April 18, 2024, 11:39 pm

ED FIR On Supertech RK Arora: सुपरटेक बिल्डर पर अब तक का सबसे बड़ा खुलासा, इन कंपनियों में भेजे 650 करोड़ रुपए।

Written By: गली न्यूज

Published On: Friday June 30, 2023

ED FIR On Supertech RK Arora: सुपरटेक बिल्डर पर अब तक का सबसे बड़ा खुलासा, इन कंपनियों में भेजे 650 करोड़ रुपए।

ED FIR On Supertech RK Arora: सुपरटेक ग्रुप के प्रमोटर आरके अरोड़ा इस वक्त प्रवर्तन निदेशालय के कस्टडी में हैं। ईडी की एक स्पेशल टीम लगातार पूछताछ कर रही है। एक एक रुपए का हिसाब जुटा रही है। पता लगा रही है कि आर के अरोड़ा और टीम ने किस तरह से हेर फेर की है। इस बीच गली न्यूज़ की टीम को FIR की कॉपी हाथ लगी है। इस FIR में आरके अरोड़ा पर लगाए गए आरोप का पूरा विवरण है।

FIR में क्या क्या 

प्रवर्तन निदेशालय ने आरके अरोड़ा के खिलाफ जो एफ आई आर दर्ज की है उसमें आरके अरोड़ा पर गंभीर आरोप लगे हैं। इसे FIR में साफ-साफ किस बात का जिक्र किया गया है किस सुपरटेक ने अपने फ्लैट खरीदारों के साथ धोखाधड़ी की है।

https://gulynews.com को मिली Exclusive जानकारी के मुताबिक सुपरटेक के मुखिया आरके अरोड़ा ने प्रपोज्ड प्रोजेक्ट्स के लिए प्राधिकरण से जरूरी मंजूरी तक नहीं ली।

प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत आरके अरोड़ा के खिलाफ  जांच चल रही है। ईडी की टीम बैंक खातों को खंगाल रही है। कस्टमर्स ने जो रुपए कंपनी को दिए और वो कहां कहां खर्च किया गया उसका पूरा पता लगा रही है।

चौंकाने वाली जानकारी सामने आई
  • ईडी की टीम ने जो शुरुआती जांच की है उसके मुताबिक कई बड़े खुलासे हुए हैं। ईडी को पता चला है कि 444 करोड़ों रुपया सुपरटेक ने सर्व रियल्टर्स (Sarv Realtors) के शेयर्स को खरीदने में खर्च किए।
  • जांच में यह भी पता चला है कि सर्व रियल्टर्स को सुपरटेक ने एक नए प्रोजेक्ट को लॉन्च करने के लिए खरीदा। सर्व रियल्टर्स के जरिए सुपरटेक ने 27.5 एकड़ की एक जमीन खरीदी। बड़ी बात यह है कि सुपरटेक ने यह पेमेंट किसी दूसरे प्रोजेक्ट के लिए लिए गए रुपयों से किया।
  • ईडी की जांच में यह जानकारी भी सामने आई है कि सुपरटेक की सब्सिडियरी कंपनी एएसपी सरीन (ASP Sarin) में 158 करोड़ रुपए साल 2012-16 के बीच क्रेडिट किए गए
  • इन रुपयों से एएसपी सरीन नाम की कंपनी ने जमीन खरीदा
  • साल 2020 के बैंक खाते के मुताबिक मएएसपी सरीन कंपनी को 6.5 करोड़ का घाटा हुआ
  • सबसे हैरान करने वाली बात यह है कि जो फाइनेंशियल ट्रांजैक्शंस दिखाया गया उसमें एक्चुअल टर्नओवर और कोई भी रियल इनकम नहीं किया गया था

मिली जानकारी के मुताबिक करीब 638 करोड़ों रुपया सुपरटेक ने अपने प्रमोटर्स, डायरेक्टर और अपने खास लोगों की कंपनियों में ट्रांसफर किए जमीन खरीदने के लिए।

पूछताछ में अरोड़ा ने क्या बताया

जब आरके अरोड़ा से सर्व रियल्टर्स के बारे में पूछा गया तो उन्होंने साफ साफ बताया कि कंपनी के वैल्यूएशन को carried out नहीं किया गया। इतना ही नहीं आरके अरोड़ा ने इस बात को कबूल किया है कि सर्व रियल्टर्स की खरीद में वही मुख्य डिसाइडिंग अथॉरिटी थे। बता दें कि सुपरटेक ने सर्व रियल्टर्स को करीब 450 करोड़ रुपए में खरीदा है।

हैरान करने वाली बात यह है कि सुपरटेक ने इसके बाद भी पेमेंट जारी रखा, इस जानकारी के बाद भी कि जो जमीन खरीदी गई है वह डिस्प्यूटेड है यानी कि वह विवादित है।

बड़ी बात यह है कि यह जो कंपनी बनाई गई थी उन कंपनियों का कोई भी कमर्शियल एक्टिविटीज नहीं है । यह कंपनी केवल फाइनेंशियल ट्रांजैक्शंस को अंजाम देने के लिए सुपरटेक ने बनाया था। अब ईडी इस पूरे मामले की गहराई से पड़ताल कर रही है। एक एक ट्रांजेक्शन का ब्योरा खंगाला जा रहा है। उम्मदी जताई जा रही है कि जल्द ही इस बारे में और बड़े खुलासे होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.