December 9, 2022, 1:56 am

Sunshine Helios Noida: सोसाइटी के अंदर बाउंसरों की मारपीट, खींच-खींच कर पीटा। AOA पदाधिकारियों के खिलाफ केस दर्ज

Written By: गली न्यूज

Published On: Tuesday September 27, 2022

Sunshine Helios Noida: सोसाइटी के अंदर बाउंसरों की मारपीट, खींच-खींच कर पीटा। AOA पदाधिकारियों के खिलाफ केस दर्ज

Sunshine Helios Noida: नोएडा-ग्रेटर नोएडा के हाईराइज अपार्टमेंट्स में मेंटेनेंस हैंडओवर को लेकर अपार्टमेंट ऑनर एसोसिएशन और बिल्डर के बीच रस्साकसी लगातार जारी रहती है।  कई बार मेंटेनेंस को लेकर बिल्डर की ओर से तरह-तरह के दबाव डाले जाते हैं,  मारपीट के आरोप भी लगते हैं । लेकिन इस बार मामला अलग है इस बार वह अपार्टमेंट ओनर्स एसोसिएशन पर इसी तरह की मारपीट और लूटपाट के आरोप लगे हैं।

कहां का है ताजा मामला ? 

हैरान कर देने वाला ताजा मामला नोएडा के सेक्टर 78 ( Noida Sector 78) स्थित सनशाइन हेलिओस (Sunshine Helios Noida ) सोसाइटी की है। इस सोसाइटी की अपार्टमेंट्स ओनर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों के खिलाफ लूटपाट और मारपीट करने का मुकदमा दर्ज कराया गया है। खास बात यह है कि यह मुकदमा कोर्ट के आदेश के बाद दर्ज किया गया है। https://gulynews.com को एक्सक्लूसिव जानकारी मिली है कि सेक्टर 78 स्थित सनशाइन हेलिओस सोसाइटी की अपार्टमेंट ऑनर्स एसोसिएशन के पदाधिकारी और सदस्यों के खिलाफ नोएडा के सेक्टर 113 थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है।

किन लोगों के खिलाफ केस ?

अपार्टमेंट ऑनर एसोसिएशन के पदाधिकारी गुरविंदर सिंह सिद्धू, संजय राव, राहुल अग्रवाल, पंकज बाबा, मनीष कश्यप, विवेक माटा, आशीष पांडा, संजय कुमार  वाधवा, विनय बंसल और विश्वा लोचन समेत 10 लोगों पर केस दर्ज किया गया है। इन सभी के खिलाफ मेंटेनेंस ऑफिस में घुसकर लूटपाट और मारपीट करने के आरोप हैं।

https://gulynews.com से खास बात करते हुए सेक्टर 113 थाना  (Sector 113, police Station) के थानाध्यक्ष शरद कांत ने जानकारी दी है कि कोर्ट के आदेश के बाद इन सभी लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। इन लोगों पर इंडियन पेनल कोड यानी आईपीसी की धारा 394, 323, 506, 147 समेत अलग-अलग धाराओं में केस दर्ज किया गया है। इस मामले में विवेचना अधिकारी की भी नियुक्ति कर दी गई है और साक्ष्यों के आधार पर विवेचना की जा रही है।

कब का है मामला ?

दरअसल यह पूरा मामला 19 जून 2022 का है।  अपार्टमेंट ओनर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने वाले हेलियास मेंटेनेंस एंड सपोर्ट के एस्टेट मैनेजर अमित कुमार मिश्रा ने https://gulynews.com से बात करते हुए बताया कि 19 जून 2022 को अपार्टमेंट ओनर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने सोसाइटी के अंदर 50 से 60 बाउंसर बुलाए। यह सभी बाउंसर एसयूवी से अचानक सोसाइटी के अंदर दाखिल हुए और सोसाइटी में तैनात सिक्योरिटी गार्ड को मारपीट कर भगा दिया। इतना ही नहीं सोसाइटी में काम करने वाले बाकी लोग जैसे सफाई कर्मचारी, गार्डनर इन सब के साथ भी मारपीट की गई और इन्हें भगा दिया गया। बाद में इन बाउंसरों की मदद से अपार्टमेंट ओनर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने मेंटेनेंस कार्यालय पर कब्जा कर लिया । मेंटेनेंस के स्टाफ के साथ मारपीट की।  साथ ही करीब 600000 ( 6 लाख ) से ज्यादा रुपए लूट लिए।

क्या है बैकग्राफउंड ? 

दरअसल लूटपाट का यह आरोप अपने आप में बताता है कि अपार्टमेंट ओनर्स एसोसिएशन के पदाधिकारी किस तरह की हरकत में जुटे हैं। जानकारी मिली है यह पूरा मामला साल 2019 से ही शुरू हो गया था। 2019 में बिल्डर के खिलाफ केस दर्ज किया गया था। इस केस के जवाब में बिल्डर ने भी अपार्टमेंट ओनर्स एसोसिएशन के खिलाफ एक मुकदमा दर्ज कराया और आरोप लगाया कि यह एसोसिएशन गुपचुप तरीके से बनाई गई।
बाद में अक्टूबर 2019 में मेंटेनेंस के लिए हेलिओस मेंटेनेंस एंड सपोर्ट सर्विस की नियुक्ति की गई। यही मेंटेनेंस एजेंसी उसके बाद से लगातार सोसाइटी का मेंटेनेंस का काम देख रही है। साल 2021 में  बिल्डर के खिलाफ अपार्टमेंट ओनर्स एसोसिएशन एक आदेश लेकर आती है इस आदेश में बिल्डर को हैंडोवर देने के लिए कहा जाता है। लेकिन बिल्डर याचिकाओं का हवाला देकर के हैंडोवर देने से एक बार फिर बच जाता है। इसी मामले में दिसंबर 2021 में डिप्टी रजिस्ट्रार का एक अहम आदेश सामने आता है। डिप्टी रजिस्ट्रार की इस  आदेश में अपार्टमेंट ओनर्स एसोसिएशन को कपट पूर्ण बताया जाता है । लेकिन कोर्ट में लंबित मामलों का हवाला देकर के अपार्टमेंट ओनर्स एसोसिएशन डिप्टी रजिस्ट्रार को अपने फैसले वापस लेने के लिए मजबूर कर देती है। बाद में नोएडा अथॉरिटी और पुलिस के पास अपार्टमेंट्स ओनर्स एसोसिएशन के पदाधिकारी पहुंचते हैं और बिल्डर पर हैंड ओवर का दबाव बनाते।। बिल्डर का आरोप है कि फर्जी दस्तावेज बनाकर के अपार्टमेंट ओनर्स एसोसिएशन का गठन किया गया है और इस मामले में कोर्ट में सुनवाई जारी है।
इन सबके बीच 19 जून 2022 की वह तारीख आती है जब सोसाइटी के अंदर अचानक से 50 से 60 बाउंसर एंट्री करते हैं और बलपूर्वक मेंटेनेंस कर रही मेंटेनेंस एंड सपोर्ट सर्विसेज कर्मचारियों को मारपीट कर भगा देती है और वहां रखे रकम को लूट लेती है।
इस घटना के बाद एली ऑफ मेंटेनेंस एंड सपोर्ट सर्विस के स्टेट मैनेजर अमित कुमार मिश्रा थाना पहुंचते हैं और लिखित आवेदन देते हैं लेकिन जब सुनवाई नहीं होती इस मामले को लेकर कोर्ट में पहुंचते हैं। जिला कोर्ट में मामले की सुनवाई के बाद कोर्ट का आदेश आता है। जिसके बाद एसोसिएशन के पदाधिकारियों पर FIR दर्ज किया जाता है। अब आईपीसी के अलग-अलग धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। विवेचना अधिकारी की नियुक्ति हो गई। अब तमाम साक्ष्यों को देखकर पुलिस इस मामले की जांच करेगी और आगे की कार्यवाही करेगी।

मारपीट का वीडियो यहां देखें:- सोसाइटी में मारपीट का वीडियो 

Leave a Reply

Your email address will not be published.