May 19, 2024, 2:04 pm

Noida Society Lift Stuck: ट्यूशन से घर लौटते वक्त लिफ्ट में फंसी दो बच्चियां, सोसायटी में मचा हडकंप

Written By: गली न्यूज

Published On: Wednesday May 31, 2023

Noida Society Lift Stuck: ट्यूशन से घर लौटते वक्त लिफ्ट में फंसी दो बच्चियां, सोसायटी में मचा हडकंप

Noida Society Lift Stuck: ग्रेटर नोएडा और नोएडा की ती तमाम सोसायटी में लिफ्ट में लोगों के फंसने के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे है. ताजा मामला ग्रेट नोएडा वेस्ट की सोसायटी महागुन मंत्रा(Mahagun Mantra) का है. जहां दो बच्चियां के लिफ्ट में फंसने से हडकंप मच गया. gulynews.com को मिली जानकारी के मुताबिक दोनों बच्चियां करीब आठ मिनट तक लिफ्ट में फंसी रहीं.

क्या है पूरा मामला

बता दें कि ग्रेटर नोएडा वेस्ट की महागुन मंत्रा(Mahagun Mantra) सोसायटी में देर शाम दो बच्चियां लिफ्ट में फंस गई. जिसके बाद सोसायटी में हडकंप मच गया है. वहीं, कड़ी मशक्कत के बाद दोंनो बच्चियों को करीब 8 मिनट बाद लिफ्ट से बहार निकला. जिसके बाद बच्चियों के परिजनों ने चैन की सांस ली. सोसाइटी की विधि टावर में रहने वाली मंजुला गिल की दो बेटियां 11 वर्षीय निर्मी व सात वर्षीय नीरिका समीप के रिद्धि टावर में ट्यूशन पढ़ने गई थी. शाम करीब पांच बजे दोनों बच्चियां ट्यूशन पढ़ने के बाद लिफ्ट से वापस अपने फ्लैट लौट रही थी. अचानक बिजली आपूर्ति बाधित होने से लिफ्ट बीच में ही अटक गई. दोनों बच्चियों ने अलार्म व लिफ्ट में लगे इंटरकाम से मदद मांगने की कोशिश की, लेकिन न तो अलार्म सिस्टम बजा और न ही इंटरकाम ने काम किया. दोनों बच्चियां चीखती रहीं. मामले की सूचना परिजनों ने बिल्डर को दे दी है.

सोसायटी के लोगों में आक्रोश

घटना के बाद से सोसायटी के लोगों में आक्रोश है. लोगों का का कहना है कि सोसाइटी में फ्लैट पर कब्जा मिले दो साल भी पूरे नहीं हुए हैं कि लिफ्ट में लोगों के फंसने की 12 से अधिक घटनाएं घट चुकी है. मामले को लेकर कई बार बिल्डर को शिकायत भी की जा चुकी है. बावजूद इसके कोई भी सुधार नही किया है.

ट्यूशन पढ़ने के बाद वापस लौट रही थी बच्चियां

शाम करीब पांच बजे दोनों बच्चियां ट्यूशन पढ़ने के बाद लिफ्ट से वापस अपने फ्लैट लौट रही थी. अचानक बिजली आपूर्ति बाधित होने से लिफ्ट बीच में ही अटक गई. दोनों बच्चियों ने अलार्म व लिफ्ट में लगे इंटरकाम से मदद मांगने की कोशिश की, लेकिन न तो अलार्म सिस्टम बजा और न ही इंटरकाम ने काम किया. दोनों बच्चियां चीखती रहीं। सूचना बिल्डर प्रबंधन को दी गई.

डीजल जेनरेटर संचालन संचालन में करीब सात से आठ मिनट का समय लग गया. डीजल जेनरेटर संचालन के बाद दोनों बच्चियां लिफ्ट से बाहर निकल सकीं. पीड़ित स्वजन ने बिल्डर प्रबंधन के कार्यालय जाकर अपनी नाराजगी जताई. साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर लिफ्ट एक्ट लागू करने की मांग की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.