November 29, 2022, 7:19 am

Monkeypox In UP: यूपी में मंकीपॉक्स से अबतक राहत। लेकिन इस बड़ी आफत से बचना जरूरी है ।

Written By: गली न्यूज

Published On: Thursday July 28, 2022

Monkeypox In UP: यूपी में मंकीपॉक्स से अबतक राहत। लेकिन इस बड़ी आफत से बचना जरूरी है ।

Monkeypox In UP: दुनियाभर के 75 देशों में मंकीपॉक्स ने कहर बरपा रखा है। कोरोना के बाद एक बार फिर से लोग अब मंकीपॉक्स के खतरे से डरे हुए हैं। WHO ने भी मंकीपॉक्स को लेकर मेडिकल इमरजेंसी घोषित कर दिया है। जिसके बाद से हर तरफ सतर्कता बरती जा रही है।

देश में कितने केस ?

भारत की बात करें तो फिलहाल मंकीपॉक्स के अबततक केस सीमित संख्या में है। https://gulynews.com को मिली जानकारी के मुताबिक देशभर में फिलहाल 5 मंकीपॉक्स के केस की पुष्टि हुई है। राहत की बात यह है कि उत्तर प्रदेश (Monkeypox In UP) में फिलहाल मंकीपॉक्स के एक भी केस सामने नहीं आए हैं। दिल्ली से सटे नोएडा में कुछ लोगों में मंकीपॉक्स के लक्षण पाए गए थे लेकिन लैब की जांच में उन सैंपल में भी मंकीपॉक्स की पुष्टि नहीं हुई है।

यह भी पढ़ें:-

MS Dhoni-Supreme Court: 150 करोड़ रुपये के मामले में एमएस धोनी को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस। कितने मुश्किल में फंसे हैं माही ?

कहां-कहां संदिग्ध ?

उत्तर प्रदेश के औरैया, फिरोजाबाद (Firozabad) और नोएडा (Noida) मं मंकीपॉक्स के संदिग्ध केस सामने आए थे। लेकिन अच्छी बात यह है कि इन मरीजों के लिए गए मंकीपॉक्स सैंपल जांच में निगेटिव पाए गए हैं। इस बीच गाज़ियाबाद में भी मंकीपॉक्स के दो संदिग्ध सामने आए हैं। जिनके रिपोर्ट का फिलहाल इंतजार है।

क्या है तैयारी ?

भले ही यूपी में अबतक मंकीपॉक्स का कोई केस सामने नहीं आया हो। लेकिन मंकीपॉक्स से निपटने की तैयारी युद्धस्तर पर जारी है। सरकार हाई अलर्ट पर है और पूरी सतर्कता बरती जा रही है। उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री और स्वास्थ्य विभाग का जिम्मा संभाल रहे बृजेश पाठक ने https://gulynews.com को जानकारी दी है कि मंकीपॉक्स से निपटने के लिए अस्पतालों को तैयार रहने के लिए कहा गया है। कोविड-19 के सभी अस्पतालों में 10-10 बेड आरक्षित करने के लिए कहा गया है। ताकि इस बीमारी से निपटा जा सके।

जिस तरह से मंकीपॉक्स के केस बढ़ रहे हैं ऐसे में समझना जरूरी है कि मंकीपॉक्स क्या है

मंकीपॉक्स क्या है ?
  • डबल-स्ट्रैंडेड डीएनए वायरस है
  • चेचक के जैसा वायरल संक्रमण है
  • 1958 में बंदरों में सबसे पहले मिला
  • संक्रमण का पहला मामला 1970 में आया
  • व्यक्ति या जानवर के संपर्क में आने से होता है

यह जानना भी जरूरी है कि मंकीपॉक्स के मरीजों में किस तरह के लक्षण दिखाई पड़ते हैं।

मंकीपॉक्स के लक्षण क्या हैं ? 
  • बुखार
  • तेज सिरदर्द
  • लिम्फ नोड्स की सूजन
  • पीठ दर्द
  • मांसपेशियों में दर्द
  • एनर्जी की कमी

यह भी पढ़ें:-

Commonwealth Games 2022: खेल की शुरुआत से पहले भारत को बड़ा झटका। नहीं खेलेंगे ‘गोल्ड मेडल ब्वॉय’

Leave a Reply

Your email address will not be published.