June 15, 2024, 7:59 pm

lift accident: इस सोसायटी में लिफ्ट में फंसे बच्चे और बुजुर्ग, मचा हड़कंप

Written By: गली न्यूज

Published On: Friday August 11, 2023

lift accident: इस सोसायटी में लिफ्ट में फंसे बच्चे और बुजुर्ग, मचा हड़कंप

Ghaziabad lift accident: नोएडा व गाजियाबाद की सोसायटियों से लिफ्ट खराब होने या उसमें लोगों के फंसे होने की खबरें लगातार आती रहती है. इसके बावजूद प्रशासन की ओर से इसको लेकर कोई सख्त कार्रवाई नहीं की जा रही है. यहां लिफ्ट गिरने से लोगों ने अपनी जान तक गवाई है. ताजा मामला गाजियाबाद (Ghaziabad news) के राजनगर एक्सटेंशन की चार्म्स कैसल सोसायटी (Charms Castle society) का है. चार्म्स कैसल सोसायटी के डी-टावर में लिफ्ट में दो बच्चे और दो बुजुर्ग फंस गए. करीब 25 मिनट तक फंसे रहने के बाद लिफ्ट तोड़कर बच्चों और बुजुर्गों को बाहर निकाला गया. सोसायटी के लोगों का आरोप है कि पिछले आठ महीने से लिफ्ट की सर्विस नहीं हुई है, जबकि बिल्डर द्वारा मैंटीनेंस जार्च समय से ले लिया जाता है.

क्या है पूरा मामला ?

गाजियाबाद के चार्म्स कैसल सोसायटी के डी-टावर की दसवीं मंजिल पर फ्लैट नंबर 1004 में रहने वाले बुजुर्ग लिफ्ट में सवार हुए, इन्हें ग्राउंड फ्लोर पर जाना था. इसके बाद लिफ्ट छठे फ्लोर पर रुकी. वहां फ्लैट नंबर 604 में रहने वाले दो बच्चे प्लेग्राउंड पर जाने के लिए लिफ्ट में सवार हो गए. उनके साथ एक बुजुर्ग महिला भी लिफ्ट में सवार हो गई. इन सभी लोगों को ग्राउंड फ्लोर पर जाना था. लेकिन, लिफ्ट ग्राउंड फ्लोर पर नहीं रुकी और माइनस टू के बेसमेंट में जाकर रुक गई. वहां तमाम कोशिशों के बाद भी लिफ्ट का दरवाजा नहीं खुला. मदद के लिए इंटरकॉम पर कॉल भी नहीं लग रही थी. उसके बाद लिफ्ट में बंद बुजुर्गों और बच्चों ने शोर मचाना शुरू कर दिया. एक बुजुर्ग के पास फोन था, उनके फोन से घर में लिफ्ट में फंसे होने की जानकारी दी गई. तब सिक्योरिटी को बुलाकर लिफ्ट में फंसे लोगों को बाहर निकाला गया. इस दौरान अपने आपको फंसा देखकर बच्चों और बुजुर्गों की तबीयत बिगड़ने लगी. लिफ्ट का गेट तोड़कर लकड़ी की सीढ़ी के जरिए बच्चों को बाहर निकाला गया. जिसके बाद से सोसायटी वालों में गुस्सा भरा हुआ है.

ये भी पढ़ें-

Mobile phone banned in Delhi schools: स्कूलों में मोबाइल पर लगी रोक, सरकार ने जारी की एडवाइजरी

सोसायटी के लोगों का कहना है कि करीब आठ महीने पहले लिफ्ट की मरम्मत कराई गई थी. आए दिन लिफ्ट सोसायटी के किसी न किसी टावर फंसती रहती है. कई बार बिल्डर से मेंटेनेंस समय पर कराने के लिए कहा गया लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई. यहां तक लिफ्ट संचालन के लिए ऑपरेटर तक की व्यवस्था नहीं है.

ये भी देखें-

पहले भी हुए है हादसे

एनसीआर में बार-बार ऐसे हादसों से भी सोसाटियों का प्रबंधन सबक नहीं ले रहा है.इससे पहले तीन अगस्त को नोएडा में सेक्टर-137 स्थित पारस टियेरा सोसाइटी में बड़ा हादसा हुआ था. जिसमें 50 मिनट तक लिफ्ट में फंसने से सुशीला देवी (70) की मौत हो गई थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.