February 21, 2024, 6:13 pm

Noida News: इस सोसाइटी में पूर्व डीजीपी के घर हुई चोरी, बंद पड़े घर को चोरों ने बनाया निशाना

Written By: गली न्यूज

Published On: Wednesday January 31, 2024

Noida News: इस सोसाइटी में पूर्व डीजीपी के घर हुई चोरी, बंद पड़े घर को चोरों ने बनाया निशाना

Noida News: नोएडा में चोरी, धोखधड़ी और जालसाजी की घटनाएं प्रशासन की इतनी सख्ती के बावजूद भी थमने का नाम नही ले रही हैं। शहर में घर में घुसकर चोरी करने वाले बदमाशों के हौसले बुलंद हैं। इस बार चोरों ने किसी साधारण नागरिक की नही बल्कि उन् उत्तर प्रदेश के पूर्व डीजीपी (DGP) के घर को ही निशाना बना लिया। शहर की जेपी विश टाउन सोसाइटी में यूपी के सेवानिवृत डीजीपी वीएन राय के फ्लैट से कीमती सामान पर हाथ साफ कर दिया। डीजीपी का आरोप है कि 15 लाख से अधिक मूल्य के गहने चोरी किए गए हैं। पूर्व डीजीपी अपने बेटे से सिंगापुर मिलने गए थे। वापस आने पर उन्हें घटना के बारे में जानकारी मिली। उसके बाद उन्होंने पुलिस से इस मामले की शिकायत दर्ज कराई है।

क्या है पूरा मामला

खबर के मुताबिक नोएडा में पुलिस को दी शिकायत में सेवानिवृत डीजीपी वीएन राय ने बताया कि वह नोएडा के जेपी विश टाउन सोसाइटी में पत्नी के साथ में रहते हैं। उनका बेटा सिंगापुर में रहता है। वह और उनकी पत्नी दो महीने पहले सिंगापुर गए थे। सोमवार को जब वे सिंगापुर से लौटे तो उनके बेडरूम की खिड़की का शीशा टूटा हुआ मिला। बेडरूम में रखा सारा कीमती सामान चोरी हो चुका था। बेडरूम में ही रखे एक लॉकर को भी खोलने का प्रयास किया गया। आरोप है कि लॉकर ना खुलने पर चोर उसे उठाकर ले गए। लॉकर में 15 लाख रुपए से अधिक कीमत के आभूषण थे। इसके अलावा कई कीमती सामान भी गायब है।

Advertisement
Advertisement

वीएन राय का कहना है कि इस चोरी में उन्हें सोसाइटी के ही सिक्योरिटी गार्ड पर शक है। घटना के बाद उन्होंने सोसाइटी की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल उठाया है। एसीपी रजनीश वर्मा के अनुसार पूर्व डीजीपी की शिकायत पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। सोसाइटी में लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाल जा रहा है। ऐसा प्रतीत होता है कि किसी जानकार ने ही वारदात को अंजाम दिया है। फिलहाल अभी चोरों का कुछ भी पता नहीं चल सका है।

यह भी पढ़ें…

Greater Noida West News: इस सोसाइटी में कुत्तों का आतंक, गाड़ी साफ कर रहे रेजिडेंट पर किया हमला

Leave a Reply

Your email address will not be published.