July 18, 2024, 7:48 pm

Supertech Group: आरके अरोड़ा के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल, मुश्किलें और बढ़ सकती है

Written By: गली न्यूज

Published On: Friday August 25, 2023

Supertech Group: आरके अरोड़ा के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल, मुश्किलें और बढ़ सकती है

Supertech Group: सुपरटेक ग्रुप के चेयरमैन आरके अरोड़ा के मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही है. ईडी की गिरफ्तारी के बाद सुपरटेक ग्रुप को उम्मीद थी कि जल्दी ही वह आरके अरोड़ा की जमानत करवा लेंगे लेकिन अब जो तस्वीर दिखाई दे रही है उसमें आरके अरोड़ा की परेशानी और बढ़ने वाली है.गुरुवार को आरके अरोड़ा के खिलाफ कोर्ट में 100 पेज का आरोप पत्र दाखिल किया है। जिसमें उसके ऊपर बेहद गंभीर आरोप लगाए गए हैं।

ईडी की चार्जशीट में क्या 

सुपरटेक ग्रुप (Supertech Group) के चेयरमैन आरके अरोड़ा की गिरफ्तारी के बाद प्रवर्तन निदेशालय ने इस मामले में आरोप पत्र कोर्ट में दाखिल कर दिया है. इसरो पत्र में आरके अरोड़ा के खिलाफ 164 करोड रुपए की मनी लांड्रिंग का आरोप लगाया गया है. प्रवर्तन निदेशालय की माने तो आरके अरोड़ा ने बड़ी ही चालाकी के साथ इस काम को अंजाम दिया.

किस तरह की मनी लॉन्ड्रिंग

प्रवर्तन निदेशालय की चार्जशीट में आरके अरोड़ा के खिलाफ बेहद गंभीर आरोप लगाए गए हैं. चार्जशीट के मुताबिक आरके अरोड़ा ने अपनी 8 सहयोगी कंपनी के साथ मिलकर कई फ्लैट खरीदारों को धोखा दिया है.

परिवर्तन निदेशालय ने धोखाधड़ी, ठगी और घर खरीदारों के साथ फ्रॉड के मामले में सुपरटेक बिल्डर आरके अरोड़ा के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है. इसको दिल्ली के विशेष न्यायाधीश देवेंद्र कुमार की कोर्ट में दाखिल किया गया. आरोप पत्र में कोर्ट से अपील की गई है कि आरके अरोड़ा के खिलाफ एक्शन लेने के लिए ठोस सबूत मौजूद है.

फ्लैट खरीदारों का पैसा डायवर्ट किया

उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा और दिल्ली के सैकड़ों फ्लैट खरीदारों ने सुपरटेक समूह की कंपनियों के खिलाफ मुकदमे दर्ज करवाए हैं. फ्लैट खरीदारों का आरोप है कि उनके पैसे को इस समूह की कंपनियों ने अवैध रूप से दूसरे कारोबार में डायवर्ट किया है. इन शिकायतों को संयुक्त रूप से प्रवर्तन निदेशालय ने प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत जांच शुरू की. जिसमें यह तथ्य सामने आए हैं कि सुपरटेक समूह की कंपनियों ने फ्लैट खरीदारों का पैसा गैरकानूनी ढंग से डायवर्ट किया है.

28 अगस्त को अगली सुनवाई

इस मामले में अभी सुनवाई अब 28 अगस्त को होगी. आरके अरोड़ा अभी जेल में बंद है। आरके अरोड़ा 27 जून 2023 से जेल में बंद है.परिवर्तन निदेशालय ने धोखाधड़ी, ठगी और घर खरीदारों के साथ फ्रॉड के मामले में सुपरटेक बिल्डर आरके अरोड़ा के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है. इसको दिल्ली के विशेष न्यायाधीश देवेंद्र कुमार की कोर्ट में दाखिल किया गया. आरोप पत्र में कोर्ट से अपील की गई है कि आरके अरोड़ा के खिलाफ एक्शन लेने के लिए ठोस सबूत मौजूद है.आरोप पत्र में सुपरटेक बिल्डर के 8 साथियों के नाम भी शामिल किए गए हैं. करीब 100 पेज के आरोप पत्र में कहा गया है कि आरके अरोड़ा और उसकी कंपनी ने 164 करोड रुपए से अधिक करोड़ रुपए का फ्रॉड किया है. इस ठगी में नोएडा, ग्रेटर नोएडा और एनसीआर की काफी मामले शामिल हैं। परिवर्तन निदेशालय के विशेष लोक अभियोजक एनके भट्ट और वकील मोहम्मद फैजान खान ने चार्जशीट में कहा है कि आरके अरोड़ा के खिलाफ 36 मुकदमों की जांच की जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.