April 18, 2024, 10:21 pm

इस सोसाइटी में बूंद बूंद को तरस रहे हैं लोग, क्या बिल्डर की बदमाशी है कारण?

Written By: गली न्यूज

Published On: Monday June 5, 2023

इस सोसाइटी में बूंद बूंद को तरस रहे हैं लोग, क्या बिल्डर की बदमाशी है कारण?

सेक्टर-137 स्थित पारस टिएरा सोसायटी में(paras tierea society) 4 दिन से पानी की (Water problem)सप्लाई प्रभावित है। यहां ये समस्या 31 मई को बिल्डर से सोसायटी का हैंडओवर लेने के बाद से शुरू हुई है। आरोप है कि एओए ने हैंडओवर लेने के बाद से बिल्डर की ओर से मेंटिनेंस दे रहे सारे स्टाफ को हटा दिया।  निवासियों को अपनी जरूरत पूरी करने के लिए पानी का टैंकर मंगवाना पड़ रहा है।

Sector 137 में स्थित पारस टीएरा सोसायटी(paras tierea society) के 32 टावरों में कुल 3954 फ्लैट हैं। इसमें लगभग 15 हजार लोग रहते हैं। इस सोसायटी का 31 मई को पारस टिएरा अपार्टमेंट ओनर्स असोसिएशन की कार्यकारिणी ने सारे कार्यभार का बिल्डर से हैंडओवर ले लिया था। इसके बाद एओए ने बिल्डर की ओर से लगाए गए सभी मेंटिनेंस स्टाफ को हटाकर नए लोगों की तैनाती कर दी। इसके बाद नए स्टाफ को पूरी सोसायटी में लगाए गए उपकरणों को चलाने का अनुभव होने के चलते पानी सप्लाई की लाइन के वॉल्ब खोलने में समस्या गई। इससे पानी की समस्या खड़ी हो गई।

क्या है पूरा मामला ?

सोसायटी के निवासियों ने बताया कि शुरू में एओए ने कहा कि नोएडा प्राधिकरण की ओर से पानी की सप्लाई कम रही है। इससे अंडरग्राउंड वॉटर टैंक नहीं भर पा रहे हैं। इससे पानी का प्रेशर कम बनने से टंकियां नहीं भर पा रही हैं। जबकि अप्रशिक्षित स्टाफ होने के चलते पानी के वॉल्व नहीं खोले जा सके। इससे लोगों के घरों की टंकियां नहीं भर पाई। इसके चलते ही 1 जून से ही पानी की किल्लत शुरू हो गई।

इसके बाद निवासियों ने एओए का घेराव किया और पानी सप्लाई बहाल करने की मांग की। इस समस्या के चलते निवासियों को टैंकर के सहारे पानी की कमी को पूरा करना पड़ रहा है। रविवार को शिकायत के बाद नोएडा प्राधिकरण के डीजीएम जल आरपी सिंह ने सोसायटी का दौरा कर कमियों को समझा और बताया कि पानी की लाइन के एयर लेने के चलते ये समस्या हुई है। यह सोसायटी की आंतरिक समस्या है। नोएडा प्राधिकरण की तरफ से पूरी सोसायटी को पानी की सप्लाई पूरी तरीके से की जा रही है। 4 दिनों से पानी की भीषण कमी होने से बाल्टी से लोगों को पानी ले जाना पड़ रहा है।

क्या कहा एओए अध्यक्ष रिटायर्ड कर्नल

इस समस्या पर एओए अध्यक्ष रिटायर्ड कर्नल रमेश कुमार गौतम ने बताया कि सोसायटी का हैंडओवर लेने से पहले मेंटिनेंस स्टाफ केसाथ नए स्टाफ की ट्रेनिंग बिल्डर ने जानबूझकर नहीं कराने दी। जब नए स्टाफ ने सोसायटी के पानी समेत अन्य चीजों को चलाना चाहातो उन्हें दिक्कत हुई। उन्होंने आरोप लगाया कि बिल्डर के हैंडओवर देने से पहले उन्हें बटरफ्लाई वॉल फ्लूड वॉल टूटे मिले हैं।

इसकी जानकारी होने से जब पानी सप्लाई चालू की गई तो एक तरफ से पानी टंकी में चढ़ रहा था तो दूसरी तरफ वॉल्व से पानी नीचे रहा था। इसके चलते टंकियां नहीं भर पाईं और लोगों को समस्या हुई है। इसके लिए बिल्डर जिम्मेदार है। नोएडा प्राधिकरण की ओर से पानी की सप्लाई की जा रही है। उनके अधिकारियों ने सोसायटी का दौरा किया और पानी की कमी पूरी करने के लिए भी टैंकर भेजे।

आपको बता दें किं पारस टिएरा के अध्यक्ष रिटायर्ड कर्नल रमेश कुमार गौतम ने कहा कि बिल्डर की ओर से सोसायटी का हैंडओवर देनेके बाद समस्या खड़ी की गई। इसमें कई वॉल्व टूटे मिले हैं। इससे पानी चढ़ाए जाने के बाद भी टंकियां भरने के बजाय उससे पानी गिरने लगा। इससे टंकियां नहीं भर पाईं। सोसायटी के लोगों को समस्या हुई है। इसका जल्द समाधान निकाल लिया है। वैकल्पिक व्यवस्था के लिए टैंकर से पानी सप्लाई की जा रही है।

सोसायटी निवासीयो के मुताबिक़

सोसायटी निवासी विकास ने कहा कि बिल्डर से सुविधा प्रबंधन का अधिग्रहण उचित योजना के बिना किया गया था। एओए इस महत्वपूर्ण जिम्मेदारी को संभालने के लिए तैयार नहीं थी। एओए जिम्मेदारी संभालने के बाद से सुविधाओं को सुचारू रूप से चलाने में पूर्ण रूप से नाकाम रही है। कई टावर में लिफ्ट बंद पड़ी हैं। लोग पानी की समस्या से त्रस्त हैं।एओए ने जल्दबाजी में बिल्डर से सोसायटी का हैंडओवर ले लिया। इसके बाद ही सोसायटी में मेंटिनेंस का काम देख रहे स्टाफ को हटाकर नए स्टाफ भर लिया, जो ट्रेंड नहीं था। उन्हें सोसायटी के संचालन का अनुभव नहीं था। इसके चलते लोगों को पानी की समस्या से जूझना पड़ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.