December 9, 2022, 1:26 am

महिला पर पालतू पिटबुल डॉग ने किया अटैक, यहां समझें कौन से डॉग हैं सुरक्षित और कौन खतरनाक

Written By: गली न्यूज

Published On: Thursday July 14, 2022

महिला पर पालतू पिटबुल डॉग ने किया अटैक, यहां समझें कौन से डॉग हैं सुरक्षित और कौन खतरनाक

Which dogs are safe and which are dangerous: उत्तर प्रदेश के लखनऊ में 80 साल की एक महिला अपने पेट डॉग पिटबुल को छत पर टहला रही थी. तभी अचानक उसके गले में बंधी चेन खुल गई और पिटबुल ने महिला पर हमला कर दिया और ऐसा नोंच खाया कि शरीर से मांस अलग हो गया. इसके बाद महिला को अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टर ने महिला को मृत घोषित कर दिया.

यह खबर दुखद तो है ही, साथ ही हैरान करने वाली भी है. जिस डॉग को लोग अपनी सुरक्षा के लिए पालते हैं, वो उनके लिए ही काल बन जाए तो, इससे बड़ी चिंता की बात क्या होगी.

देश में डॉग लवर्स की कमी नहीं है. कई लोग सेफ्टी के लिए तो कई लोग शौक से डॉग पालते हैं. ऐसे लोगों को अलर्ट रहने के साथ-साथ यह जानना भी जरूरी है कि वे अपने पेट डॉग को अच्छी तरह से कैसे रखें? कैसे और कहां ट्रेनिंग दें, किन डॉग्स को पालें और किसे नहीं?

बात करते हैं पिटबुल डॉग की: पिटबुल एक क्रॉस ब्रीड डॉग है, जिसकी वजह से उसका टेंपरामेंट यानी स्वभाव खराब हो जाता है. इसे गुस्सा बहुत आता है. यह बेहद जिद्दी होता है. इसी वजह से कई बार जान के लिए भी खतरा बन जाता है.

पिटबुल ब्रीड के डॉग पालने वाले इन बातों का रखें ध्यान:

भारत में परिवार और बच्चों के लिए इस ब्रीड के डॉग सुरक्षित है.

लैब्राडोर- 

लैब्राडोर, यह डॉग की सबसे फ्रेंडली ब्रीड है. ये आमतौर पर आक्रामक नहीं होते हैं, लेकिन कुछ लोगों के लैब्राडोर कभी-कभी आक्रामक हो जाते हैं. इसके पीछे कारण हैं.

  • अगर लैब्राडोर को चोट लगी है और उसे दर्द हो रहा है, तो वो आक्रामक हो सकता है.
  • अगर उसे अंधेरे कमरे में बांध कर रख दिया गया है तो वो आक्रामक हो सकता है.
  • इसलिए अपने डॉग का खास ख्याल रखें, उसकी प्रॉब्लम को नजर अंदाज न करें. उसके साथ खेलें, उसे घुमाएं और एक्सरसाइज करवाएं.

2- जर्मन शेफर्ड

जर्मन शेफर्ड- यह लैब्राडोर के बाद सबसे ज्यादा पसंद किए जाने वाला डॉग है. यह समझदार, बुद्धिमान और बहुत वफादार होता है, लेकिन इसका नेचर आक्रामक होता है.

  • रोजाना घुमाने ले जाएं ताकि ये दूसरे लोगों से मिल सके. क्योंकि ये अजनबियों को देखकर जल्दी आक्रामक हो जाता है. इसलिए इसका दूसरों से मिलना-जुलना काफी जरूरी है.
  • जब भी आप इन्हें कुछ खाने को दें और यह खाने के लिए जंप करें या झपटें, तो आपको तुरंत हाथ पीछे करना है और उसे डांटना हैं. इस आदत से ये आपको नुकसान पहुंचा सकते हैं.
  • डॉग जब खुश होते हैं तो यह आपके हाथों व पैरो को अपने मुंह से काटने लगते हैं, जिसे प्ले बाइटिंग कहते हैं. जब भी आपका डॉग ऐसा करे तो आप इसके गले पर बंधे पट्टे से कंट्रोल करें और कमांड दें कि ऐसा मत करो.

3- डॉबरमैन

डॉबरमैन- ये काफी एक्टिव, बुद्धिमान, वफादार और सर्तक रहने वाली ब्रीड है, लेकिन ये भी आक्रामक होते हैं.

  • अगर आप समझदार डॉबरमैन की चाह रखते हैं तो इन्हें ट्रेनिंग देने का एक समय जरूर तय कर लें. सुबह, दोपहर या शाम, इससे ये डिसिप्लिन में रहते हैं.
  • अगर आपने अपनी सुविधानुसार इनके ट्रेनिंग के टाइम में कोई हेर-फेर किया तो ये आक्रामक हो सकते हैं.
  • एक्सपर्ट कहते हैं कि हर वक्त डांटने या फिर जरूरत से ज्यादा डिसिप्लीन में रखने से भी ये गुस्सैल बन सकते हैं.

4-पोमेरेनियन

यह भी फ्रेंडली होते हैं, लेकिन कुछ सिचुएशन में आक्रामक हो सकते हैं और काटने की कोशिश भी कर सकते हैं. जैसे-

  • किसी चीज से डर जाना.
  • तेज आवाज से घबराहट के कारण.
  • अजनबी पर भौंकना.
  • तबीयत खराब हो या चोट लगी हो.

5-  6-  7-     8-                                                        9-  10-

 

डॉग पालने के लिए हमें क्या सावधानी रखनी चाहिए:

  • उसके सोने से लेकर खाने तक जगह को साफ-सुथरा रखें.
  • हमेशा फ्रेश पानी ही पिलाएं, इससे वो जल्दी बीमार नहीं पड़ेगा.
  • समय-समय पर वेटनरी डॉक्टर से अपने डॉग की जांच करवाते रहें.
  • हाइट और ब्रीड के हिसाब से आपके डॉग का वजन होना चाहिए.
  • वो आलसी न बने, इसके लिए उसे एक्सरसाइज जरूर करवाएं.
  • उससे बातचीत करें, इससे आपके और डॉग के बीच अच्छा रिलेशन बनेगा.
  • हमेशा उनके बाल और नाखूनों की कटिंग करवाते रहें.

डॉग खरीदते वक्त इन बातों का ध्यान रखें

  • पेट शॉप की जगह एथिकल डॉग ब्रीडर से ही डॉग खरीदें.
  • प्योर ब्रीड डॉग लें, क्रॉस ब्रीड डॉग खतरनाक होते हैं.
  • क्लब सर्टिफिकेशन और माइक्रो चिप चेक करें, इससे पता चलता है कि उसकी फैमिली हिस्ट्री क्या है और वह इंसान के लिए सेफ है या नहीं.
  • वैक्सीनेशन का ध्यान रखें। प्रॉपर फूड दें, अंधेरे में डॉग को न रखें, सोशलाइज करें.
  • नगर निगम का सर्टिफिकेट लोग रखते नहीं पर रखना चाहिए.

क्या पिटबुल को पालने पर बैन है?

साल 2019 में चंडीगढ़ नगर निगम की मीटिंग में रोटवेईलर और पिटबुल जैसे पालतू डॉग की ब्रीड पर प्रतिबंध लगाने के लिए बहस तक हुई थी. इस पर नेशनल डॉग कॉन्फ्रेंस में भी चर्चा की गई थी. देश में किसी भी ब्रीड के डॉग को पालना बैन नहीं है, लेकिन कुछ ब्रीड को लेकर क्लब यह सलाह जरूर देता है कि इसे पालना सही नहीं. KCI पिटबुल को मान्यता नहीं देता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.