July 18, 2024, 8:20 pm

Delhi Minor Rape Case: अधिकारी ने दोस्त की बेटी से किया रेप, मामा बनकर दिया घिनौना काम को अंजाम

Written By: गली न्यूज

Published On: Tuesday August 22, 2023

Delhi Minor Rape Case: अधिकारी ने दोस्त की बेटी से किया रेप, मामा बनकर दिया घिनौना काम को अंजाम

Delhi Minor Rape Case: दिल्ली पुलिस ने नाबालिग से रेप मामले में महिला एवं बाल विकास विभाग में उपनिदेशक आरोपी प्रेमोदय खाका और उसकी पत्नी को गिरफ्तार कर लिया है. इससे पहले आरोपी अधिकारी को संस्पेंड किया जा चुका है. आरोपी प्रेमोदय खाका पर 14 साल की नाबालिग के साथ रेप का आरोप है. नाबालिग आरोपी के दोस्त के बेटी है. आरोपी 2020 से 2021 तक नाबालिग के साथ रेप करता रहा है. ये पूरा मामला ढाई साल से भी ज्यादा पुराना है, लेकिन अब जाकर सामने आया है. परिवार ने आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है.

क्या है पूरा मामला ?

पिता की मौत के बाद नाबालिग डिप्रेशन का शिकार हो गई थी, इस दौरान दिल्ली सरकार के महिला एवं बाल विकास विभाग में कार्यरत उपनिदेशक प्रेमोदय खाका हमदर्दी जताकर नाबालिग को अपने घर बुराड़ी ले आया. उसका कहना था कि बच्चों के साथ नाबालिग का मन बहल जाएगा, लेकिन किसी को पता नहीं था कि लड़की को अपने घर ले जाने की उसकी मंशा क्या है. आरोपी प्रेमोदय खाका ने लड़की को अपने घर लाने के कुछ ही दिनों बाद उसके साथ रेप करना शुरू कर दिया. नवंबर 2020 से लेकर फरवरी 2021 तक यह सिलसिला चलता रहा. आरोपी मुंहबोला मामा बनकर डरा-धमकाकर रेप करता रहा. इस कारण वो प्रेग्नेंट भी हो गई. प्रेग्नेंसी रोकने के लिए उसकी पत्नी सीमा रानी ने पीड़िता को अबॉर्शन पिल दी. इस दौरान पीड़िता किसी से कुछ नहीं कह पाई. किसी तरह अप्रैल 2021 में वह जिद करके अपनी मां के साथ वापस घर आ गई.

इस दौरान उसकी तबीयत बिगड़ती ही चली गई. मां इधर-उधर उसका इलाज करवाती रही, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ. सात अगस्त को पीड़िता को पैनिक अटैक आया तो उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया. इलाज के दौरान हुई काउंसलिंग में पीड़िता ने अपने दिल के राज खोले और मामले का खुलासा हुआ.

कहां का है पीड़ित परिवार ?

जानकारी के अनुसार, पीड़िता और उसका परिवार झारखंड का रहने वाला है. फिलहाल यह लोग उत्तर-पूर्वी दिल्ली के न्यू उस्मानपुर में रह रहे हैं. माता-पिता दोनों ही प्रिंसिपल थे. नाबालिग के जन्म से पहले साल 2002 में परिवार बुराड़ी स्थित चर्च जाता था. वहां इनकी मुलाकात आरोपी प्रेमोदय खाका से हुई. वह भी झारखंड का रहने वाला है. दोनों परिवार एक ही जाति के हैं, इसलिए इनकी नजदीकियां बढ़ गईं. आरोपी पीड़िता की मां को बहन कहने लगा. दोनों परिवारों का एक-दूसरे के घर आना जाना लगा रहता. इस बीच 2006 में लड़की का जन्म हुआ. बाद में आरोपी के कहने पर ही परिवार ने उत्तरी दिल्ली के एक स्कूल में उसका दाखिला करवाया.

ये भी पढ़ें-

Lucknow crime news: गैंगरेप के बाद लड़की को बेचा, ऐसे पहुंची पुलिस के पास और फिर…

 पिता की मौत से डिप्रेशन में नाबालिग 
एक अक्तूबर 2020 को किशोरी के पिता की मौत हो गई. इसके बाद डिप्रेशन का शिकार नाबालिग लड़की का स्कूल भी छूट गया. फिलहाल वह नेशनल ओपन स्कूल से पढ़ाई कर रही थी. इसके बाद पूरा घटनाक्रम हुआ. मौजूदा समय में पीड़िता सदमे से उभर नहीं पा रही है. डॉक्टर इलाज में लगे हैं. किसी भी परिजन को यकीन नहीं हो रहा है कि प्रेमोदय खाका ऐसी हरकत कर सकता है. अब परिवार ने आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है.
मुख्य सचिव ने आरोपी प्रेमोदय खाका को किया निलंबित
दोस्त की नाबालिग बेटी से रेप करने वाले दिल्ली सरकार के महिला एवं बाल विकास विभाग में कार्यरत उपनिदेशक प्रेमोदय खाका को मुख्य सचिव नरेश कुमार ने निलंबित कर दिया. मामला प्रकाश में आने के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार सुबह अधिकारी को निलंबित करने की सिफारिश की थी. सीएम की सिफारिश के बाद मुख्य सचिव ने प्रेमोदय के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उसे निलंबित कर दिया.
आप ने दुष्कर्म की घटना की निंदा की
आम आदमी पार्टी ने नाबालिग के साथ हुई दुष्कर्म की घटना की कड़ी निंदा की है. पार्टी ने कहा है कि इस तरह की घटना झकझोर कर देने वाली होती है. वहीं, आप ने भाजपा से पूछा है कि जब 13 अगस्त को एफआईआर दर्ज हो गई थी तो दिल्ली पुलिस ने आरोपी को तुरंत गिरफ्तार क्यों नहीं किया. पुलिस ने किसके दबाव में आरोपी अधिकारी को बचाया? आप ने इन सब मामलों को लेकर जांच की मांग की हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.