February 6, 2023, 5:54 am

Shraddha Murder Case : क्या श्रद्धा मर्डर केस की जांच में यहां हुई बड़ी लापरवाही, क्या इस वजह से दिल्ली पुलिस की बढ़ी चुनौती?

Written By: गली न्यूज

Published On: Monday November 28, 2022

Shraddha Murder Case : क्या श्रद्धा मर्डर केस की जांच में यहां हुई बड़ी लापरवाही, क्या इस वजह से दिल्ली पुलिस की बढ़ी चुनौती?

Shraddha Murder Case: दिल्ली पुलिस श्रद्धा हत्या मामले की जांच (Shraddha Murder Case) कर रही है. जांच में पुलिस को कई ऐसी बातें पता चली है जिसपर सवाल उठ रहे हैं कि क्या वसई की माणिकपुर पुलिस ने श्रद्धा के मिसिंग केस की जांच में लापरवाही बरती?

आफताब ने श्रद्धा का मोबाइल खाड़ी में फेंका

दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने बताया कि श्रद्धा की मिसिंग कंप्लेंट माणिकपुर पुलिस को 12 अक्टूबर को मिली थी, जिसके बाद पुलिस ने उसकी तलाश के लिए श्रद्धा के लिव-इन पार्टनर आफताब पूनावाला से 20 अक्टूबर को संपर्क किया और उसे उसका बयान दर्ज करवाने के लिए 23 अक्टूबर को वसई बुलाया. सूत्रों का दावा है कि वसई पुलिस के इसी फोन कॉल के बाद आफताब एकदम सतर्क हो गया था और उसने सबूतों को मिटाना शुरू कर दिया. जब वह दिल्ली से वसई गया था तब उसने 20 अक्टूबर से 23 अक्टूबर के बीच में श्रद्धा का मोबाइल भायंदर की खाड़ी में फेंक दिया ताकि इसे कोई ढूंढ ही न पाए.

पुलिस को क्या शक?

पुलिस को शक है आफताब को डर था कि अगर श्रद्धा का मोबाइल फोन पुलिस के हाथ लगा तो कई सारे राज खुल सकते हैं. पुलिस अब श्रद्धा का व्हाट्सएप अकाउंट दोबारा से एक्टिवेट कर रही है ताकि पुराने चैट, वीडियो या फोटो रिकवर किया जा सके. पुलिस सूत्रों ने यह भी खुलासा किया है टेकनिकल एविडेंस जमा करने की कोशिश की जा रही है और इसी दौरान यह भी पता चला है कि 20 अक्टूबर से लेकर 23 अक्टूबर के बीच श्रद्धा का फोन एक्टिव था.

यह भी पढ़ें:-

Lucknow Student Death: स्‍कूल के बाहर छात्रों के बीच हुई मारपीट में एक की मौत, तीन स्‍टूडेंट पर FIR

 

क्या किया जा रहा दावा

दिल्ली पुलिस का ऐसा दावा है कि माणिकपुर पुलिस ने जब आफताब का बयान दर्ज किया उस समय उसका मोबाइल स्कैन नहीं किया. ये करना चाहिए था और ऐसा इसीलिए क्यूंकि श्रद्धा के पिता ने मिसिंग की शिकायत में आफताब पर संदेह जताया था. आफताब ने मई में जब श्रद्धा की हत्या कर दी उसके बाद ही उसने उसके मोबाइल के सिम कार्ड को नष्ट कर दिया था पर मोबाइल को WIFI से कनेक्ट कर श्रद्धा के सोशल मीडिया अकाउंट का इस्तेमाल करता था.

आफताब ने श्रद्धा का मोबाइल गायब कर दिया और अपने मोबाइल के पूरे डेटा को डिलीट कर दिया था इसके अलावा उसने और सतर्कता दिखाते हुए मोबाइल के फ़ैक्ट्री रिसेट कर दिया था ताकि मोबाइल के डेटा को रिकवर करना लगभग असंभव हो जाए. दिल्ली पुलिस सूत्रों के मुताबिक आफताब हत्या करने के बाद मुंबई में श्रद्धा के कुछ दोस्तों से भी मिला था और श्रद्धा द्वारा रिलेशनशिप तोड़ने की कहानी उन्हें भी सुनाई थी. ताकि लोगों को शक न हो.

इस मामले में बड़ी खबर

दिल्ली पुलिस सूत्रों ने बताया, उन्हें शक है कि हो सकता है इस मामले में एक और आरोपी हो सकता है जिसने श्रद्धा की हत्या से लेकर सबूतों की मिटाने में मदत की हो सकती है. पुलिस और जानकारी इकट्ठा करने में लिए आफताब के परिवार वालों और उसके करीबियों का बयान दर्ज कर रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.