June 12, 2024, 9:59 pm

Greater noida news: ग्रेटर नोएडा में बुलंदशहर प्राधिकरण बसाएगा टाउनशिप, जानिए किसको होगा फायदा

Written By: गली न्यूज

Published On: Monday September 4, 2023

Greater noida news: ग्रेटर नोएडा में बुलंदशहर प्राधिकरण बसाएगा टाउनशिप, जानिए किसको होगा फायदा

Greater noida news: ग्रेटर नोएडा में दो गांव की जमीन पर बुलंदशहर विकास प्राधिकरण (Bulandshahr Development Authority) टाउनशिप बसाने जा रहा है. दोनों गांवों के किसानों को कितना मुआवजा दिया जाएगा, यह तय गौतमबुद्ध नगर जिला प्रशासन ने किया है. बुलंदशहर विकास प्राधिकरण के अंतर्गत आने वाले दोनों गांव के किसानों को 4125 प्रति वर्गमीटर के हिसाब से मुआवजा दिया जाएगा.

210 एकड़ जमीन पर बसने वाला है यह टाउनशिप

यह बुलंदशहर विकास प्राधिकरण की ग्रेटर नोएडा में चौथी टाउनशिप होगी. जो दो गांव की जमीन पर बनेगी. करीब 210 एकड़ जमीन पर बसने वाली यह टाउनशिप आवासीय से लेकर औद्योगिक और व्यवसायिक होगी. जानकारी के मुताबिक टाउनशिप के लिए जमीन खरीदने को लेकर प्रक्रिया चल रही है.

जानकारी के अनुसार कैमराला-चक्रसेनपुर और घोड़ी बछेड़ा गांव ग्रेटर नोएडा की जमीन पर बसे हुए है. इन दोनों गांव की जमीन दो प्राधिकरण के अनुसूचित हिस्से में आती है. दिल्ली-हावड़ा रेल मार्ग के एक तरफ ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की जमीन है और दूसरी तरफ बुलंदशहर विकास प्राधिकरण की जमीन है. अब बुलंदशहर विकास प्राधिकरण अपने गांव की जमीन पर टाउनशिप विकसित करेगा. टाउनशिप बनने के बाद फायदा बुलंदशहर के अलावा गौतमबुद्ध नगर के लोगों को होगा. यहां पर आवासीय के अलावा औद्योगिक और व्यवसायिक भूखंड शामिल किए जाएंगे.

ये भी पढ़ें-

Mumbai crime news: फ्लैट से ट्रेनी एयर होस्टेस का मिला शव, बहन और बॉयफ्रेंड के साथ रहती थी लड़की

बुलंदशहर विकास प्राधिकरण 5100 रुपए प्रति वर्ग मीटर की दर से जमीन खरीदने के लिए तैयार था. जबकि इस जमीन का सर्किल रेट 1700 रुपए प्रतिवर्ग मीटर है. मतलब साफ है कि बुलंदशहर विकास प्राधिकरण इन गांव की जमीन खरीदने के लिए ज्यादा मुआवजा देता. जिससे किसान आसानी से सहमत हो जाते, लेकिन गौतमबुद्ध नगर जिला प्रशासन ने मुआवजे की राशि 4125 तय की है.

प्रशासन ने 4125 प्रति वर्ग मीटर मुआवजा तय किया

दरअसल, ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण अपने इलाके के किसानों को 4125 प्रति वर्ग मीटर के हिसाब से मुआवजा देता है. अगर बुलंदशहर विकास प्राधिकरण 5100 प्रति वर्ग मीटर की दर से मुआवजा देता तो किसानों के बीच टकराव की स्थिति पैदा हो जाती. अब कैमराला-चक्रसेनपुर और घोड़ी बछेड़ा के ग्रामीणों को 4125 यानी कि ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण से प्रभावित किसानों के बराबर मुआवजा मिलेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.