February 1, 2023, 9:36 pm

Kim Jong un: सियोल के महाएटम बम से होगा सनकी का काम तमाम!

Written By: गली न्यूज

Published On: Tuesday January 17, 2023

Kim Jong un: सियोल के महाएटम बम से होगा सनकी का काम तमाम!

Kim Jong un: नॉर्थ कोरिया (North Korea) का सनकी तानाशाह किम जोंग उन (Kim Jong un) तबाही का दूसरा नाम है. किम जोंग उन (Kim Jong un) लगातार अपनी परमाणु ताकत बढ़ा रहा है, लेकिन अब किम जोंग की यह ताकत धरी की धरी रह सकती है. क्योंकि अब सनकी किम के चक्कर में साउथ कोरिया भी न्यूक्लियर बम बनाने के प्लान (South Korea plans to make nuclear bomb) में जुटा है. जानकारी के अनुसार किम जोंग उन के सनकपन को खत्म करने के लिए साउथ कोरिया ने न्यूक्लिर प्लान बनाया है. इसी प्लान के तहत साउथ कोरिया (South Korea) पहला परमाणु बम बनाने जा रहा है. बता दें कि, सियोल दक्षिण कोरिया की राजधानी है.

न्यूक्लियर बम बनाने में जुटा किम जोंग उन 

यह सभी जानते है कि नॉर्थ कोरिया का सनकी तानाशाह किम जोंग उन कब क्या कर बैठे, तमाम रोक के बावजूद सनकी किम अपनी ताकत बढ़ाने में लगातार जुटा हुआ है. फिर चाहे ये ताकत मिसाइल्स के एरिया में हो या फिर न्यूक्लियर बम के लिए हो. एक ओर तो किम जोंग जमीन से अंतरिक्ष तक मार करने वाली मिसाइलों की टेस्टिंग कर रहा है. वहीं, दूसरी ओर पावरफुल न्यूक्लियर बम बनाने में भी जुटा है.

साउथ कोरिया ने न्यूक्लियर बम बनाने का किया फैसला

किम जोंग उन (Kim Jong un) की कोशिश है कि वो ताकत बढ़ाकर दुनिया का पावरसेंटर बन जाए. किम जोंग उन के कारण अमेरिका समेत उसकी पड़ोसी देशों पर संकट के बादल मडराते रहते हैं. लेकिन अब नॉर्थ कोरिया को टक्कर देने के लिए साउथ कोरिया भी आक्रामक हो चुका है. किम जोंग उन को उसी की भाषा में जवाब देने के लिए साउथ कोरिया ने बड़ी तैयारी की है. नॉर्थ कोरिया के न्यूक्लियर बम के जवाब में अब साउथ कोरिया ने भी खुद का न्यूक्लियर बम बनाने का फैसला किया है. यानी अब साउथ कोरिया भी मिशन न्यूक्लियर में जुट गया है. सभी के मन में अब सवाल उठ रहा है कि अगर दक्षिण कोरिया भी खुद को परमाणु शक्ति से संपन्न राष्ट्र बना दे तो उसके क्या परिणाम देखने को मिल सकते हैं ?

नॉर्थ कोरिया लंबे समय से ताकत बढ़ाने में जुटा है. कभी इंटरकॉन्टिनेंटल मिसाइ से अमेरिका की नींद उड़ा देता है तो कभी तानाशाह शॉर्ट रेंज की मिसाइल टेस्ट कर साउथ कोरिया और जापान पर संकट ला देता है.

बीते दिसंबर के महीनों में ड्रोन्स के जरिए किम जोंग ने साउथ कोरिया की खूब जासूसी की थी, ड्रोन्स के जरिए ही साउथ कोरिया के एक-एक मूवमेंट पर नजरें गड़ाए रखा. नॉर्थ कोरिया की इस कार्रवाई के बाद एक बार फिर से दोनों देशों में टेंशन बढ़ गया है. नॉर्थ कोरिया की इन्हीं हिमाकत के बाद अब साउथ कोरिया भी पूरे फुल फॉर्म में है और किम को सबक सिखाने की ठान ली है.

जानकारी के अनुसार, साउथ कोरिया न्यूक्लियर कैपेबिलिटी (South Korea Nuclear) से लैस होने के लिए अपने एजेंडे पर काम कर रहा है. साउथ कोरिया की कोशिश है कि जल्दी से जल्दी न्यूक्लियर बम बनाकर नॉर्थ कोरिया को घुटने पर लाया जाए. दरअसल अबतक की घटनाओं को देखकर लगता है कि किम जोंग का मैसेज लाउड एंड क्लीयर है. वो अमेरिका और उसके सहयोगियों को एटमी हमले से ऑल आउट कर देगा. यही कारण है कि अब साउथ कोरिया भी नॉर्थ कोरिया की राह पर आगे बढ़ चला है.

किम जोंग उन (Kim Jong un) के एटमी अटैक वाली धमकी से अमेरिका के राष्ट्रपति बाइडेन के राष्ट्रीय में भी हलचल है. जापान और दक्षिण कोरिया, अमेरिका को खुफिया रिपोर्ट दे चुके हैं. दोनों देशों ने बाइडन को बता दिया है कि किम जोंग कभी भी अमेरिका पर हमला कर सकता है. यही वजह है कि अब व्हाइट हाउस ने नॉर्थ कोरिया को एटमी टेस्ट से रोकने के लिए उसके सहयोगी चीन और रूस को भी जानकारी दी है. लेकिन इसके बाद भी नॉर्थ कोरिया रुकने और थमने का नाम नहीं ले रहा है. नॉर्थ कोरिया की इसी हरकत ने साउथ कोरिया जैसे देशों को टेंशन में ला दिया है. इस टेंशन से मुक्ति के लिए साउथ कोरिया ने न्यूक्लियर प्लान का ब्लू प्रिंट तैयार कर लिया है.

ये भी पढ़ें-

Teacher-Student Love Story: ट्यूशन टीचर को नाबालिग स्टूडेंट से हुआ प्यार, दोनों हो गए फरार, लड़के के पिता ने पुलिस में लगाई मदद की गुहार

बताया जा रहा है कि अगर दक्षिण कोरिया परमाणु हथियार बनाना शुरू कर देगा तो वह महज 2 साल के अंदर 100 परमाणु हथियार बना सकता है. सबसे बड़ी बात यह है कि साउथ कोरिया के पास पैसा और तकनीक दोनों है. साथ ही साथ अब राजनीतिक प्रतिबद्धता भी दिखाई दे रही है. अगर साउथ कोरिया ने ठान ली है तो आने वाले दो साल में ही वो परमाणु शक्ति से संपन्न देश हो सकता है. अगर ऐसा हुआ तो वो इन न्यूक्लियर बम (nuclear bomb) के दम पर नॉर्थ कोरिया को भी डरा सकता है.

बीते साल नवंबर के महीने में दुनिया के सबसे शक्तिशाली इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल की टेस्टिंग के बाद नॉर्थ कोरिया का सनकी तानाशाह नए एजेंडे में जुटा है. किम की तैयारी बहुत बड़ी है. उसका मकसद दुनिया का सबसे शक्तिशाली एटम बम बनाना है. लेकिन सवाल है कि किम दुनिया का सबसे पावरफुल एटम बम बनाने की कोशिश में क्यों है. क्या है इसके पीछे का पूरा मकसद ? क्या किम केवल अमेरिका को तबाह करना चाहता है?

दरअसल, साउथ कोरिया के साथ उसकी दुश्मनी किसी से छिपी नहीं है. एटम बम के दम पर साउथ कोरिया को नॉर्थ कोरिया अपने साथ मिलाना चाहता है. मजबूत परमाणु ताकत के दबाव में नॉर्थ कोरिया की मंशा होगी कि साउथ कोरिया उसके सामने सरेंडर कर दे. किम के दिमाग में ये बात अच्छी तरह से घर कर चुका है कि अमेरिका और साउथ कोरिया मिलकर उसे तबाह कर सकते हैं. इतना ही नहीं उसे भी दोनों देश मिलकर निपटा सकते हैं. लिहाजा किम हर हाल में अपने दोनों दुश्मनों को पीछे करना चाहता है इसलिए वो सबसे बड़े न्यूक्लियर बम बनाने की कोशिश में है.

ये भी पढ़ें-

Babar Azam news: पाकिस्तान कप्तान बाबर आजम हनी ट्रैप में फंसे! पर्सनल वीडियो-फोटोज वायरल

बता दें कि, 18 नवंबर को किम जोंग उन के निर्देश पर नॉर्थ कोरिया ने अपने सबसे पावरफुल मिसाइल ह्वासोंग-17 की टेस्टिंग की थी. इस टेस्टिंग के बाद दावा किया गया था कि यह मिसाइल 17 हजार किलोमीटर की दूरी तय कर सकता है.. यानी ट्रिगर दबने के बाद बड़ी आसानी से अमेरिका के किसी भी बड़े शहर तक पहुंचने की क्षमता रखता है. इसी इंटरकॉन्टिनेंटल बैलेस्टिक मिसाइल की सफल टेस्टिंग के बाद किम जोंग ने नॉर्थ कोरिया के वॉर लैब में पावरफुल न्यूक्लियर बम बनाने के निर्देश दिए हैं. जिसके बाद से हर तरफ इस बात के चर्चा हैं.

साउथ कोरिया को पता है कि अगर किम और उसकी टीम इसमें कामयाब हो गई तो वो कभी भी साउथ कोरिया में तबाही ला सकता है. किम की इसी तबाही वाले प्लान से दो-दो हाथ करने के लिए अब साउथ कोरिया न्यूक्लियर बम बनाने की पहल में है.

कौन है सनकी तानाशाह किम जोंग उन ?

किम जोंग उन (Kim Jong un) का जन्म 8 जनवरी 1982 को हुआ था. किम 2011 से उत्तर कोरिया के तानाशाह है और साल 2012 से वर्कर्स पार्टी ऑफ कोरिया के अध्यक्ष हैं. वे किम इल सुंग के पोते है जोकि उत्तर कोरिया के पहले तानाशाह थे. किम इल सुंग ने 1948 से 1994 तक और उनके निधन के बाद उनके बेटे किम जोंग इल ने 1994 से 2011 तक उत्तर कोरिया पर राज किया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.