November 29, 2022, 6:39 am

The Hyde Park AOA: द हाइड पार्क सोसाइटी में 2-2 एओए बोर्ड का गठन, अब मेरा AOA और तेरा AOA

Written By: गली न्यूज

Published On: Sunday October 16, 2022

The Hyde Park AOA: द हाइड पार्क सोसाइटी में 2-2 एओए बोर्ड का गठन, अब मेरा AOA और तेरा AOA

The Hyde Park AOA: गौतमबुद्ध नगर के नोएडा स्थित सेक्टर 78 (Noida Sector 78) के द हाइड पार्क (The Hyde Park) सोसाइटी में लगभग एक ही समय पर दो नए हुए बोर्ड का गठन किया गया है। चौंकिए मत यही हकीकत है। लंबे समय से चली आ रही हुए चुनाव की रस्साकशी ने दो नए हुए हुए बोर्ड का गठन कर दिया है।

क्या है पूरा मामला ?

नोएडा के Sector-78 के द हाइड पर सोसाइटी में फिलहाल एक नहीं दो-दो AoA बोर्ड (The Hyde Park AOA) का गठन हुआ है। दोनों ही बोर्ड के अपने-अपने दावे और दलील है। दोनों ही बोर्ड खुद को सही और विरोधी खेमा को गलत बता रहा है।
https://gulynews.com को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक हाइड पार्क सोसाइटी (The Hyde Park) में शनिवार के दिन यानी 15 अक्टूबर को AOA बोर्ड के गठन हेतु चुनाव का आयोजन किया गया था। इस चुनाव में 15 रेजिडेंट्स ने हिस्सा लिया था। दावा किया जा रहा है कि करीब 400 लोगों ने वोट देकर 15 में से 9 रेजिडेंट्स को नए AoA बोर्ड के लिए चुन लिया।

दूसरी AOA बोर्ड में कौन-कौन ?

इस बोर्ड में दिनेश नेगी को प्रेसिडेंट, निलेश रावत को वाइस प्रेसिडेंट, अजय पांडे को सेक्रेटरी सुजीत कुमार को कोषाध्यक्ष जबकि वीरेन भारती, हेमराज चंदेल, सत्येंद्र पाल, सचिन कुमार और अमित गुप्ता को एग्जीक्यूटिव मेंबर्स चुना गया है।

हालांकि विरोधी खेमा का आरोप है कि इस चुनाव का आयोजन एक साजिश के तहत किया गया। 13 अक्टूबर यानी चुनाव की तारीख से ठीक 2 दिन पहले चुनाव की घोषणा की गई और ठीक 36 घंटे के भीतर चुनाव का आयोजन करके एक नई एओए बोर्ड का गठन कर लिया गया। आरोप है कि यह सब इतना तेजी से किया गया कि किसी को कोई खास मौका नहीं मिला।

लेकिन चौंकाने वाली बात यह है इस नई बोर्ड के गठन से ठीक 3 दिन पहले यानी 12 अक्टूबर को एक और इलेक्शन कमिटी ने भी एक AoA बोर्ड को मंजूरी दी।

पहली AOA बोर्ड में कौन-कौन ?

इस बोर्ड में पुष्पेंद्र प्रताप सिंह को अध्यक्ष, सुरेंद्र प्रताप सिंह को उपाध्यक्ष, नितेश कश्यप को सेक्रेटरी, गुलशन गिरधर को कोषाध्यक्ष, मुकेश सिंह, अतुल राज, जितेंद्र सलूजा, सत्यकाम शास्त्री और संजय कोहली को सदस्य बनाया गया है। खास बात यह है कि चुंकी 11 अक्टूबर तक इन्हीं 9 लोगों का नॉमिनेशंस इलेक्शंस कमेटी तक पहुंची थी यही वजह है कि इन सबों को निर्विरोध चुन लिया गया है। यानी कि यहां पर इलेक्शन नहीं सलेक्शन हुआ।

क्या है आरोप ?

अब जब दो AoA बोर्ड द हाइड पार्क सोसाइटी में है तो दोनों पक्ष एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं। दिनेश नेगी गुट का कहना है कि क्योंकि 4 अगस्त 2022 के अपने आदेश में डिप्टी रजिस्ट्रार ने चुनाव के लिए बनाई गई तमाम कार्यवाही को शून्य घोषित कर दिया था ऐसे में जिस चुनाव कमेटी ने 9 लोगों को निर्विरोध चुना है वह चुनाव कमेटी अपने आप में ही अवैध है।
वही पुष्पेंद्र प्रताप सिंह गुट का आरोप है कि 15 अक्टूबर को चुनाव में हिस्सा लेने वाले इन्हीं 9 लोगों ने पुराने AoA बोर्ड पर जल्द से जल्द निर्वाचन प्रक्रिया को संपन्न करने का दबाव बनाया था। बकायदा चिट्ठी लिखकर के अध्यक्ष को इस बारे में वार्निंग दी गई थी साथ ही साथ घनघोर विरोध करने की बात कही थी। लेकिन जब नॉमिनेशंस की बारी आई तो इन सभी लोगों ने साजिश के तहत अपने पैर पीछे खींच लिए।
https://gulynews.com को इस बारे में एक चिट्ठी और तस्वीर भी शेयर किया गया है।

दरअसल 16 अक्टूबर तक पूर्व AoA बोर्ड का कार्यकाल निर्धारित किया गया था। इस संबंध में डिप्टी रजिस्ट्रार की ओर से साफ तौर पर चिट्ठी भी आई थी साथ ही साथ बैंक में भी किसी भी तरह की लेन-देन पर रोक लगा दी गई थी। पुष्पेंद्र सिंह गुट का दावा है कि क्योंकि सोसाइटी के मेंटेनेंस में किसी तरह का व्यवधान ना पड़े और कर्मचारियों को समय से सैलरी मिले साथ ही साथ दैनिक व्यय की समस्या न हो यही कारण है कि 16 अक्टूबर से पहले बोर्ड का गठन किया गया।।
लेकिन अब जब सोसाइटी के अंदर दो-दो AOA बोर्ड का गठन किया जा चुका है तो कौन सा बोर्ड सच्चा है और कौन झूठा इसका फैसला तो डिप्टी रजिस्ट्रार के कार्यालय से ही हो पाएगा। जिस तरह की कार्यप्रणाली और गतिविधियां सोसाइटी के अंदर में दिख रही थी उससे यह साफ झलक रहा है AoA बोर्ड को लेकर समस्याएं अभी और बढ़ सकती हैं।

यह भी पढ़ें:-

google pay money earning tricks: google pay से ऐसे कमाये पैसे, कब मिलेगा कैसबेक जानें

Leave a Reply

Your email address will not be published.