता साफ होता नही दिखाई दिया तो नोएडा और ग्रेटर नोएडा के रेसिडेंट्स ने अपनी मांगों को पूरा करने के लिए नया रास्ता निकाला था। आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर सरकार का ध्यान अपनी ओर खींचने के लिए फ्लैट खरीदारों ने सोसाइटी में जगह-जगह “नो रजिस्ट्री नो वोट” के बैनर लगाए थे। जिसको लेकर प्रशासन ने कार्रवाई के आदेश दिए थे और रेसिडेंट्स की ऐसा करने से रोका था। इसको लेकर अब ग्रेटर नोएडा में रेसिडेंट्स में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के अधिकार को लेकर मुहिम शुरू हो गई है। इस मामले में ग्रेटर नोएडा निवासी जोगिंदर सिंह ने बकायदा गौतम बुद्ध नगर के डीएम को पत्र लिखकर सूचित किया है।

यह भी पढ़ें…

Water Bill News: पानी के बिल में होगी 10 फीसदी बढ़ोतरी, प्राधिकरण ने बैठक में लिया निर्णय

पत्र के माध्यम से अभिव्यक्ति की आजादी की मांग की गई

पत्र में साफतौर पर लिखा गया है की प्रशासन द्वारा नागरिकों के “नो रजिस्ट्री नो वोट” के बैनर पर कार्रवाई करना, संविधान में वर्णित अभिव्यक्ति की आजादी के खिलाफ है। हर नागरिक को सरकार के सामने अपनी मांग को रखने और अपनी बात को कहने का अधिकार है। उस पर रोक लगाना पूरी तरह से गैरकानूनी है। इसलिए गौतमबुद्ध नगर जिले के नागरिक ऐसे किसी भी आदेश को मानने के लिए बाध्य नहीं हैं। हमारे अधिकारों को अगर कोई भी अधिकारी छीनने या हमारी अभिव्यक्ति की आजादी पर रोक लगाने की कोशिश करेगा, उसका पूरी तरह से सभी नागरिक मिलकर विरोध करेंगे।” यह पत्र डीएम को मेल किया गया है और नागरिकों की अभियक्ति की आजादी को बनाए रखने की अपील की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.