May 19, 2024, 1:04 pm

Lift Stuck: 3 घंटे तक लिफ्ट में फंसा मासूम, घबराहट से बचने के लिए किया पूरा होमवर्क…

Written By: गली न्यूज

Published On: Monday August 21, 2023

Lift Stuck: 3 घंटे तक लिफ्ट में फंसा मासूम, घबराहट से बचने के लिए किया पूरा होमवर्क…

Lift Stuck: नोएडा ग्रेटर नोएडा से आए दिन लिफ्ट अटकने की खबरे सामने आ रही है. रेजिडेंस का कहना है कि सुख सुविधा के लिए हाई राइज सोसाइट में रहते है. उस के लिए तमाम पैसे भी खर्च करते है. बावजूद इसके कोई सुख-सुविधा नहीं मिल पाती है. तजा मामला फरीदाबाद से सामने आया है. यहां 8 साल का मासूम 3 घंटे तक लिफ्ट में फंसा रहा(faridabad 8 year old boy stuck ). घबराहट से बचने के लिए बच्चे ने किया ऐसा काम किया जिसे सुन आप भी हो जाएगें हैरान.

मासूम की खतरे में जान

बता दें कि फरीदाबाद में दो अलग-अलग रेजिडेंशियल सोसाइटीज में दो दिन के भीतर लिफ्ट बंद होने के मामले सामने आए है. दोनों मामलों में दो बच्चे लिफ्ट के अंदर घंटों तक बंद रहे और उनकी सुध लेने वाला कोई भी नहीं था. जरा भी और देर हो जाती तो दोनों बच्चों की जान खतरे में पड़ सकती थी. हलांकि, लिफ्ट में बंद एक बच्चे ने बिना घबराए अपना ध्यान भटकाने के लिए लिफ्ट में ही अपना ट्यूश और स्कूल दोंनो का होमवर्क कर डाला(3 hours completed homework ). ये मामला मानसा फरीदाबाद(faridabad) के ओमेक्स सेसीडेंसी सोसाइटी का है.

कब हुआ हादसा

जानकारी के मुताबिक, 8 साल का मासूम(गौरवान्वित) 5 बजे ट्यूशन के लिए लिफ्ट से नीचे गया था. इस दौरान गौरवान्वित लिफ्ट में फंसा रह गया. काफी देर तक लिफ्ट में फंसे रहने के कारण गौरवान्वित घर नहीं पहुंचा तो परिवार के लोगों ने बच्चों को ढूढ़ना शुरू किया. परिवार के लोगों ने ट्यूशन में कॉल करके पूछा जिसके बाद पता चला आज गौरवान्वित ट्यूशन नहीं आया है. इसके बाद परिजनों ने उसे तलाशना शुरू किया. पता चला कि लिफ्ट शाम 5:00 बजे से बंद है. परिजनों को आशंका हुई कि कहीं उनका बेटा लिफ्ट में ही तो नहीं फंस गया है. तुरंत लिफ्ट प्रबंधक को इस बारे में जानकारी दी गई. जिसके बाद लिफ्ट को खोला गया तो देखा कि गौरवान्वित अंदर ही मौजूद था.

3 घंटे तक बंद रही लिफ्ट

बच्चे का परिजन इस बात से खासा नाराज दिखाई दिए की 3 घंटे से लिफ्ट बंद रही. लेकिन किसी ने भी यह जानने की कोशिश नहीं की कि लिफ्ट के अंदर क्या कोई बंद तो नहीं है. हालांकि, बच्चे का कहना है कि उसने जोर से आवाज भी लगाई और इमरजेंसी बटन भी दबाया. लेकिन कोई भी मदद के लिए नहीं आया. बच्चे ने बताया कि उसने अपना ध्यान भटकाने के लिए लिफ्ट में ही होमवर्क करना शुरू कर दिया.

दूसरा मामला

फरीदाबाद के एसआरएस रेजिडेंशियल सोसायटी का है. सोसाइटी के C7 टावर में फ्लैट नंबर 406 में रहने वाले विकास श्रीवास्तव ने बताया कि उनकी 11 साल साल की बेटी स्नेहा, जो कि छठी कक्षा में पढ़ती है रविवार शाम को लिफ्ट में फंसी रही. बच्ची के पिता ने बताया कि वह रोजाना दोपहर 3:00 बजे से ट्यूशन जाती है और 5:45 बजे तक आ जाती है. बीते कल यानी रविवार को भी वह 5:45 बजे तक वापस आ गई थी लेकिन 6:00 बजे वह फिर से चली गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published.