February 1, 2023, 10:01 pm

Zika Virus: अब इस वायरस का केस मिलने से मचा हड़कंप, प्रेग्नेंट महिलाओं को क्यों हैं ज्यादा खतरा

Written By: गली न्यूज

Published On: Saturday December 17, 2022

Zika Virus: अब इस वायरस का केस मिलने से मचा हड़कंप, प्रेग्नेंट महिलाओं को क्यों हैं ज्यादा खतरा

Zika virus: पूरी दुनिया कोरोना वायरस से अबतक मुक्त भी नहीं हुई है कि अब एक और वायरस ने खतरे की दस्तक दे दी है। देश में जीका वायरस (Zika virus) के केस मिलने से हड़कंप मचा हुआ है। जीका वायरस का केस मिलने के बाद लोगों के दिमाग में इसको लेकर डर बैठ गया है. हर कोई इस संक्रमण के बारे में जानना चाहता है. बता दें कि जिका वायरस के कारण पिछले कुछ सालों में दुनिया के कई देशों में बेहद छोटे सिर और अविकसित मस्तिष्क वाले बच्चे जन्म ले चुके हैं.

क्या है यह जीका वायरस?

यह डेंगू (Dengue), यलो फीवर (Yellow Fever), दिमागी बुखार और वेस्ट नाइल वायरस फैलाने वाले एडीज प्रजाति के मच्छरों के काटने से जीका वायरस (Zika Virus) फैलता है. यह वायरस नया नहीं है. पहले जीका वायरस के केस केरल, महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश में पाए गए थे, लेकिन अब कर्नाटक में भी एक केस सामने आया है। आईसीएमआर (ICMR) के पूर्व महान‍िदेशक एनके गांगुली (N. K. Ganguly) ने कहा कि जीका वायरस को लेकर डरने की जरूरत नहीं है. वैज्ञानिक इससे बचाव के लिए वैक्सीन बना चुके है, अगर देश (Zika Virus Case in India) में जीका वायरस को लेकर बड़ा आउटब्रेक होता है तो बाजार में वैक्सीन आ जाएगी, लेकिन अभी देश में मामले बढ़ नहीं रहे है.

प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए खतरनाक जीका वायरस 

प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए जिका वायरस ( Zika Virus Dangerous for Pregnant Ladies) बहुत खतरनाक है, सतर्कता बहुत ज्यादा जरूरी है. प्रेग्नेंट महिलाएं जीका वायरस से सावधान रहें.

क्यों खतरनाक है प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए?

प्रेग्नेंट महिलाओं को जीका वायरस से बेहद सावधान रहने की जरूरत है. वायरस से प्रभावित (Side effect of Zika Virus)  होने पर गर्भ में पल रहे बच्चे का सिर छोटा हो जाता है. उसे दूसरी दिमागी बीमारियां भी हो सकती हैं. इस वायरस के प्रभाव से नवजात बच्चों को ग्लूकोमा हो सकता है. इसके अलावा बच्चों की आंखें भी कमज़ोर हो सकती है. मौजूदा समय में जीका वायरस का कोई इलाज नहीं है. जीका वायरस से संक्रमित मरीज को आराम करने की सलाह दी जाती है और बचाव के लिए मच्छरों से बचाव करना जरूरी है.

ये भी पढ़ें-

Phoenix Hospital Fire: दिल्ली के इस अस्पताल में लगी आग, फायर ब्रिगेड ने पाया काबू

जीका वायरस के लक्षण?

इसके लक्षण (Symptom Of Zika Virus) बिल्कुल डेंगू जैसे होते हैं, जैसे-हल्‍का बुखार, रेशैज होना, आंखें लाल होना, मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द होना, सिरदर्द आद‍ि. साथ ही जीका वायरस रोग 3 से 14 दिन में ठीक हो सकता है और इसके लक्षण 2 से 7 दिन तक रहते हैं.

क्‍या है जीका का इलाज ?

मौजूदा समय में जीका वायरस का कोई इलाज नहीं है. जीका वायरस से संक्रमित मरीज को आराम करने की सलाह दी जाती है और बचाव के लिए मच्छरों से बचाव करना जरूरी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.