December 9, 2022, 12:47 am

Ashwariyam Society Plaster Fall: 21वीं मंजिल से गिरा प्लास्टर, बाल-बाल बची जान। हालात कब सुधरेंगे ?

Written By: गली न्यूज

Published On: Saturday September 24, 2022

Ashwariyam Society Plaster Fall: 21वीं मंजिल से गिरा प्लास्टर, बाल-बाल बची जान। हालात कब सुधरेंगे ?

Ashwariyam Society Plaster Fall:  हाईराइज अपार्टमेंट में अव्यवस्था रेजिडेंटेस को मुंह चिढ़ा रही है। खुशी से रहने के लिए मेंटनेंस चार्ज भले ही मेंटेनेंस एजेंसी वसूलती है लेकिन चौंकाने वाली बात यह है कि इतनी बड़ी रकम मेंटेनेंस के तौर पर देने के बाद भी हालात सुधर नहीं रहे हैं और लोगों की जान खतरे में है। ऐसा ही एक हैरान कर देने वाला मामला ग्रेटर नोएडा के ऐश्वर्यम, गौर सिटी सोसाइटी (Greater Noida Ashwariyam Society) से आई है।

क्या है पूरा मामला 

ग्रेटर नोएडा के गौर सिटी में बने गौर ऐश्वर्यम सोसाइटी में उस वक्त अफरा-तफरी मच गई जब प्लास्टर (Ashwariyam Society Plaster Fall) का एक बड़ा हिस्सा एक फ्लैट में जा गिरा। https://gulynews.com को मिली जानकारी के मुताबिक ऐश्वर्यम  सोसाइटी के (Ashwariyam Society) डी टावर(D Tower) की छत से प्लास्टर का बड़ा हिस्सा 21वी मंजिल से टूटकर (Plaster Fall) फ्लैट की बालकनी में जा गिरा. ये प्लास्टर नौंवी मंजिल पर भरभरा कर गिरा. जिसके बाद फ्लैट पर रह रहे लोग डर गए. प्लास्टर के भरभरा कर गिरने के कारण हडकंप मच गया। गनीमत ये रही कि इस दौरान बालकनी में मौजूद नहीं था. नहीं तो कोई भी बड़ा हादसा हो सकता था. फ्लैट के लोगों का कहना है कि हमारी बाल बाल जान बची.

बिल्डर पर उठे सवाल 

ऐश्वर्यम सोसाइटी (Ashwariyam Society) में हादसा होने के बाद से सोसाइटी में रहने वाले लोग कंस्ट्रक्शन क्वालिटी पर सवाल खड़े कर रहे हैं। रेजिडेंट्स सुरक्षा का मुद्दा उठाकर बिल्डर पर सवाल उठा रहे हैं. साथ ही लोगों का कहना है की हम सोसाइटी में रहने के लिए तमाम पैसे खर्च करते हैं. लेकीन उसके मुताबिक उन्हें सुविधा नहीं मिल पा रहीं है. सोसाइटी में रहने के लिए सब लोग बहुत पैसा खर्च करते हैं. ताकि उन्हें रहने में कोई असुविधा ना हो. लेकिन लोगों के साथ ऐसा नहीं हो रहा है . जिसे वो मायूस भी है और परेशान भी.

यह भी पढ़ें:-

Supernova Fire : सुपरटेक के सुपरनोवा बिल्डिंग में लगी आग, दूर से नजर आया धुआं

Leave a Reply

Your email address will not be published.