December 8, 2022, 3:03 pm

सावन का महीना है और महाकाल बुला रहे हैं कहकर उसने की खुदकुशी, ग्राइंडर से काटा गला, सुसाइड नोट में ‘महाकाल’

Written By: गली न्यूज

Published On: Saturday July 16, 2022

सावन का महीना है और महाकाल बुला रहे हैं कहकर उसने की खुदकुशी, ग्राइंडर से काटा गला, सुसाइड नोट में ‘महाकाल’

Hardoi man commits suicide: यूपी के हरदोई से बेहद हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है। यहां एक शख्स ने सुसाइड नोट में महाकाल का नाम लिखकर आत्महत्या कर ली। मृतक ने लिखा- ‘सावन का महीना है महाकाल के यहां जाना चाहिए और बुला रहे हैं, हमारी मृत्यु में किसी का भी हाथ नहीं है परिवार वाले बेगुनाह हैं जय जय श्री महाकाल’

क्या है पूरा मामला ?

हरदोई के रहने वाले उस शख्स ने कमरे का दरवाजा बंद कर ग्राइंडर से खुद का गला काटकर खुदकुशी (hardoi man commits suicide) कर ली. जब कमरे का दरवाजा तोड़ा गया तो सभी हैरान रह गए. बरामद सुसाइड नोट में मृतक ने लिखा- ‘सावन का महीना है महाकाल के यहां जाना चाहिए और बुला रहे हैं, हमारी मृत्यु में किसी का भी हाथ नहीं है परिवार वाले बेगुनाह हैं जय जय श्री महाकाल’. सुसाइड की वजह जानकर पुलिस भी हैरान रह गई. हालांकि पुलिस ने मृतक के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और का आगे की कार्रवाई में जुट गई है.

महाकाल के नाम से सुसाइड किसने की ?

हरदोई जिले के हरीपुरवा गांव में 50 वर्षीय संजय द्विवेदी ने अपने घर के अंदर कमरे का दरवाजा बंद कर ड्रिल मशीन यानी ग्राइंडर से खुद का गला काटकर आत्महत्या कर ली. घर मे पत्नी के दरवाजा खटखटाने के बाद भी काफी देर तक जब दरवाजा नहीं खुला तो पत्नी ने बेटे अभिषेक,अनुज और हिमांशु को सूचना दी, जिसके बाद मौके पर पुलिस को बुलाया गया और कमरे का दरवाजा तोड़ा गया. मृतक ने गला काटकर खुदकुशी कर ली थी और आत्महत्या को लेकर एक सुसाइड नोट भी लिखा था. सुसाइड नोट में मृतक ने मौत की वजह जो लिखी उसने सभी को हैरान कर दिया.

पढ़ें: यूपी: NTPC दादरी परिसर में ही मिला DGM का शव, आत्महत्या की आशंका

मृतक संजय कुमार द्विवेदी ने सुसाइड नोट में लिखा- ‘3200 रुपए प्रमोद की दुकान पर जमा है ले लेना संजय, सावन का महीना महाकाल के यहां जाना चाहिए और बुला रहे हैं, हमारी मृत्यु में किसी का भी हाथ नहीं है और हमारे परिवार वाले बेगुनाह हैं,आशा करते हैं कि आप लोग समझदार हैं, हो सके तो हमें माफ करना जय जय श्री महाकाल की जय’.

संजय एक ट्रांसपोर्ट कंपनी में काम करते थे, लेकिन पिछले 2 साल से वह काम छोड़ कर घर पर ही थे. संजय अपने घर में छत पर मंदिर बना कर पूजा पाठ किया करते थे. परिजनों के मुताबिक संजय द्विवेदी भगवान भोलेनाथ के पुजारी थे और हर साल कांवड़ भी ले जाते थे. संजय के परिवार में पत्नी तीन बेटे और एक बेटी है.

यह भी पढ़ें:-

Fake International Call Center in Noida: 170 करोड़ की ठगी, 10 गिरफ्तार। STF ने किया पर्दाफाश

Leave a Reply

Your email address will not be published.