June 23, 2024, 8:10 pm

Smart Prepaid Meter: इन इलाकों में लगाए जाएंगे प्रीपेड मीटर, रेडियो फ्रीक्वेंसी के आधार पर करेंगे काम

Written By: गली न्यूज

Published On: Saturday June 8, 2024

Smart Prepaid Meter: इन इलाकों में लगाए जाएंगे प्रीपेड मीटर, रेडियो फ्रीक्वेंसी के आधार पर करेंगे काम

Smart Prepaid Meter: दिल्ली एनसीआर के इलाकों में बिजली की आपूर्ति को बेहतर बनाने और बिजली की चोरी जैसी दिक्कतों से निजात पाने के लिए बिजली विभाग ने नई योजना बनाई है। इसके अंतर्गत जल्द ही ग्रेटर नोएडा के ग्रामीण इलाकों को जल्द ही रेडियो फ्रीक्वेंसी (आरएफ) आधारित स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाकर रोशन किया जाएगा। पावर कॉरपोरेशन ने इसकी तैयारी कर ली है। फिलहाल ग्रेटर नोएडा के जेवर, रबूपुरा और दनकौर कस्बे में इन मीटरों को लगाने का निर्णय लिया गया है।

क्या है पूरा मामला

बतादें, ग्रेटर नोएडा (Smart Prepaid Meter) के ग्रामीण इलाकों को जल्द ही रेडियो फ्रीक्वेंसी (आरएफ) आधारित स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाकर रोशन किया जाएगा। पावर कॉरपोरेशन ने इसकी तैयारी कर ली है। फिलहाल ग्रेटर नोएडा के जेवर, रबूपुरा और दनकौर कस्बे में इन मीटरों को लगाने का निर्णय लिया गया है। बिजली उपभोक्ताओं के घरों के गेट पर स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाए जायेंगे। री-रैंप योजना के तहत बिजली निगम ने जिले में 24 किलोवाट तक के करीब दो लाख उपभोक्ताओं के घरों पर स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाने का निर्णय लिया है।

नेटवर्क की समस्या से अटकी थी योजना

बिजली निगम के अधिकारियों ने बताया कि मीटर लगाने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में सर्वे कराया गया था। सर्वे में नेटवर्क की समस्या के कारण मीटर लगाने की योजना अटकी हुई थी। इस समस्या का समाधान निकालते हुए अब आरएफ आधारित स्मार्ट मीटर लगाने का निर्णय लिया गया है। बिजली निगम के अधिकारियों के मुताबिक अगले कुछ दिनों में आरएफ स्मार्ट मीटर लगाने का काम शुरू हो जाएगा। इससे उपभोक्ताओं से बिल वसूली की समस्या भी खत्म हो जाएगी। उपभोक्ता अपनी सुविधानुसार रिचार्ज कराकर बिजली का उपभोग कर सकेंगे।

ट्रैकिंग डिवाइस से होगा लैस

निगम अधिकारियों के मुताबिक स्मार्ट मीटर ट्रैकिंग डिवाइस से लैस होगा। यह जीपीएस (ग्लोबल नेविगेशन सिस्टम) की तरह काम करेगा। हर मीटर पर एक कोड होगा। इसके जरिए अधिकारी भी जब चाहें उपभोक्ता के मीटर की रीडिंग अपने कंप्यूटर या मोबाइल पर देख सकेंगे। बिजली चोरी या मीटर से किसी तरह की छेड़छाड़ होने पर यह डिवाइस तुरंत संबंधित अधिकारियों के मोबाइल पर एसएमएस से इसकी सूचना भेजेगी।

यह भी पढ़ें…

Viral Video: महिलाओं की गुंडागर्दी, कैब ड्राइवर से की मारपीट

कोड से मोबाइल और ई-मेल होगा रजिस्टर्ड

उन्होंने बताया कि ट्रैकिंग डिवाइस के कोड से उपभोक्ता का मोबाइल और ई-मेल रजिस्टर्ड होगा। अधिकारियों के मुताबिक प्रीपेड मीटर सामान्य मीटर से अलग दिखेगा। इसमें बिजली की यूनिट के साथ उपभोक्ता द्वारा रिचार्ज की गई कीमत भी दिखाई देगी। इन आधुनिक मीटरों में लगा प्लांट कीमत कम होने पर उपभोक्ता के मोबाइल पर एसएमएस भेजकर उसे रिचार्ज कराने की सूचना देगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.