March 27, 2023, 7:42 pm

Noida Authority: भूजल दोहन करने वाले बिल्डरों ने नोएडा प्राधिकरण को ठहराया जिम्मेदार, सोसायटी के लोगों ने बताई वजह

Written By: गली न्यूज

Published On: Tuesday January 31, 2023

Noida Authority: भूजल दोहन करने वाले बिल्डरों ने नोएडा प्राधिकरण को ठहराया जिम्मेदार, सोसायटी के लोगों ने बताई वजह

Noida Authority: ग्रेटर नोएडा (Noida news) में भूजल दोहन करने वाले कुछ बिल्डरों ने नोएडा प्राधिकरण (Noida Authority) को जिम्मेदार ठहराया है. जिला स्तरीय समिति को पत्र देकर कहा है कि प्राधिकरण जरूरत के हिसाब से पानी की आपूर्ति नहीं कर रहा है. पानी की कमी को पूरा करने के लिए बोरवेल का प्रयोग करना पड़ रहा है. अगर ऐसे नहीं करते तो सोसायटियों में पानी की किल्लत रहती. समिति ने लाखों लोगों को ध्यान में रखकर इन सोसायटी के बोरवेल को सील नहीं किया है. साथ ही, नोएडा प्राधिकरण से पर्याप्त मात्रा में पानी नहीं देने का कारण पूछा है.

बता दें कि, राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने नवंबर 2022 में ग्रेनो वेस्ट की 63 निर्माणाधीन साइटों पर भूजल को रोकने का आदेश दिया था. बोरवेल का बंद करने के साथ बिल्डरों पर जुर्माना लगाने की कार्रवाई होनी है. 63 में से 36 प्रोजेक्ट पर बोरवेल से भूजल दोहन मिला है. सीडीओ की अध्यक्षता में बनी समिति इन प्रोजेक्ट पर कार्रवाई कर रही है. लेकिन काफी प्रोजेक्टों का निर्माण पूरा हो चुका है. वहां पर खरीदारों को कब्जा भी मिल चुका है. काफी सोसायटी में लंबे समय से लोग रह रहे है. समिति ने बिल्डरों को नोटिस जारी कर भूजल दोहन पर जवाब मांगा था. 36 में से 12 सोसायटी के बिल्डरों ने समिति को लिखित जवाब देते हुए कहा कि प्राधिकरण उनको प्राप्त मात्रा में पानी की अपूर्ति नहीं हो रही है ऐसे में बोरवेल से ही निवासियों की जरूरत को पूरा किया जा रहा है.अगर बोरवेल का प्रयोग नहीं करेंगे तो वहां पानी की जरूरत को पूरा नहीं किया जा सकता है. बिल्डरों के पत्र को समिति ने ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को भेज दिया है.

ये भी पढ़ें-

Benefits of Kinnow: किन्नू के जूस के साथ करें सुबह की शुरुआत, वजन होगा कम

यूपीपीसीबी के अधिकारी ने कहा कि 12 बिल्डरों ने प्राधिकरण से पर्याप्त मात्रा में पानी नहीं मिलने का हवाला दिया है. सभी के पत्र ग्रेनो प्राधिकरण को भेज दिया गया है. प्राधिकरण को समस्या का सामाधान करना होगा. अभी तक किसी भी बिल्डर ने जुर्माना जमा नहीं किया है. एनजीटी को इस संबंध अवगत कराया जाएगा.

इन सोसायटी के बिल्डरों ने दिया जवाब-
  • गौड़ सिटी वन
  • गौड़ सिटी दो
  • गौड़ सौंदर्यम
  • गौड़ सिटी मॉल
  • गैलेक्सी वेगा
  • दिव्यांश फ्लोरा
  • महागुन मायवुडून
  • महागुन मंत्रा वन
  • ला रेजीडेंसिया
  • अपेक्स गोल्फ एवेन्यू
  • वीवीआईपी होम्स
  • राजहंस रेजीडेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published.