April 18, 2024, 9:46 pm

Lok Sabha Election: ‘रजिस्ट्री नहीं, वोट नहीं’ सोसाइटी में छिड़ा अभियान, घर के बाहर लगे पोस्टर

Written By: गली न्यूज

Published On: Thursday April 4, 2024

Lok Sabha Election: ‘रजिस्ट्री नहीं, वोट नहीं’ सोसाइटी में छिड़ा अभियान, घर के बाहर लगे पोस्टर

Lok Sabha Election: लोकसभा चुनाव के मद्देनजर सरकार का ध्यान फ्लैट की रजिस्ट्री की ओर खींचने के लिए नोएडा और ग्रेटर नोएडा के लोगों ने नया रास्ता अपनाया है। यहां की सोसाइटियों में “नो रजिस्ट्री, नो वोट” के अभियान ने रफ्तार पकड़ ली है। निवासियों ने अपने घरों के बाहर बड़ी संख्या में “नो रजिस्ट्री, नो वोट” के पोस्टर लगाए हैं। लोगों को उम्मीद है की ऐसा करने से फ्लैट की रजिस्ट्री जल्दी हो सकेगी।

क्या है पूरा मामला

बतादें, ग्रेटर नोएडा वेस्ट (Lok Sabha Election) में गौर सौंदर्यम सोसायटी के निवासियों ने फैसला लिया है कि अगर उनके फ्लैट की रजिस्ट्री नहीं हुई तो वह आगामी लोकसभा चुनाव में किसी भी उम्मीदवार को वोट नहीं देंगे। इस अभियान में ज्यादा से ज्यादा लोग जुड़ रहे हैं। ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी और गौरसंस बिल्डर के बीच विवाद के कारण इस सोसायटी में 350 से ज्यादा फ्लैटों की रजिस्ट्री लंबित हैं।

इसलिए निवासियों ने किया प्रर्दशन?

निवासियों ने बताया की उन्होंने सभी बकाया भुगतान चुका दिए हैं और यहां तक की 3 साल पहले ही फ्लैट रजिस्ट्री स्टांप शुल्क का भुगतान भी कर दिया है। जबकि 30 से अधिक सोसायटी और हाईस्ट्रीट दुकानों की रजिस्ट्रियां और कुछ चुनिंदा फ्लैटों की रजिस्ट्रियां हाल ही में की गई थीं। अधिकांश आवासीय फ्लैटों की रजिस्ट्रियां फरवरी 2021 से अभी तक लंबित हैं। अधिकारियों द्वारा अपनाए गए इस दोहरे मापदंड के तहत चुनिंदा रजिस्ट्रियां करने के कारण निवासी असहाय और ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें…

Income Tax Raid: आईटी विभाग की बड़ी कार्रवाई, आईएएस अफसरों के करीबी बिल्डर समेत कई ठिकानों पर की छापेमारी

जनता में छाया आक्रोश

गौर सौंदर्यम सोसायटी का रजिस्ट्री का मामला इस साल की शुरुआत में प्राधिकरण द्वारा घोषित रजिस्ट्री संबंधी राहत पैकेज के लिए उपयुक्त मामला है, क्योंकि सभी फ्लैट खरीदारों को फ्लैट का कब्जा मिल गया है और वह पहले से ही 3 साल से अधिक समय से यहां रह रहे हैं। अथॉरिटी ने राहत पैकेज में ऐसे फ्लैट्स की रजिस्ट्रियां 3 महीने के अंदर पूरी करने की बात कही है, लेकिन बिल्डर के साथ चल रहे विवाद के कारण वह गौर सौंदर्यम में राहत पैकेज लागू करने को तैयार नहीं हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.