June 12, 2024, 7:47 pm

Uttar Pradesh news: लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी BJP, संगठन में किया बड़ा फेरबदल, एक झटके में बदले इतने जिलाध्यक्ष

Written By: गली न्यूज

Published On: Friday September 15, 2023

Uttar Pradesh news: लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी BJP, संगठन में किया बड़ा फेरबदल, एक झटके में बदले इतने जिलाध्यक्ष

Uttar Pradesh news: यूपी में 2024 लोकसभा चुनाव (2024 Lok Sabha elections in UP) से पहले BJP ने बड़ा फेरबदल किया है. भाजपा ने 66 जिलों के नए जिलाध्यक्ष घोषित किए हैं. वहीं, 32 जिला अध्यक्षों पर पार्टी ने दोबारा भरोसा जताया है. 2024 लोकसभा चुनाव को देखते हुए जातीय और क्षेत्रीय समीकरणों को भाजपा ने इस बदलाव के जरिए साधा है. सबसे महत्वपूर्ण यह है कि बड़े शहरों में जिला अध्यक्षों को पार्टी ने पूरी तरह बदल दिया है. बता दें कि, गौतमबुद्ध नगर में कोई बदलाव नहीं किया गया है.

बनारस के जिला अध्यक्ष बने MLC हंसराज विश्वकर्मा 

वहीं, इस बार पूर्व विधायक और MLC को भी जिलाध्यक्ष का प्रभार सौंपा गया है. इस क्रम में MLC हंसराज विश्वकर्मा को बनारस का जिला अध्यक्ष बनाया गया है. वहीं बलिया की कमान पूर्व विधायक संजय यादव को सौंपा गया है. वहीं आगरा, बरेली समेत कई जिलों के जिलाध्यक्ष नहीं बदले गए हैं. पुराने चेहरों पर भरोसा जताया गया है.

इस बदलाव के जरिए भाजपा न केवल क्षेत्रीय समीकरणों को साधने की कोशिश किया, बल्कि जातीय समीकरणों को भी साधने पर उसका फोकस रहा. उत्तर प्रदेश में OBC वोट बैंक की बात करें, तो वह सबसे ज्यादा तकरीबन 52% है. चाहे 2014 के लोकसभा चुनाव रहे हों या फिर 2019 का…OBC समाज ने बीजेपी का हर चुनाव में साथ दिया है. लगातार भाजपा सत्ता में बनी रही है. इसीलिए अब OBC वोट बैंक को साथ लाने के लिए बीजेपी इस बदलाव में भी OBC चेहरों को ज्यादा मौका दिया है. भारतीय जनता पार्टी ने कुल 98 लोगों की लिस्ट जारी की है. इसमें 50 जिलाध्यक्ष बदले गए हैं. बाकी कई शहरों के महानगर कमेटियों की जिम्मेदारी नए चेहरों को दी गई है.

कानपुर के 3 जिलाध्यक्षों के चेहरे बदले

कानपुर में भाजपा ने तीनों ही जिलाध्यक्षों को बदल दिया है. कानपुर नगर में उत्तर की जिम्मेदारी दीपू पांडेय को सौंपी गई है. जबकि कानपुर दक्षिण की जिम्मेदारी शिवराम सिंह को दी गई है. वहीं कानपुर ग्रामीण का जिम्मा दिनेश कुशवाहा को दिया गया है.

पश्चिम क्षेत्र में सबसे ज्यादा जिलाध्यक्ष बदले गए

पश्चिम क्षेत्र में बीजेपी के कुल 19 संगठनात्मक जिले हैं. इसमें सबसे ज्यादा 16 जिला अध्यक्ष पश्चिम में भाजपा ने बदल दिए हैं. जबकि केवल तीन जिलों में ही जिला अध्यक्ष को भाजपा ने रिपीट किया है.

वहीं, पश्चिम क्षेत्र के जिन जिला अध्यक्षों को बदला गया है, उसमें बुलंदशहर, संभल, बागपत, गौतम बुद्ध नगर, हापुड़, गाजियाबाद जिला, मेरठ महानगर, मेरठ जिला, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर महानगर, बिजनौर, अमरोहा मुरादाबाद जिला, मुरादाबाद महानगर, रामपुर और शामली जिले शामिल हैं. जिन जिला अध्यक्षों को रिपीट किया गया है, उनमें नोएडा महानगर, गाजियाबाद महानगर और सहारनपुर जिला के जिला अध्यक्ष शामिल हैं.

बृज क्षेत्र में 10 जिलाध्यक्ष बदले

बृज क्षेत्र में कुल 19 संगठनात्मक जिले हैं. इनमें से 10 जिलों में अध्यक्षों को बदला गया है. जबकि 9 को रिपीट किया गया है. जिन 10 जिलों में बदलाव किया गया है, उनमें शाहजहांपुर महानगर, आंवला, बरेली महानगर, मैनपुरी, हाथरस, अलीगढ़ जिला, अलीगढ़ महानगर, फिरोजाबाद जिला, मथुरा जिला, मथुरा महानगर शामिल हैं. जिन जिलों में अध्यक्ष को रिपीट किया गया है, उनमें बदायूं, पीलीभीत, शाहजहांपुर जिला, बरेली जिला, कासगंज, एटा, फिरोजाबाद महानगर, आगरा जिला आगरा महानगर शामिल हैं.

कानपुर क्षेत्र में 13 जिलाध्यक्ष बदले, 4 रिपीट

कानपुर क्षेत्र में कुल 17 संगठनात्मक जिले हैं. इनमें 13 जिलाध्यक्षों को भाजपा ने बदल दिया है. जबकि चार अध्यक्षों को पार्टी ने रिपीट किया है. कानपुर क्षेत्र में जो अध्यक्ष बदले गए हैं, उनमें झांसी जिला, झांसी महानगर, फतेहपुर, जालौन, हमीरपुर, चित्रकूट, महोबा औरैया, कन्नौज, कानपुर ग्रामीण, कानपुर देहात, कानपुर महानगर दक्षिण, कानपुर महानगर उत्तर शामिल हैं. जिन जिला अध्यक्षों को रिपीट किया गया है, उनमें ललितपुर, बांदा, फर्रुखाबाद और इटावा शामिल हैं.

अवध क्षेत्र में 10 जिलाध्यक्ष बदले, 5 रिपीट

अवध क्षेत्र में कुल 15 संगठनात्मक जिले आते हैं. इनमें से 10 जिलों में अध्यक्ष को बदला गया है. जबकि 5 जिलों में अध्यक्ष रिपीट किए गए हैं. जिन जिलों में अध्यक्ष बदले गए हैं, उनमें श्रावस्ती, सीतापुर, बहराइच, बाराबंकी, अयोध्या महानगर, अंबेडकर नगर, हरदोई, रायबरेली, लखनऊ महानगर और लखनऊ जिला शामिल हैं. जिन जिलों में अध्यक्ष रिपीट किए गए हैं, उनमें अयोध्या जिला, उन्नाव, गोंडा, बलरामपुर और लखीमपुर शामिल है.

ये भी पढ़ें-

Noida news: नोएडा की इस सोसायटी के एक फ्लैट में भरा पानी, जान जाते-जाते बची

गोरखपुर क्षेत्र में 7 जिलाध्यक्ष बदले, 5 रिपीट

गोरखपुर क्षेत्र में कुल 12 जिले आते हैं. इनमें से कुल 7 जिलों में जिला अध्यक्ष बदले गए हैं. जबकि 5 जिलों में जिला अध्यक्ष रिपीट किए गए हैं. हालांकि इनमें दो जिलों में अभी तक प्रभारी जिला अध्यक्ष के तौर पर काम देख रहे लोगों को ही अब जिला अध्यक्ष बना दिया गया है. जिन जिलों में अध्यक्ष बदले गए हैं, उनमें बलिया, बस्ती, कुशीनगर, मऊ, आजमगढ़, देवरिया लालगंज है. जिन जिलों में अध्यक्ष रिपीट हुए हैं, उनमें संत कबीर नगर, गोरखपुर जिला, गोरखपुर महानगर शामिल हैं. सिद्धार्थनगर और महाराजगंज में प्रभारी को ही जिला अध्यक्ष घोषित किया गया है.

काशी क्षेत्र के 10 जिलों में बदलाव

काशी क्षेत्र में कुल 16 संगठनात्मक जिले हैं. इनमें से 10 जिलों में बदलाव किया गया है. जबकि 6 जिलों में अध्यक्षों को रिपीट किया गया है. जिन जिलों में बदलाव किया गया है, उनमें चंदौली, अमेठी, प्रतापगढ़, सोनभद्र, कौशांबी, प्रयागराज गंगापार, प्रयागराज महानगर, प्रयागराज यमुनापार, गाजीपुर, भदोही शामिल हैं.

वहीं, जिन जिलों में रिपीट किया गया है, उनमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र वाराणसी महानगर, वाराणसी जिला, सुल्तानपुर,मिर्जापुर, मछली शहर और जौनपुर शामिल है. बीजेपी एक व्यक्ति एक पद के सिद्धांत की बात करती है, लेकिन वाराणसी जिले के जिलाध्यक्ष हंसराज विश्वकर्मा को पार्टी ने एमएलसी बनाया और इस बार भी रिपीट किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.