February 6, 2023, 4:30 am

नोएडा की इस सोसायटी के AOA और बिल्डर में घमासान, क्या AOA अध्यक्ष को जान से मारने की कोशिश हो रही है?

Written By: गली न्यूज

Published On: Saturday January 21, 2023

नोएडा की इस सोसायटी के AOA और बिल्डर में घमासान, क्या AOA अध्यक्ष को जान से मारने की कोशिश हो रही है?

Noida News: गौतमबुद्ध नगर (Gautam Buddha Nagar) से एक हैरान करने वाली खबर सामने आ रही है. गौतमबुद्ध नगर के नोएडा के सेक्टर-74 के ग्रैंड अजनारा सोसाइटी (Grand Ajnara Society) के अपार्टमेंट ऑनर्स एसोसिएशन (AOA) के अध्यक्ष विवेक सिंह ने अजनारा बिल्डर पर बड़ा आरोप लगाया है. विवके सिंह ने बिल्डर पर प्रताड़ित करने के साथ साथ जान को खतरे में डालने का आरोप लगाया है।

क्या है मामला ?

दरअसल, ग्रैंड अजनारा सोसाइटी (Grand Ajnara Society) के अपार्टमेंट ओनर्स एसोसिएशन (AOA) अध्यक्ष विवेक सिंह ने अजनारा सोसाइटी के रेजिडेंस की मांग को लेकर विवेक सिंह कोर्ट में बिल्डर के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे है. बिल्डर इसी से परेशान है, दावा है कि बिल्डर अपनी परेशानी को दूर करने के लिए उन्हें अपने रास्ते से हटाने की कोशिश कर रहा है. ऐसा आरोप AOA अध्यक्ष विवेक सिंह ने अजनारा बिल्डर पर लगाए है.

विवेक सिंह के आरोप

https://gulynews.com से इस बारे में EXCLUSIVE बात करते हुए विवेक सिंह ने बताया कि वह लंबे समय से अजनारा बिल्डर के खिलाफ कोर्ट में लड़ाई लड़ रहे हैं. वह रेजिडेंट्स की मांग को लेकर अड़े हुए हैं लिहाजा बिल्डर परेशान है उनकी जान को बड़ा खतरा है. विवेक सिंह ने आरोप लगाया है कि उन्हें बेवजह परेशान किया जा रहा है. साथ ही उनकी जान लेने की भी कोशिश की जा रही है. विवेक सिंह ने बताया कि बीते 1 महीने में दो बार ऐसा इंसीडेंट उनके साथ हुआ जब बेवजह उन्हें लिफ्ट में घेरने की कोशिश की गई या फंसाने की कोशिश की गई. इसके विवेक सिंह ने कुछ तस्वीरें भी शेयर की है. जानकारी के मुताबिक सोसाइटी के टावर-जे की लिफ्ट में फिर से उन्हें बंद करने की कोशिश हुई है, लाइट होने के बावजूद लिफ्ट में लाइट नहीं थी. आरोप है कि कुछ दिन पहले भी उन्हें टावर-एन की लिफ्ट में 25 मिनिट तक रोक के रखा गया था, उस समय भी लिफ्ट के अंदर की लाइट बंद कर दी गई थीं, इस दौरान टावर-एन के एक बुजुर्ग भी उनके साथ फंसे हुए थे. इसके साथ ही सब्जी मार्केट में भी दो बार कुछ लोग उनसे बिना वजह लड़ाई करे लगे. उन्होंने लड़ाई करने वालों में से कई लोगों को पहचाना भी था. उनका दावा है कि ये वही लोग हैं जो पहले बाउंसर के तौर पर सोसाइटी में तैनात रहते थे.

पुलिस में शिकायत क्यों नहीं ?

https://gulynews.com ने जब इस बारे में विवेक सिंह से सवाल किया कि मामले को लेकर वो पुलिस के पास क्यों नहीं जाते? इसकी शिकायत क्यों नहीं करते? तो उनका कहना था बिल्डर के इशारे पर सेक्टर 113 थाने के पूर्व एसएचओ शरद कांत शर्मा ने उन्हें फंसाने की कोशिश की, उनके खिलाफ आईपीसी के सेक्शन 116 में मुकदमा दर्ज किया था. ऐसे में उन्हें डर है कि वो फिर से थाना जाएंगे तो पुलिस उन्हें फिर से किसी मामले में फंसाने की कोशिश कर सकती है. यानी वो सीधे-सीधे पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें-

Ghaziabad news: गाजियाबाद नगर निगम की इस हरकत से DMRC हो सकता है परेशान! खबर पढ़ें

क्या है दावा ?

विवेक सिंह का दावा है कि ये सब उनके साथ जानबूझ कर किया जा रहा है, ताकि वो परेशान हो जाएं और बिल्डर के खिलाफ लड़ाई छोड़ दें. उन्होंने बिल्डर को चुनौती देते हुए कहा है कि अगर बिल्डर को लगता है कि वो उसकी इस हरकत से डर जाएंगे तो ऐसा नहीं है. बिल्डर को लगता है कि में उसके 20 करोड़ के पीछे पड़ा हूं जो अजनारा के निवासियों का पैसा है लेकिन ऐसा नहीं है. उन्होंने ये भी बताया कि वह बिल्डर के खिलाफ केस जीत चुके हैं और जल्दी ही वो रेजिडेंट्स को उनका हक दिलवा कर रहेंगे।

विवेक सिंह ने जानकारी दी कि वो सोसाइटी में बिल्डर के मर्जी के खिलाफ मल्टी प्वाइंट कनेक्शन करवा रहे हैं ताकि आम रेजिडेंट्स को बेइमान बिल्डर से छूटकारा मिले और लूट की कमाई बंद हो. विवेक ने बताया कि करीह 16 करोड़ रुपये अजनारा बिल्डर की देनदारी है और करीब 5 करोड़ का काम बकाया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.