May 19, 2024, 1:06 pm

Greater Noida West Water Problem: सोसायटी में लोगों को नहीं मिल रहा है पानी, लेकिन सड़कों पर कई दिनों से बहता दिखा गंगाजल

Written By: गली न्यूज

Published On: Saturday September 9, 2023

Greater Noida West Water Problem: सोसायटी में लोगों को नहीं मिल रहा है पानी, लेकिन सड़कों पर कई दिनों से बहता दिखा गंगाजल

Greater Noida West Water Problem: नोएडा और ग्रेटर नोएडा वेस्ट में इन दिनों पानी की समस्या दिन पर दिन बढ़ती जा रही है. सोसायटी वासी इस समस्या से काफी परेशान है,  पर इस ओर किसी भी संबंधित अधिकारी का ध्यान नहीं जा रहा है. वहीं, ग्रेटर नोएडा वेस्ट की एस एस्पायर सोसाइटी (Ace Aspire Society) के पास पानी की पाइप लाइन फट गई. गुरुवार से फटी लाइन से निकल कर बह रहे पानी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. लाखों लीटर पानी बर्बाद हो रहा है. अथॉरिटी के सारे दावे फेल हो गए है. बड़ी बात यह है कि शहर में पानी की कमी से लोगों को पानी नहीं मिल पा रहा है और यहां सड़कों पर पानी बह रहा है इसके बावजूद इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहा है.

लोगों का कहना है कि योगी आदित्यनाथ ने अपने दो दिवसीय दौरे के दौरान ग्रेटर नोएडा में गंगाजल आपूर्ति परियोजना की शुरुआत की. अथॉरिटी अड़चनों, विवादों को 17 सालों में दूर नहीं कर पाई है. अब भी सेक्टरों में पानी नहीं आ रहा है. इसके कारण लोगों को काफी परेशानी झेलनी पड़ रही है.

इन सेक्टरों में सप्लाई हो रहा पानी

घर-घर पानी पहुंचाने के लिए शहर में 176 किलोमीटर पाइपलाइन का नेटवर्क बिछाया गया है. करीब 5 एकड़ जमीन में 19 रिजर्व वायर का निर्माण किया है. इस परियोजना पर 376 करोड़ रुपए की धनराशि खर्च हुई है. फिलहाल जिन सेक्टरों में पानी पहुंच रहा है उनमें आवासीय सेक्टर अल्फा-1, 2, बीटा-1, 2, गामा-1, 2, ईटा-1, डेल्टा-1, 2, 3 ईटा-2, नॉलेज पार्क-3, नॉलेज पार्क-2, ओमेगा-1, 2 सेक्टर पी-3 में पाई-1, सेक्टर पी-4 में पाई-2, चाई-1, 2 सेक्टर पी-7 और सेक्टर पी-8 समेत 36 आवासीय और इंस्टीट्यूशनल सेक्टर शामिल हैं. इसके अलावा प्राधिकरण की तरफ से तमाम सेक्टरों में पानी आपूर्ति को दावा किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें-

Ghaziabad dog attack: इस सोसायटी में जर्मन शेफर्ड ने बच्चे को काटा, परिजनों ने किया मुकदमा दर्ज

बता दें कि, गंगाजल अवसंरचना परियोजना का उद्घाटन पिछले साल अक्टूबर में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया था. जिसका उद्देश्य निवासियों को पानी पहुंचाना था. क्योंकि प्राधिकरण का भूजल खारा है. उसके बावजूद 11 महीने बीत जाने के बाद भी शहर में पानी सप्लाई की पाइपलाइन जगह-जगह से फट रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.