July 18, 2024, 8:06 pm

Greater Noida West news: इस सोसायटी में मंदिर हटाने पर भड़के लोग, बिल्डर के खिलाफ प्रदर्शन जारी

Written By: गली न्यूज

Published On: Saturday August 19, 2023

Greater Noida West news: इस सोसायटी में मंदिर हटाने पर भड़के लोग, बिल्डर के खिलाफ प्रदर्शन जारी

Greater Noida West news:  ग्रेटर नोएडा वेस्ट के गौर सिटी में एक बार फिर से हंगामा शुरू हो गया है. इस बार विवाद एक मंदिर को लेकर है. आरोप है कि बिल्डर ने सोसायटी में बने हनुमान मंदिर को हटा दिया है. वहीं, बिल्डर की ओर से कहा गया है कि मंदिर पार्किंग एरिया में अवैध तरीके से बनाया गया था. इस घटनाक्रम के विरोध में सोसायटी के लोग घरों से बाहर निकलकर प्रदर्शन पर उतर आए हैं. जिसको लेकर सोसायटी वालों की ओर से लगातार प्रदर्शन किया जा रहा है. पुलिस की घटना की जानकारी दी गई. सूचना मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंची है.

पुलिस मामले में दोनों पक्षों के बीच समझौता कराने की कोशिश कर रही है, लेकिन अभी तक कोई भी पक्ष पीछे हटने को तैयार होता नजर नहीं आ रहा.

ये देखें-

 

क्या है पूरा मामला ?

ग्रेटर नोएडा वेस्ट की गौड़ सिटी-2 के 14 एवेन्यू सोसायटी के एफ टावर में रहने वाले लोगों ने पिछले दिनों सोसायटी के अंदर एक हनुमान की मूर्ति रखवा दी थी और उसकी पूजा पाठ शुरू कर दी. लेकिन शनिवार की सुबह जब लोग इस मंदिर के पास पहुंचे तो सबकुछ साफ था. सोसायटी के लोगों का आरोप है कि बिल्डर ने रात में चुपके से मंदिर और मूर्ति को हटा दिया है. इस घटना की जानकारी जब बाकी लोगों को मिली तो सोसायटी के सभी लोग गुस्सा हो गए. जिसके बाद घटना के विरोध में लोगों का आक्रोश थमने का नाम नहीं ले रहा. लोगों की भीड़ बढ़ती जा रही है. सोसायटीवासी बिल्डर पर हिंदू विरोधी होने का आरोप लगाते हुए प्रदर्शन कर रहे हैं.

बिल्डर का कहना है कि सोसायटी के लोगों ने बिना अनुमति के पार्किंग में हनुमान जी की मूर्ति स्थापित की थी. सोसायटी वालों को मंदिर हटाने के लिए नोटिस दिया गया था लेकिन इसके बावजूद उन्होंने हनुमान जी की मुर्ती नहीं हटाई. जिससे मजबूरन हमें मूर्ति हटानी पड़ी.

ये भी पढ़ें-

Dog acid attack: बिल्ली की वजह से कुत्ते पर एसिड अटैक, महिला की इस हरकत से लोग हैरान

सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने सोसायटी वासियों को शांत कराने की कोशिश की. उन्होंने बताया कि सोसायटी के लोगों ने पार्किंग की जमीन पर कब्जा कर अवैध तरीके से मंदिर बनाया था. सोसायटी के ही किसी व्यक्ति ने इस संबंध में बिल्डर और मेंटिनेस डिपार्टमेंट में शिकायत की थी. इसके बाद मेंटेनेंस डिपार्टमेंट ने इस मंदिर को हटा दिया है. इस मामले में दोनों पक्षों से बातचीत कर बीच का रास्ता निकालने की कोशिश की जा रही है. मेंटेनेंस टीम की ओर से बताया गया कि बाजार में मिलने वाले मार्बल्स से बने मंदिर में मूर्ती स्थपित की गई थी. पार्किंग होने के कारण किसी गाड़ी के टकराने से मूर्ती खंडित हो सकती थीं जिसको देखते हुए वहां से मूर्ती को हटा दिया गया है. पुलिस मौके पर मौजूद है. कानून व्यवस्था संबंधित कोई समस्या नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.