February 21, 2024, 5:55 pm

Noida News: इस सोसाइटी का फ्लैट आया आग की चपेट में, लापरवाही बनी बड़ी वजह

Written By: गली न्यूज

Published On: Sunday January 7, 2024

Noida News: इस सोसाइटी का फ्लैट आया आग की चपेट में, लापरवाही बनी बड़ी वजह

Noida News: नोएडा के लॉजिक्स ब्लॉसम काउंटी सोसाइटी में फ्लैट नंबर 2004 में अचानक से आग लग गई। ब्लॉसम काउंटी के निवासियों का कहना है कि आग लगने की घटना से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण तथ्यों के बारे बताया है। साथ ही कहा है कि एओए और एफएम ने निवासियों के प्रति अक्षमता और चिंता की कमी दिखाई है। हालांकि आग में किसी के घायल होने की ख़बर नहीं है।

क्या है पूरा मामला

जानकारी के मुताबिक नोएडा स्थित लॉजिक्स ब्लॉसम काउंटी सोसाइटी फ्लैट नंबर 2004 में लीकेज की दिक्कत थी। रात आठ बजे शिकायत की गई थी, इसके बावजूद एफएम टीम ने एक घंटे से अधिक समय के बाद भी कोई जवाब नहीं दिया। लीकेज की दिक्कत को सही कर रहे दो लोगों को इस बात की जानकारी नहीं है कि शाफ्ट में भरे पानी में करंट है। यह केवल 15वें मंजिल पर था। मैंने खुद उन्हें बताया कि इस पानी में करंट है, तब उन्हें करंट महसूस हुआ। बिजली के पैनल सुखाने के लिए ब्लोअर का इस्तेमाल किया, जिससे शॉर्ट सर्किट हुआ और आग लग गई।

Advertisement
Advertisement

सुरक्षाकर्मियों ने पुलिस और फायर विभाग की टीम को सूचना देने का झूठा दावा किया, लेकिन चांज में पता चला कि ऐसा कुछ नहीं किया गया। यहां तक कि सुरक्षा प्रभारी ने भी कई निवासियों और अपने वरिष्ठों के सामने इसे स्वीकार किया। अधिकारियों को सुरक्षा दल द्वारा रात एक बजे के बाद सूचित किया गया, जब निवासी व्यक्तिगत रूप से पुलिस स्टेशन गए। संपत्ति प्रबंधक और न ही एओए के किसी व्यक्ति ने सहायता प्रदान की।

लॉजिक्स ब्लॉसम काउंटी के निवासियों ने बताया कि हममें से कुछ लोग थाने गए और एफएम और एओए के खिलाफ पुलिस में एक लिखित शिकायत दर्ज कराई। उनसे अनुरोध किया कि वे एओए से यह सुनिश्चित करने के लिए कहें कि शाफ्ट को कभी बंद न किया जाए और पुलिस से उचित कार्रवाई भी की जाए। उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि आग लगने से बड़ी त्रासदी हो सकती थी। यह स्पष्ट है कि एओए और एफएम ने निवासियों के प्रति अक्षमता और चिंता की कमी दिखाई है।

यह भी पढ़ें…

Delhi News: अमृत योजना के तहत पिकनिक स्पॉट के रूप में विकसित होंगी झीलें

Leave a Reply

Your email address will not be published.