February 25, 2024, 1:46 am

Noida safe city: नोएडा को बनाया जाएगा सेफ सिटी, 80 करोड़ रुपए होंगे खर्च

Written By: गली न्यूज

Published On: Monday January 30, 2023

Noida safe city: नोएडा को बनाया जाएगा सेफ सिटी, 80 करोड़ रुपए होंगे खर्च

Noida safe city: नोएडा (Noida news) ने सेफ सिटी प्रोजेक्ट (safe city project) पर काम शुरू कर दिया है. बेंगलुरु की तर्ज पर इसे यहां संचालित किया जाएगा. इसके लिए सहलाकर कंपनी का चयन किया जाएगा. कंपनी प्रोजेक्ट की डीपीआर (डीटेल्ड प्रोजेक्ट रिपोर्ट) तैयार करेगी. इसके लिए कंपनियों से आवेदन मांगे गए है. फरवरी के पहले हफ्ते में इसकी तकनीकी बिड खोली जाएगी. प्रोजेक्ट का बजट करीब 80 करोड़ रखा गया है. मार्च में प्रोजेक्ट पर काम शुरू होगा.

नोएडा पुलिस (Noida police) ने शहर में 450 से ज्यादा स्थानों को चिह्नित किया है. इन स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे. ये कैमरे इंटीग्रेटेड सीक्यूरिटी एंड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम (Integrated Security & Traffic Management System) की ओर से लगाए गए कैमरों से अलग होंगे.

इन स्थानों पर कैमरे लगाने की तैयारी

इनकी मॉनिटरिंग के लिए अलग से कंट्रोल रूम भी बनाया जाएगा. प्राधिकरण की टेक्निकल टीम इन स्थानों का सर्वे कर रही है. वो ये देख रहे है कि इन स्थानों पर कैमरा किस ओर लगाए जाए जिससे ज्यादा से ज्यादा स्पेस कवर किया जा सके. जिन स्थानों की सूची पुलिस विभाग की ओर से दी गई है उसमे बाजार, सरकारी व निजी स्कूलों व ब्लैक स्पाट और भीड़-भाड़ वाले इलाके मेट्रो स्टेशन , बस स्टैंड , मॉल्स के बाहर स्थान शामिल है.

प्राधिकरण के डीजीएम राजेश कुमार ने बताया कि सलाहकार कंपनी आने के बाद डीपीआर तैयार की जाएगी. इसके बाद ही फाइनल एस्टिमेट तैयार किया जाएगा. फिलहाल अभी 80 करोड़ रुपए के आसपास खर्च होने का अनुमान लगाया गया है.

फेस को पहचान सकेंगे कैमरे

ये कैमरे इंटीग्रेटेड सीक्यूरिटी एंड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम (Integrated Security & Traffic Management System) की बजाय सेफ सिटी के तहत लगाए जाएंगे. इनका वाहनों के चालान से कोई संबंध नहीं होगा. हालांकि सुरक्षा के तहत वाहनों की नंबर प्लेट व उसमें बैठे लोग भी साफ तौर पर कैमरे में देखें जा सकेगें. साथ ही फेस डिडक्शन कैमरे भी होंगे. आरोपियों का डाटा पुलिस के पास पहले से रहेगा. ऐसे में कोई भी बदमाश अगर इन कैमरों के पास निकलता है तो उसकी लाइव लोकेशन और पूरा डाटा कंट्रोल रूम में दिखाई देगा.

ये भी पढ़ें-

Liquor Price in UP: शराब के शौकीनों के लिए बुरी खबर, योगी सरकार ने लिया बड़ा फैसला

पुलिस कंट्रोल रूम से सीधे मॉनिटरिंग

सेफ सिटी के कंट्रोल रूम सीधे पुलिस मुख्यालय में बने कंट्रोल रूम से जुड़े होंगे. जिससे कोई भी जानकारी या सूचना मिलने पर तत्काल नजदीकी पुलिस स्टेशन, चौकी और पीआरवी और डायल-112 को जानकारी दी जा सकेगी. इसी प्रोजेक्ट के तहत शहर भर में एसओएस भी लगाए गए है. जिसमें आपात कॉल के समय आप मौके पर पुलिस विभाग को किसी भी घटना की जानकारी दे सकते है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.